सौराष्ट्र 'रणजी ट्रॉफी' के फाइनल में

वड़ोदरा| पुनः संशोधित सोमवार, 15 फ़रवरी 2016 (23:50 IST)
वड़ोदरा। चेतेश्वर पुजारा की शानदार शतकीय पारी के बाद तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट की कातिलाना गेंदबाजी से ने सोमवार को यहां को दस विकेट से हराकर रणजी ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश किया। पुजारा ने 126 रन की पारी खेली जिससे सौराष्ट्र ने अपनी पहली पारी में 353 रन बनाकर 119 रन की बढ़त हासिल की। 
 
असम की बल्लेबाजी हालांकि दूसरी पारी में बुरी तरह बिखर गई और उसकी पूरी टीम 139 रन पर ढेर हो गई। उनकी इस स्थिति के लिए उनादकट जिम्मेदार रहे जिन्होंने 45 रन देकर पांच विकेट लिए। इस तेज गेंदबाज ने इस तरह से मैच में 122 रन देकर 11 विकेट हासिल किए। 
 
सौराष्ट्र के सामने जीत के लिए 21 रन का लक्ष्य था और उसने मैच के तीसरे दिन के आखिरी क्षणों में बिना किसी नुकसान के 24 रन बनाकर तीन साल में दूसरी बार फाइनल में जगह बनाई। सागर जोगियानी 23 रन और अवि बारोट एक रन बनाकर नाबाद रहे। सौराष्ट्र पुणे में 24 फरवरी से शुरू होने वाले फाइनल में मुंबई और मध्यप्रदेश के बीच कटक में चल रहे दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से भिड़ेगा। 
 
इससे पहले सौराष्ट्र 2012-13 सत्र में फाइनल में पहुंचा था, लेकिन तब मुंबई ने उसे पारी और 125 रन से हरा दिया था। सौराष्ट्र ने सुबह 5 विकेट पर 254 रन से अपनी पारी आगे बढ़ाई। पुजारा अपने कल के स्कोर में दस रन जोड़कर आउट हुए। उन्होंने 15 चौके और एक छक्का लगाया। 
 
चिराग जानी ने 43 और दीपक पूनिया ने 42 रन बनाए। असम के लिए कृष्णा दास और अरूप दास ने तीन-तीन विकेट लिए। इसके बाद उनादकट और हार्दिक राठौड़ (26 रन देकर तीन विकेट) ने असम का शीर्ष क्रम लड़खड़ाकर उसका स्कोर छ: विकेट पर 67 रन कर दिया। जे सैयद मोहम्मद ने असम की तरफ से सर्वाधिक 39 रन बनाए। (भाषा)



और भी पढ़ें :