भाजपा नेता का टिकैत पर बड़ा आरोप, लखीमपुर में मॉब लिंचिंग को सही नहीं ठहराया होता तो सिंघु बॉर्डर पर नहीं होती हत्या

पुनः संशोधित शुक्रवार, 15 अक्टूबर 2021 (13:15 IST)
नई दिल्ली। भाजपा आईटी सेल के प्रमुख ने सिंघु बॉर्डर पर किसानों के मंच के पास हुई हत्या के मामले में किसान नेता पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने किसान नेता राकेश टिकैत के एक बयान का हवाला देते हुए उन्हें दोषी ठहराया।
अमित मालवीय ने ट्वीट कर कहा कि बलात्कार, हत्या, वैश्यावृत्ति, हिंसा और अराजकता... किसान आंदोलन के नाम पर यह सब हुआ है। अब हरियाणा के कुंडली बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या... आखिर हो क्या रहा है? किसान आंदोलन के नाम पर यह अराजकता करने वाले ये लोग कौन हैं जो किसानों को बदनाम कर रहे हैं?
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि अगर राकेश टिकैत ने में हुई मॉब लिंचिंग को सही नहीं ठहराया होता तो सिंघु बॉर्डर पर एक युवक की हत्या नहीं हुई होती। किसानों के नाम पर इन विरोध प्रदर्शनों के पीछे की अराजकतावादियों को बेनकाब करने की जरूरत है।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा में सोनीपत जिले के कुंडली में किसानों के प्रदर्शन स्थल के पास शुक्रवार को एक अज्ञात व्यक्ति का शव मिला और शव का एक हाथ कटा हुआ था। पुलिस ने बताया कि मृतक की आयु 35 वर्ष के आसपास होगी और शव सिंघू बार्डर के पास प्रदर्शन स्थल के निकट बैरिकैड से बंधा हुआ मिला।
कुंडली पुलिस थाने को सुबह पांच बजे सूचना मिली कि किसानों के प्रदर्शन स्थल के पास एक शव मिला है। मृतक ने केवल पतलून पहन रखी थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सोनीपत सिविल अस्पताल में भेजा गया है।



और भी पढ़ें :