विक्षिप्त व्यक्ति की हत्या के आरोपी ने खुद को बताया सीबीआई अधिकारी

Last Updated: मंगलवार, 24 मई 2022 (23:01 IST)
हमें फॉलो करें
नीमच। के जिले में पिछले सप्ताह एक विक्षिप्त बुजुर्ग की पहचान जानने के लिए उसके साथ मारपीट करने और उसकी हत्या करने के मामले में पुलिस ने एक व्हाट्सएप ग्रुप के 'एडमिन (संचालक)' सहित 6 लोगों के खिलाफ वीडियो प्रसारित करने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पुलिस के मुताबिक, हत्या का आरोपी जब विक्षिप्त बुजुर्ग की पहचान जानने की कोशिश में उसे लगातार थप्पड़ मार रहा था, तब उसने खुद को कथित तौर पर सीबीआई अधिकारी बताकर एक नाबालिग लड़के को घटना का वीडियो बनाने के लिए मजबूर किया था। अधिकारियों के अनुसार पुलिस ने घटना के संबंध में एक व्हाट्सएप ग्रुप के 'एडमिन' और 5 अन्य लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया है जिन्होंने कथित तौर पर उस वीडियो को सोशल मीडिया पर प्रसारित किया था।
मालूम हो कि रतलाम जिले के सरसी गांव के 65 वर्षीय भंवरलाल जैन 16 मई को राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने के बाद लापता हो गए थे। 19 मई को नीमच जिला मुख्यालय से 38 किलोमीटर दूर मनासा थाना क्षेत्र के रामपुरा रोड पर उनका शव मिला था।

जैन का अंतिम संस्कार करने के बाद मृतक के परिवार को एक वीडियो मिला था जिसमें 38 वर्षीय आरोपी दिनेश कुशवाहा उसे बार-बार थप्पड़ मारते हुए 'तुम्हारा नाम मोहम्मद है क्या? पूछते हुए और उसका आधार कार्ड मांगते हुए नजर आ रहा था।
अधिकारियों ने बताया कि जैन के परिवार द्वारा वीडियो के साथ पुलिस से संपर्क करने के बाद कुशवाहा को 20 मई को गिरफ्तार कर लिया गया था। मनासा के थाना प्रभारी केएल डांगी के अनुसार, कुशवाहा ने कथित तौर पर सीबीआई अधिकारी बनकर एक नाबालिग लड़के को धमकाया और उसे वीडियो बनाने के लिए मजबूर किया। इस वीडियो में वह मृतक को लगातार थप्पड़ मारते हुए दिखाई दे रहा है।
अधिकारी के अनुसार पुलिस ने सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक वीडियो प्रसारित करने के लिए भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 188 के तहत 'स्वच्छ भारत' नामक एक व्हाट्सअप ग्रुप के 'एडमिन' सहित 6 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इस घटना के बाद मध्यप्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति पर सवाल उठाए थे और दावा किया था कि आरोपी सत्तारूढ़ भाजपा से जुड़ा है।
हालांकि भाजपा के प्रदेश सचिव रजनीश अग्रवाल ने कहा था कि आरोपी एक आरोपी है और उसका पार्टी की राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने यह भी कहा था कि प्रदेश सरकार इस तरह के कृत्य में शामिल किसी भी व्यक्ति को नहीं बख्शेगी।



और भी पढ़ें :