आर्यन की वीडियो कॉल पर शाहरुख-गौरी से बात, किंग खान ने भेजा 4500 रुपए का मनीऑर्डर

aryan khan
Last Updated: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 (00:32 IST)
मुंबई। एक क्रूज जहाज से मादक पदार्थों की कथित जब्ती के मामले में मध्य मुंबई की ऑर्थर रोड जेल में बंद बॉलीवुड अभिनेता के बेटे खान ने जेल के अंदर से एक के जरिए अपने माता-पिता से बात की है।
एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि आर्यन को उसके पिता द्वारा भेजे गए मनीऑर्डर के माध्यम से 4,500 रुपए भी मिले।
नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने आर्यन (23) को तीन अक्टूबर को मुंबई तट से क्रूज जहाज से गिरफ्तार किया था।

उन्हें कम से कम 20 अक्टूबर तक जेल में रहना होगा, क्योंकि उस दिन एक विशेष अदालत उनकी और दो अन्य की जमानत याचिकाओं पर अपना आदेश देगी। वह मामले में गिरफ्तार 5 अन्य लोगों के साथ में बंद है।
जेल अधिकारी ने कहा कि चूंकि कोविड-19 मानदंडों के कारण कोई भी कैदी अपने परिवार के सदस्यों से मुलाकात नहीं कर सकता है, इसलिए सभी विचाराधीन कैदियों को सप्ताह में एक या दो बार वीडियो कॉल के माध्यम से अपने परिजनों से बात करने की अनुमति है। इसी के तहत आर्यन खान को अपने पिता शाहरुख खान और मां गौरी खान से बात करने की अनुमति दी गई थी।

उन्होंने कहा कि यह कॉल दो-तीन दिन पहले की गई थी। उन्होंने कहा कि आर्यन को जेल के अंदर बना हुआ खाना दिया जा रहा है और उन्हें बाहर का खाना खाने की इजाजत नहीं है। उन्होंने कहा कि भोजन अच्छी गुणवत्ता का है और आवश्यक मानकों के अनुसार परोसा जाता है। अधिकारी ने कहा कि जेल परिसर के अंदर एक कैंटीन की सुविधा है और वह आवश्यक चीजें खरीद सकते हैं।
अधिकारी ने कहा कि उनके पिता शाहरुख खान ने उन्हें 4500 रुपए का मनीऑर्डर भेजा है, जो उन्हें सोमवार को मिला। उन्होंने कहा कि आर्यन को एक पहचान संख्या दी गई है जो जेल अधिकारियों द्वारा विचाराधीन कैदियों को जेल में बंद रहने के दौरान दी जाती है।

एक अन्य अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा था कि मामले में गिरफ्तार किए गए आर्यन और 5 अन्य लोगों को यहां आर्थर रोड जेल की सामान्य बैरक में स्थानांतरित कर दिया गया है क्योंकि उनके पृथक-वास में रहने की अवधि समाप्त हो गई है।
गौरतलब है कि जहाज पर एक रेव पार्टी होने के बारे में एक गोपनीय सूचना पर एनसीबी की एक टीम ने दो अक्टूबर की शाम को गोवा जाने वाले कॉर्डेलिया क्रूज पर छापा मारा था और मादक पदार्थ को कथित तौर पर जब्त कर लिया था तथा बाद में गिरफ्तारियां भी कीं।




और भी पढ़ें :