आर्यन खान बचे, NCB अधिकारी समीर वानखेड़े फंसे, केन्द्र ने दिए कार्रवाई के आदेश

Last Updated: शुक्रवार, 27 मई 2022 (23:51 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने वित्त मंत्रालय से स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (NCB) के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ क्रूज जहाज से मादक द्रव्य की बरामदगी मामले की कथित तौर पर लचर जांच करने को लेकर कार्रवाई करने को कहा है। इस मामले में शाहरुख खान के बेटे की गिरफ्तार हुई थी, जिन्हें ब्यूरो ने क्लीन चिट दे दी है।


आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक कथित तौर पर फर्जी जाति प्रमाण-पत्र देने के मामले में भी वानखेड़े के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा रही है। अक्टूबर 2021 में क्रूज जहाज से मादक द्रव्य की बरामदगी मामले में शुक्रवार को आर्यन खान को स्वापक नियंत्रण ब्यूरो ने क्लीन चिट दे दी।

वानखेड़े भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी हैं और उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए वित्त मंत्रालय नोडल प्राधिकरण है। सूत्रों ने कहा कि सरकार ने सक्षम प्राधिकारी से क्रूज जहाज से मादक द्रव्य की बरामदगी मामले में कथित लचर जांच के लिए वानखेड़े के खिलाफ उचित कार्रवाई करने को कहा है।
वानखेड़े तब एनसीबी के मुंबई क्षेत्रीय निदेशक थे और उन्होंने एक क्रूज जहाज पर मादक द्रव्यों को लेकर की गई छापेमारी के बाद प्रारंभिक जांच का जिम्मा संभाला था। आर्यन खान को इस मामले में पिछले साल 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था।

बंबई उच्च न्यायालय ने 28 अप्रैल को आर्यन को जमानत देने के दौरान एनसीबी की दलील को खारिज करते हुए कहा था कि वह इतने गंभीर आरोपों पर सिर्फ व्हाट्सऐप संदेशों पर भरोसा नहीं कर सकती है।
एनसीबी मुख्यालय द्वारा पिछले साल छह नवंबर को वानखेड़े को जांच से हटा दिया गया था और मामले को मुंबई से दिल्ली स्थित एसआईटी को स्थानांतरित कर दिया था, जिसका गठन उसके उपनिदेशक (अभियान) संजय कुमार सिंह के तहत किया गया था।

मुंबई की एक अदालत में आरोपपत्र दाखिल करने वाले एनसीबी के अधिकारियों ने कहा कि आर्यन और 5 अन्य के नाम 'पर्याप्त सबूतों की कमी' के कारण नहीं हैं।
एनसीबी के बयान के बाद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के कार्यालय ने ट्वीट किया कि आर्यन खान और 5 अन्य को अब क्लीन चिट मिल गई। क्या एनसीबी समीर वानखेड़े, उनकी टीम और निजी सेना के खिलाफ कार्रवाई करेगी? या वह दोषियों को बचाएगी? खबरों के मुताबिक, वानखेड़े फिलहाल मुंबई में राजस्व आसूचना निदेशालय (DRI) में तैनात हैं।(भाषा)



और भी पढ़ें :