राज्यसभा चुनाव: BJP जयभान सिंह पवैया के सहारे हिंदुत्व का कार्ड चलने की तैयारी, कांग्रेस से तनखा का नाम लगभग तय

मध्यप्रदेश विधासनभा में आज से शुरु होगी नामांकन की प्रक्रिया

Author विकास सिंह| Last Updated: गुरुवार, 26 मई 2022 (17:16 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। में 29 जून को रिक्त हो रही राज्यसभा की तीन सीटों पर आज से नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया शुरु हो जाएगी। अगर विधानसभा के मौजूदा समीकरण को देखे तो सत्तारूढ़ भाजपा के खाते में दो सीटें और के खाते में एक सीट जाने की संभावना है। राज्यसभा की इन तीन सीटों पर भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार कौन होगा यह अभी पूरी तरह साफ नहीं है लेकिन उम्मीदवारों की दौड़ में कई नाम शामिल है।



भाजपा की तरफ से कई दावेदार-भाजपा की तरफ से राज्यसभा कौन जाएगा, यह फिलहाल अभी पूरी तरह से साफ नहीं है। राज्यसभा की दोनों सीटों पर उम्मीदवार बनने की रेस कई नाम है। अगर इन नामों को देखा जाए तो भाजपा की तरफ से राज्यसभा की दावेदारी में सबसे आगे नाम हिंदुत्व के फायर ब्रांड नेता जयभान सिंह पवैया का है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक पार्टी 2023 का विधानसभा चुनाव हिंदुत्व के मुद्दे पर लड़ने जा रही है और जयभान सिंह पवैया प्रदेश में हिदुंत्व का एक बड़ा चेहरा है। ऐसे में पार्टी जयभान सिंह पवैया को राज्यसभा भेजकर 2023 विधानसभा और 2024 लोकसभा चुनाव के लिए हिंदुत्व की एक तैयारी करने जा रही है। जयभान सिंह पवैया राममंदिर आंदोलन से जुड़े रहे है और ग्वालियर-चंबल की सियासत में भाजपा का एक बड़ा नाम है। जयभान सिंह पवैया का पार्टी ने फिलहाल महाराष्ट्र की जिम्मेदारी सौंप रखी है।
इसके साथ भाजपा की तरफ से राज्सभा में दूसरी सीट के लिए दावेदारों की रेस में कई नाम है। इनमें सबसे उपर पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव का नाम है। कैलाश विजयवर्गीय पार्टी के महासचिव है। इसके साथ अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य भी के दावेदारों की होड़ मे है। वहीं इस बात की प्रबंल संभावना है कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व कोई नाम मध्यप्रदेश से राज्यसभा के लिए आगे बढ़ा सकता है।

कांग्रेस से विवेक तनखा का नाम लगभग तय-मध्यप्रदेश के राज्यसभा की जिन तीन सीटों पर चुनाव हो रहे है उसमें एक सीट कांग्रेस के खाते में जाएगी और इस सीट पर कांग्रेस की तरफ से दावेदारी में सबसे आगे नाम वर्तमान राज्यसभा सांसद विवेक तनखा का ही है। पार्टी विवेक तनखा को फिर से राज्यसभा में भेजे जाने का मन बना चुकी है। वहीं कांग्रेस की तरफ से राज्यसभा की दावेदारी में दूसरा नाम पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरूण यादव का भी है। 2023 विधानसभा चुनाव की तैयारी में इन दिनों अरूण यादव जिस तरह से सक्रिय है उससे कयास लगाए जा रहे है कि पार्टी अरूण यादव को मौका दे सकती है, लेकिन फिलहाल इसकी संभावना बहुत कम है।

क्या हैं सियासी समीकरण?–राज्यसभा चुनाव के सियासी के सियासी समीकरण को देखे तो भाजपा के खाते में दो सीटें और कांग्रेस के खाते में एक सीट जाने की संभावना है। विधानसभा में इस समय मौजूदा सदस्यों की संख्या 230 है और इस लिहाज से राज्यसभा चुनाव के लिए एक सीट के लिए 58 विधायकों के वोट चाहिए।
जिमसें भाजपा के 127 विधायक, कांग्रेस के 96, बसपा के 02 और सपा का एक विधायक है। वहीं निर्दलीय विधायकों की संख्या 04 है।
आज से शुरु होगी नामांकन प्रक्रिया-प्रदेश में रिक्त हो रही राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव प्रक्रिया आज से शुरु होगी और दस जून को मतदान कराया जाएगा। निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार आज से नामांकन जमा करने का काम शुरु हो जाएगा। वहीं 31 मई तक नामांकन पत्र स्वीकार किए जाएंगे। नामांकन पत्रों की जांच एक जून को होगी और तीन जून तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। यदि मतदान की नौबत आई तो दस जून को सुबह नौ से चार बजे तक मतदान कराया जाएगा। इसके एक घंटे बाद पांच बजे से मतगणना प्रारंभ होगी और इसी दिन परिणाम भी घोषित कर दिया जाएगा।



और भी पढ़ें :