जोबट उपचुनाव Live Updates : कांग्रेस और भाजपा की सभाओं में उमड़ी नेताओं की भीड़

अरविन्द तिवारी| Last Updated: शुक्रवार, 8 अक्टूबर 2021 (15:45 IST)
जोबट। जोबट उपचुनाव को लेकर शुक्रवार का दिन खासा गहमागहमी भरा रहा। भाजपा उम्मीदवार सुलोचना रावत, कांग्रेस उम्मीदवार महेश पटेल ने भरा नामांकन। पल पल की जानकारी...

03:44PM, 8th Oct
-कैलाश विजववर्गीय ने कहा, कांतिलाल भूरिया ने इस जिले के आदिवासियों को बहुत बेवकूफ बनाया।
-उन्होंने रेल लाने का वादा किया था लेकिन आज तक रेल नहीं आपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वादे को पूरा करेंगे यहां के आदिवासी देश में कहीं भी जाएंगे उन्हें रेल सुविधा उपलब्ध होगी।
-पहले दिल्ली से एक रुपए भेजते थे तो झाबुआ अलीराजपुर में 15 पैसे पहुंचते थे अब यहां के लोगों को विकास के लिए पूरा पैसा मिल रहा है।
-पारदर्शी सरकार है ईमानदारी सरकार है और दलालों को दूर रखकर काम करने वाली सरकार है जो पूरी इमानदारी से अपना काम कर रही है
-जोबट में हार जीत से देश या प्रदेश की राजनीति पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा फर्क केवल यहां की जनता को पड़ेगा। 
-सुलोचना एक खानदानी परिवार की बहू है उसे यहां की सेवा का मौका एक बार जरूर दीजिए।
-सुलोचना रावत का बेटा विशाल बहुत ऊर्जावान है यदि आप सुलोचना को यहां से विधायक बनाएंगे तो विशाल भी आपकी सेवा करेगा। आपके एक वोट से आपको 2 विधायक मिलेंगे।
03:40PM, 8th Oct
-जोबट में भाजपा की चुनावी सभा में कैलाश विजयवर्गीय का भाषण
-कहा- अलीराजपुर जिले में फूल वाली पार्टी का विधायक चाहिए तभी यहां का विकास हो पाएगा
-प्रधानमंत्री चाहते हैं कि देश के हर आदिवासी के घर में लाइट
-यदि यहां से फूल वाली पार्टी का विधायक नहीं होगा तो हर आदिवासी के घर में लाइट कैसे लगेगी?
-यदि आप को साफ नल का पानी पीना है तो आप को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छा के मुताबिक फूल वाली पार्टी का विधायक बनाना होगा।
03:40PM, 8th Oct
-जोबट में भाजपा की चुनावी सभा में कैलाश विजयवर्गीय का भाषण
-कहा- अलीराजपुर जिले में फूल वाली पार्टी का विधायक चाहिए तभी यहां का विकास हो पाएगा
-प्रधानमंत्री चाहते हैं कि देश के हर आदिवासी के घर में लाइट
-यदि यहां से फूल वाली पार्टी का विधायक नहीं होगा तो हर आदिवासी के घर में लाइट कैसे लगेगी?
-यदि आप को साफ नल का पानी पीना है तो आप को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्छा के मुताबिक फूल वाली पार्टी का विधायक बनाना होगा।
02:35PM, 8th Oct
-कांग्रेस की सभा में पूर्व केंद्रीय मंत्री विधायक कांतिलाल भूरिया, पूर्व गृहमंत्री बाला बच्चन, डॉक्टर विजय लक्ष्मी साधो, सुरेंद्र सिंह बघेल, रवि जोशी, संजय शुक्ला, विशाल पटेल और डॉ विक्रांत भूरिया मौजूद।
-कांग्रेस की सभा में पूर्व केंद्रीय रेल राज्य मंत्री सांसद नारायण भाई राठवा भी मौजूद।
-डॉक्टर विजय लक्ष्मी साधो ने कहा कि महेश पटेल को जिताना ही कलावती भूरिया को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
02:32PM, 8th Oct
-नामांकन दाखिल करने के बाद कांग्रेस की सभा
-जोबट में इस समय को भाजपा और कांग्रेस की सभाएं चल रही है
-भाजपा की सभा बस स्टैंड रोड पर तो कांग्रेस की सभा कृषि उपज मंडी 
-भाजपा की सभा में राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा, महेंद्र सिंह सिसोदिया, सांसद गुमान सिंह डामोर, गोपेश्वर, सुमेर सिंह सोलंकी और रमेश मेंदोला मौजूद है।
02:11PM, 8th Oct
-नामांकन दाखिल करने पहुंचे कांग्रेसी उम्मीदवार महेश पटेल।
-साथ में हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कांतिलाल भूरिया
-तहसील कार्यालय के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का भारी जमावड़ा
-पार्टी के बड़े नेता कार्यकर्ताओं के साथ तहसील कार्यालय के बाहर ही रुके
02:11PM, 8th Oct
-भाजपा उम्मीदवार सुलोचना रावत ने भी अपना नामांकन दाखिल किया।
-बाहर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद।
02:10PM, 8th Oct
-निर्दलीय उम्मीदवार दीपक भूरिया ने दाखिल किया नामांकन।
-दिवंगत विधायक कलावती भूरिया के भतीजे दीपक भूरिया ने नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में पर्चा भर दिया।
-नामांकन दाखिल करने के बाद उन्होंने कहा कि वह कलावती भूरिया के सम्मान के लिए यह लड़ाई लड़ रहे हैं।
-वह हर हालत में चुनाव लड़ेंगे नामांकन वापस लेने का प्रश्न ही नहीं उठता। उनका कहना था कि कांग्रेस ने उनके परिवार के साथ धोखा किया।

02:08PM, 8th Oct
-भाजपा उम्मीदवार सुलोचना रावत को नामांकन दाखिल करवाने पहुंचे।
-भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और झाबुआ के सांसद गुमान सिंह डामोर को पुलिस ने आज जोबट तहसील कार्यालय में प्रवेश से रोक दिया।
-तहसील कार्यालय के गेट पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने नियमों का हवाला देते हुए कहा कि उम्मीदवार के साथ चुनिंदा पांच लोग अंदर जा पाएंगे।
-कुछ देर जद्दोजहद के बाद विजयवर्गीय और डामोर बाहर ही रुक गए भारी रुक गए बाद में पुलिस कर्मियों ने सांसद डामोर को अंदर जाने दिया।



और भी पढ़ें :