कमाल का डेब्यू! श्रेयस अय्यर ने पहले ही टेस्ट में जड़ा अर्धशतक

Last Updated: गुरुवार, 25 नवंबर 2021 (16:27 IST)
अंग्रेजी में एक कहावत है ,One man's loss is another man's oppurtunity , इसका मतलब है कि एक व्यक्ति का नुकसान या फिर एक व्यक्ति की जगह दूसरे का फायदा बन जाती है। यह के लिए कहा जा सकता है। उनको टेस्ट टीम में अपनी जगह पक्की करने का बेहतरीन मौका मिला क्योंकि ज्यादातर सीनियर खिलाड़ियों ने इस सीरीज से अपना नाम वापस ले लिया। > पहले वह न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल हुए,कानपुर में होने वाले पहले टेस्ट में अपना टेस्ट डेब्यू करने की मुहर भी लगी और अब उन्होंने अपने पहले ही टेस्ट में अर्धशतक भी लगा दिया।>
वनडे और टी-20 के बाद श्रेयस अय्यर को आज टेस्ट मैच खेलने का मौका मिला था और अपने पहले ही टेस्ट में श्रेयस अय्यर ने कमाल दिखा दिया। अपना पहला ही टेस्ट खेल रहे श्रेयस अय्यर ने कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में न्यूजीलैंड के खिलाफ अर्धशतक जड़ दिया।
चायकाल के बाद श्रेयस अय्यर ने रविंद्र जड़ेजा के साथ भारतीय पारी को संभाला और 50 रनों की साझेदारी की। टेस्ट क्रिकेट के लिहाज से श्रेयस अय्यर ने अपनी पहली ही पारी में कमाल की परिपक्वता दिखाई।

चेतेश्वर पुजारा के बाद क्रीज पर आए श्रेयस अय्यर ने संभल कर खेला और सिर्फ खराब गेंदो को नसीहत दी। इसका असर यह हुआ कि बीच में जैमिसन के झटकों से टीम अब उबरने लगी है। अय्यर ने 94 गेंदो में 6 चौकों की मदद से 50 रन पूरे किए।

श्रेयस अय्यर चाहेंगे कि अपने इस अर्धशतक को वह और बड़ा कर सकें। उनकी कोशिश रहेगी कि वह इसको एक शतक में तब्दील कर इतिहास बनाएं।
गावस्कर ने थमाई टेस्ट कैप

कानपुर में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का पदार्पण मैच खेलने उतरे श्रेयस अय्यर को पूर्व भारतीय कप्तान ने पहना कर उनकी हौसलाफजाई की।

ग्रीनपार्क मैदान पर गुरूवार को मैच शुरू होने से पहले गावस्कर ने श्रेयस को टेस्ट कैप प्रदान की जिसे कुछ देर निहारने के बाद श्रेयस ने उसे चूमा और पहन लिया। गावस्कर ने उन्हे सफलता के लिये शुभकामनाये दी। बाद में टीम के सदस्यों ने श्रेयस को उनकी इस उपलब्धि के लिये बधाई दी।
मांस पेशियों में खिंचाव के कारण अंतिम समय पर टीम से बाहर हुये लोकेश राहुल के स्थान पर श्रेयस अय्यर को मौका दिया गया है। अपनी 27वीं सालगिरह से 11 दिन पहले मुबंई के श्रेयस इससे पहले भारत की ओर से 22 एक दिवसीय मैच खेल चुके है जिसमें उन्होने एक बार शतक जड़ा है जबकि आठ बार उन्होने अपना स्कोर 50 के पार पहुंचाया है। बल्लेबाजी के अलावा भारतीय कप्तान उनका इस्तेमाल लेग ब्रेक स्पिनर के तौर पर भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :