मोटिवेशनल : आपने जो चाहा, वह अभी तक नहीं मिला तो क्या करें?

Story on Friendship
अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: बुधवार, 1 सितम्बर 2021 (14:53 IST)
जरूरी नहीं है कि आपकी हर इच्‍छा या ख्‍वाहिश पूरी हो। कई बार हम जो चाहते हैं वह हमें नहीं मिलता है तो इसके कई कारण हो सकते हैं। इसके बावजूद आपको लगता है कि आपने जो चाहा वह आपको नहीं मिला तो क्या करना चाहिए? आओ जानते हैं कुछ खास बातें।

1. चाहता को पहचानें : कई लोग सपने तो देखते हैं आम खाने का लेकिन खरीदकर ले आते हैं जामुन। ऐसा क्यों? ऐसा इसलिए कि आम लेने ही मार्केट गए थे परंतु रास्ते में उन्होंने जामुन देखे और उसे ही घर ले आए। मतबल यह कि उनका बदल गई और कहते हैं कि मैंन जो चाहा वह मुझे मिला नहीं।

2. कंफ्यूज न हों : हो सकता है कि आपकी चाहता कमजोर हो या आप अपनी चाहता को लेकर कंफ्यूज हो। फॉर एग्जांपल आप तय नहीं कर पा रहे हैं कि आपको डॉक्टर बनना है या इंजीनियर, आपको पिज्जा खाना है या बर्गर। ऐसा होता है कि कई लोग अपनी जिंदगी में पढ़ाई पूरी करने के बाद भी यह तय नहीं कर पाते हैं कि मुझे क्या बनना है या कि मुझे क्या चाहिए। अनिर्णय की स्थिति से भी आपकी कोई चाहता पूरी नहीं होती है।
3. चाहत के प्रति दृढ़ रहें : जब तक पानी 100 डिग्री पर उबलेगा नहीं, तब तक वह भाप नहीं बनेगा। उसी तरह जब तक आप अपने सपने, चाता या विचारों पर दृढ़ नहीं रहेंगे, तब तक वह हकीकत में नहीं बदलेगा। सपने सच होने का फॉर्मूला यह है कि पहली बात तो यह कि आप अपने सपने या लक्ष्य को लेकर दृढ़ रहें। बार-बार विचार बदलने या लक्ष्य बदलने वाले जिंदगी में कहीं भी नहीं पहुंचते हैं।

4. सपनों का पीछा करो : सपने सच करने के लिए सपनों का पीछा करो। जो चाहते हो उसे हासिल करने के लिए प्लान बनाओ और कार्य में लग जाओ। भाग्य पर नहीं, भगवान पर भरोसा करो और हमेशा आशावादी बने रहो। यदि प्रारंभ में असफलता मिल रही है तो इसका मतलब यह है कि आपके सपने सच होने के चांस बढ़ रहे हैं।
5. खुशी और चाहत : सफल व्यक्ति वे होते हैं, जो अपने जीवन में कुछ अच्‍छा चाहते हैं। अच्छा चाहने के लिए खुश रहना जरूरी है। यदि आपके जीवन में आपने जो चाहा, वह अभी तक मिला नहीं है तो आप उदास और निराश रहने लगेंगे जबकि ऐसा करने से आपने जो चाहा है, उसका पास आना और मुश्किल हो जाता है।

खुशी और चाहत दोनों एक-दूसरे की पूरक हैं। हमेशा खुश रहना सीखें। अभ्यास से यह संभव हो सकता है। खुश रहेंगे तो आप जीवन में जो भी सहज रूप से चाहेंगे, वह मिलता जाएगा। अत: खुशी-खुशी सपने देखो, अपना लक्ष्य बनाओ, उसके लिए योजना बनाओ और कार्य करो। कार्य करते रहो, करते रहो और करते रहो। परिणाम की चिंता मत करो। यदि परिणाम मनचाहा नहीं मिल रहा है ‍तो पता करें कि वह कौन-सी चीज है, जो आपको पीछे की तरफ खींच रही है फिर उससे अपना पीछा छुड़ाएं। पहले आप अपनी बाधा को हटाएं।



और भी पढ़ें :