विश्व फोटोग्राफी दिवस : भारत के 5 बेस्ट फोटोजेनिक प्लेस

darjeeling
हर साल 19 अगस्त को पूरी दुनिया में 'वर्ल्ड फोटोग्राफी डे' 'विश्व फोटोग्राफी दिवस' मनाया जाता है। यह दिवस उन लोगों को समर्पित है जिन लोगों को फोटोग्राफी का शौक है। अपने इस शौक के लिए वे देश दुनिया में घूमते रहते हैं। आओ जानते हैं के बारे में संक्षिप्त जानकारी जिनके आसपास है फोटो खिंचने के हजारों स्पॉट।


1. वाराणसी : दो नदियों 'वरुणा' और 'असि' के मध्य बसे होने के कारण इसका नाम 'वाराणसी' पड़ा। यह बहुत ही सुंदर नगर है जहां पर फोटोग्राफी के लिए आपको बहुत सारी स्थान मिलेंगी। यहां गंगा नदी के तट से उसे पार का नजारा बहुत ही शानदार नजर आता है।

2. दूधसागर झरना : यह झरना भारतीय राज्य गोवा के पश्‍चिमी मंडोवी नदी से निकलता है जो कि पश्चिमी घाट के पहाड़ों के ऊपर से गिरता है। यह लगभग 320 मीटर ऊंचा है और इस झरने के पास ही भगवान महावीर अभ्यारण भी मौजूद है। यह झरना गोआ की राजधानी पणजी से 60 कीलोमीटर दूर कर्नाटक और गोवा राज्य के बॉर्डर पर मौजूद है। यहां आप जाएंगे तो आपको हजारों ऐसे स्थान नजर आएंगे कि जिन्हें आप अपने कैमरे में कैद करना चाहेंगे।
3. खरदोंग ला पास : हिमालय का एक प्रमुख दार्रा खारदोंग ला दर्रा है। यहां की सड़क को दुनिया की सबसे ऊंचाई पर स्थित सड़क माना जाता है। समुद्र तल से 5359 मीटर के ऊंचाई पर स्थित है यह दर्रा। यह भारतीय राज्य लद्दाख क्षेत्र में पड़ता हैं। खारदोंग ला दर्रा की संकीर्ण सड़क के एक किनारे विशालकाय पहाड़ है तो दूसरी तरफ गहरी खाई है। यहां के पहाड़, सड़क, पेड़ और घाटियों को देखकर आपका कैमरा मचल जाएगा।
4. भेड़ाघाट : यह स्थान मध्यप्रदेश के जबलपुर के पास में है। यहां के वाटरफॉल को धुआंधार जल प्रपात कहते हैं जो लगभग 10 मीटर की ऊंचाई से नीचे गिरता है। सफेद संगमरमर के दो पहाड़ों के के बीच नर्मदा नदी बहती है। नर्मदा में नौका-विहार करते वक्त करने का रोमांच ही कुछ और है।

5. दार्जिलिंग : कभी सिक्किम का हिस्सा रहे दार्जिलिंग अब पश्चिम का एक मनोहारी और रोमांचकारी शहर है। दार्जीलिंग पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से लगभग 80 किलोमीटर की दूरी पर पहाडों की चोटी पर स्थित है। यह शिवालिक हिल्स में लोवर हिमालय में अवस्थित है। 'क्वीन ऑफ हिल्स' के नाम से मशहूर दार्जिलिंग हमेशा से एक बेहतरीन हनीमून डेस्टिनेशन रहा है। हर वर्ष सैंकड़ों के संख्या में यहां पर नवविवाहित जोड़े आते हैं और यादगार क्षण समेटकर ले जाते हैं। यहां टॉय ट्रेन, चाय के बागान और यहां के बाजार प्रमुख आकर्षण हैं।



और भी पढ़ें :