कर्नाटक में Omicron के 2 मामले, 1 दक्षिण अफ्रीकी और एक डॉक्टर, 8 और पॉजिटिव

पुनः संशोधित शुक्रवार, 3 दिसंबर 2021 (00:04 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरु। सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि राज्य में सामने आए (Coronavirus) के नए स्वरूप (Omicron) के दो मामलों में एक दक्षिण अफ्रीकी नागरिक हैं, जबकि दूसरा स्थानीय व्यक्ति है, जो एक चिकित्सक है और उसने विदेश यात्रा नहीं की थी।

चिकित्सक के संपर्क में आए 8 लोगों की कोविड-19 जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और उनके नमूने जीनोमिक अनुक्रमण के लिए भेजे गए हैं। अधिकारियों के मुताबिक बेंगलुरु शहर में जांच में पॉजिटिव पाए गए दोनों मरीजों को कोविड की दो खुराक लग चुकी थी।

स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने कहा कि हम पिछले दो-तीन दिनों की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। आज केंद्र ने आधिकारिक रूप से कहा कि जो नमूने हमने जीनोमिक अनुक्रमण के लिए भेजे थे, उनमें नए स्वरूप (ओमीक्रोन) की पुष्टि हुई है। इस तरह देश में ओमिक्रोन के पहले मामलों का कर्नाटक में पता चला है। यह साबित करता है कि हमारे द्वारा तत्परता से की जा रही जांच ने तेजी से मामले का पता लगाने में मदद की।
चिंता की बात नहीं : उन्होंने कहा कि चिंता करने की कोई बात नहीं है और लोगों से अनिवार्य रूप से मास्क पहनने, टीके की दोनों खुराक यथाशीघ्र लगवाने और बंद कमरे में होने वाले बड़े आयोजन में अनावश्यक रूप से शामिल होने से बचने को कहा।

उन्होंने कहा कि यह वैरिएंट कैसे फैलता है हम अभी नहीं कह सकते। लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं है क्योंकि अब तक पहचान किए गए सभी 6 मामलों में कोई बड़ी स्वास्थ्य समस्या नहीं है। लक्षण हल्के हैं।
इससे पहले, बृहत बेंगलुरु महानगर पालिका (बीबीएमपी) के मुख्य आयुक्त गौरव गुप्ता ने कहा कि पहला मामला 66 वर्षीय व्यक्ति के संक्रमित होने का है जो दक्षिण अफ्रीकी नागरिक है।

उन्होंने बताया कि वह 20 नवंबर को यहां (बेंगलुरु) आया था, उसके नमूने जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट आज आई और उसमें उसके ओमीक्रोन से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।
उन्होंने बताया कि इस व्यक्ति को एक होटल में पृथक रखा गया था और बाद में एक अन्य प्रयोगशाला में अलग से जांच की गई, जिस दौरान उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई। वह 27 नवंबर को देश से दुबई के लिए रवाना हो गया।

मुख्य आयुक्त ने बताया कि उसके सीधे संपर्क में आए 24 लोग और परोक्ष रूप से सपंर्क में 240 लोगों के नमूनों की जांच निगेटिव आई है, लेकिन उन लोगों को निगरानी में रखा गया है।

दूसरे व्यक्ति ने नहीं की विदेश यात्रा : उन्होंने दूसरे मामले के बारे में कहा कि कृपया गौर करें कि दूसरे व्यक्ति ने कोई (विदेश) यात्रा नहीं की थी इसलिए और अधिक लोगों के संक्रमित होने की गुंजाइश है। इस नए स्वरूप के खिलाफ सतर्क रहने की जरूरत है।
यह दूसरा मरीज, एक चिकित्सक बताया जा रहा है। उसके शरीर में दर्द की शिकायत होने और अन्य लक्षणों के बाद आरटी-पीसीआर जांच की गई थी।

गुप्ता ने बताया कि उसके प्रत्यक्ष संपर्क में आए 13 लोगों और अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क में आए 205 लोगों की जांच की गई। उन्होंने बताया कि प्रत्यक्ष रूप से संपर्क में आए तीन लोग और अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क में आए 2 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें पृथक रखा गया है और उनके नमूने सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं। उन्होंने दूसरे मरीज के बारे में बताया कि वह बेंगलुरु से है।
मुख्य आयुक्त ने कहा कि कम सीटी वैल्यू वाले पॉजिटिव मामलों को जीनोम अनुक्रमण के लिए भेजा रहा है तथा उनके नतीजे करीब एक हफ्ते में आएंगे।

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई के शुक्रवार को एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने की संभावना है ताकि आगे की कार्रवाई और एहतियाती उपायों के बारे में फैसला किया जा सके। वह आज दिल्ली की यात्रा पर थे। मंत्री ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री से इस बारे में बात की, जो अभी दिल्ली में हैं। हवाई अड्डों पर स्क्रीनिंग बढ़ाने की जरूरत नहीं है।



और भी पढ़ें :