ViVo से BCCI ने तोड़ा नाता, TaTa बना IPL का टाइटल स्पॉंसर

Last Updated: मंगलवार, 11 जनवरी 2022 (17:58 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली:आईपीएल के 2022 संस्करण में के रूप में टाटा वीवो की जगह लेगा। वीवो की ओर से आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सर की भूमिका से हटने के बाद (बीसीसीआई) टाटा समूह को यह भूमिका देगा। आईपीएल की मंगलवार को हुई की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

आईपीएल के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने खुद बैठक के बाद आगामी सीजन में टाटा समूह के टाइटल स्पॉन्सर होने की पुष्टि की। उन्होंने एक बयान में कहा कि वीवो बाहर हो गया है और अब टाटा टाइटल स्पॉन्सर होगा। उल्लेखनीय है कि वीवो के पास आईपीएल के साथ अपने स्पॉन्सरशिप समझौते के अभी भी दो साल बाकी हैं, लेकिन वीवो समझौते को जारी रखने के लिए तैयार नहीं है।

समझा जाता है कि वीवो और बीसीसीआई ने 2018 में आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए 440 करोड़ रुपए का करार किया था, जो आईपीएल 2023 सीजन के बाद समाप्त होना था, लेकिन दोनों पक्ष समय से पहले अलग हो रहे हैं। यह भी माना जा रहा है कि वीवो ने आईपीएल टाइटल स्पॉन्सरशिप को लेकर बीसीसीआई के साथ अपनी मौजूदा डील टाटा को ट्रांसफर करने का अनुरोध किया था, जिसे गवर्निंग काउंसिल की बैठक में मंजूरी दे दी गई। अब टाटा के पास आईपीएल के 2022 और 2023 सीजन की टाइटल स्पॉन्सरशिप होगा।

इससे पहले देश में चीन विरोधी भावना बढ़ने के कारण वीवो ने 2020 में आईपीएल स्पॉन्सशिप से हाथ खींच लिया था, लेकिन 2021 में उसने मुख्य प्रायोजक के रूप में वापसी की थी, लेकिन अब 2022 के सीजन से पहले उसने इसे पूरी तरह से खत्म करने का फैसला किया है।

टाटा समूह के साथ मिल कर आईपीएल काे और अधिक ऊंचाईयों पर ले जाएंगे : जय शाह

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने मंगलवार को टाटा समूह को आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सरशिप देने पर कहा कि हम सच में खुश हैं कि भारत के सबसे बड़े और सबसे भरोसेमंद व्यापारिक समूह ने आईपीएल की विकास गाथा में विश्वास किया है और टाटा समूह के साथ मिलकर हम भारतीय क्रिकेट और आईपीएल को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने की कोशिश करेंगे। शाह ने एक बयान में कहा, “ यह सच में बीसीसीआई और आईपीएल के लिए एक महत्वपूर्ण अवसर है, क्योंकि टाटा समूह वैश्विक भारतीय उद्यम का प्रतीक है, जिसकी 100 साल से अधिक पुरानी विरासत और छह महाद्वीपों में 100 से अधिक देशों में संचालन है। टाटा समूह की तरह बीसीसीआई अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के पार क्रिकेट की भावना को बढ़ावा देने के लिए उत्सुक है और वैश्विक खेल फ्रेंचाइजी के रूप में आईपीएल की बढ़ती लोकप्रियता बीसीसीआई के प्रयासों का प्रमाण है। ”

आईपीएल की दो नई टीमों लखनऊ और अहमदाबाद को बीसीसीआई से मिली औपचारिक मंजूरी

आईपीएल की दो नई टीमों लखनऊ और अहमदाबाद को मंगलवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से औपचारिक मंजूरी मिल गई।

आईपीएल की मंगलवार को हुई गवर्निंग काउंसिल की बैठक में लखनऊ टीम के मालिक संजीव गोयनका के आरपीएसजी ग्रुप और अहमदाबाद के मालिक सीवीसी कैपिटल को मंजूरी पत्र जारी किए जाने पर मुहर लगाई गई। आईपीएल के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने बैठक के बाद इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि गवर्निंग काउंसिल ने सीवीसी द्वारा अहमदाबाद टीम के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है और हम आज दोनों नई टीमों को मंजूरी पत्र जारी करेंगे।

गवर्निंग काउंसिल की बैठक में की मेगा नीलामी की तारीखों पर भी चर्चा हुई और आईपीएल अध्यक्ष बृजेश पटेल ने पुष्टि की कि नीलामी 12 और 13 फरवरी को बेंगलुरु में होगी, हालांकि बीसीसीआई ने अभी फैसला नहीं किया है कि लखनऊ और अहमदाबाद टीम को खिलाड़ियों को साइन करने के लिए कितना समय दिया जाना है। उन्हें कम से कम कुछ हफ्ते दिए जाने की उम्मीद है।(वार्ता)



और भी पढ़ें :