बाल दिवस: बच्चों से मिलीं राष्ट्रपति

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शनिवार, 14 नवंबर 2009 (20:00 IST)
देश के विभिन्न हिस्सों से आए 450 स्कूली बच्चों के लिए के मौके पर परिसर में से करना एक यादगार मौका था।


आंध्र प्रदेश के मेहबूब नगर हरियाणा के सोनीपत और बहादुरगढ़ व राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के कई स्कूलों से बच्चे अपने शिक्षकों के साथ यहाँ आए हुए थे।

भारत के पहले प्रधानमंत्री चाचा नेहरू की तरह दिख रहा तीन वर्षीय वैभव राष्ट्रपति पाटिल से मिलकर बेहद खुश था। राष्ट्रपति ने उसे चॉकलेट खाने के लिए दिया। वह जल्द ही दूसरे बच्चों से घुलमिल गया।

बच्चों से बातचीत करते हुए पाटिल ने कहा ‘एक सफल व्यक्ति के लिए शिक्षा उसकी शक्ति है। भारत के लोग दुनिया भर में अपनी ईमानदारी और मेहनत के लिए जाने जाते हैं। आप सभी को जिंदगी में तरक्की करने के लिए कोशिश करनी चाहिए।’


बच्चों ने राष्ट्रपति पाटिल को फूलों का गुलदस्ता, जलवायु परिवर्तन और पर्यावरण से जुड़े विषयों पर बनाए गए चित्र उपहार में दिए।
दिल्ली के सातवीं कक्षा के छात्र मृणाल शर्मा ने कहा‘मैंने राष्ट्रपति को अच्छे स्वास्थ्य की शुभकामना दी। राष्ट्रपति भवन मुझे बहुत अच्छा लगा।’इस अवसर पर बच्चों को राष्ट्रपति भवन की सैर कराई गई।(भाषा)



और भी पढ़ें :