EXCLUSIVE : मध्यप्रदेश में पहले होंगे नगर निगम-नगर पालिका चुनाव,18 मई के बाद तारीखों का एलान, महापौर-अध्यक्ष को सीधे चुनने की तैयारी

Author विकास सिंह| Last Updated: सोमवार, 16 मई 2022 (19:24 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। में नगर निगम और को लेकर तारीखों के एलान का काउंटडाउन शुरु हो गया है। प्रदेश निर्वाचन आयोग नगर निगम और नगर पालिका चुनाव के लिए जल्द ही अधिसूचना जारी करने जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक निर्वाचन आयोग 321 नगरीय निकायों में चुनाव की घोषणा इस हफ्ते 18 मई के बाद कभी भी कर सकता है। चुनावी अधिसूचना के 30 दिन के अंदर पूरी चुनाव प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। निर्वाचन आयोग सुप्रीम कोर्ट के 10 मई के आदेश के परिपालन में चुनाव की सभी तैयारियों लगभग पूरी कर चुका है। प्रदेश में निकाय चुनाव दो चरणों में ईवीएम से कराएं जाएंगे।

महापौर-अध्यक्ष को सीधे चुनेगी जनता!-
वहीं निकाय चुनाव को लेकर प्रदेश सरकार बड़ा फैसला लेने की तैयारी में है। सरकार ने नगर निगम के महापौर और नगर पालिका के अध्यक्ष के चुनाव सीधे जनता से कराने का फैसला किया है। इस संबंध में सरकार जल्द ही अध्यादेश ला सकती है। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में यह व्यवस्था 2014 में भी लागू थी लेकिन पिछली कमलनाथ सरकार ने बदलाव करते हुए महापौर और अध्यक्ष का चुनाव वार्ड पार्षदों के माध्यम से कराने का निर्णय लिया था जिसको शिवराज सरकार अब बदलने जा रही है।
मंगलवार पर टिकी सबकी निगाहें-प्रदेश में निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर मंगलवार का दिन अहम होगा, जब सुप्रीम कोर्ट में प्रदेश सरकार की ओर से लगाई गई मोडिफिकेशन याचिका पर सुनवाई करेगा। प्रदेश सरकार ने अपनी मोडिफिकेशन याचिका में सुप्रीम कोर्ट से दो मांगे रखी है। जिसमें पहली 2022 के परिसीमन के आधार पर चुनाव में पिछडे वर्ग को समाहित कर अनुमति प्रदान करने की मांग की गई है। वहीं दूसरी मांग में 2022 के परिसीमन के आधार पर चुनाव करान में थोडे समय की मांग की है, ताकि जहां परिसीमन को लेकर भ्रम की स्थिति है वह साफ हो।
हर नगर निगम का अलग घोषणा पत्र-प्रदेश में निकाय चुनाव का काउंटडाउन शुरु होने के के साथ भाजपा पूरी तरह से चुनाव की तैयारी में जुट गई है। सोमवार को दिन भर पार्टी कार्यालय में बैठकों का दौर चलता रहा। में टिकटों को लेकर पार्टी दफ्तर में पार्टी के कोर ग्रुप के नेता भी बैठे। इसके साथ दिन में दो अन्य बैठकों में पार्टी के प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर राव की अगुवाई में दो अन्य बैठके भी हुई।

निकाय चुनाव में भाजपा हर नगर निगम स्तर पर अलग-अलग घोषणा पत्र जारी करेगी। इसके साथ प्रदेश स्तर पर एक घोषणा पत्र अलग से जारी किया जाएगा। इसके साथ पार्टी

बड़ी नगर पालिका स्तर पर भी अलग से घोषणा पत्र जारी करने पर विचार कर ही है। घोषणा पत्र तैयार करने के लिए पार्टी अलग अलग वर्ग के लोगों से चर्चा कर सुझाव लेने का काम करेगी।



और भी पढ़ें :