टी-20 विश्वकप के बाद न्यूजीलैंड सीरीज में राहुल द्रविड़ फिर बनेंगे यंगिस्तान टीम के कोच!

पुनः संशोधित गुरुवार, 14 अक्टूबर 2021 (19:24 IST)
नई दिल्ली:पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने बेशक रवि शास्त्री की जगह पर के मुख्य कोच बनने के (बीसीसीआई) के प्रस्ताव को ठुकरा दिया हो, लेकिन वह आईसीसी टी-20 विश्व कप के बाद नवंबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू टी-20 सीरीज के लिए टीम के अंतरिम मुख्य कोच हो सकते हैं।

अगर इस बात पर सहमति बनती है तो वह इस वर्ष दूसरी बार टीम के अंतरिम मुख्य कोच की भूमिका में नजर आएंगे। इससे पहले वह इस वर्ष जुलाई में श्रीलंका के सीमित ओवर दौरे के लिए भारतीय टीम के अंतरिम कोच की भूमिका में दिखे थे, क्योंकि मूल कोच रवि शास्त्री इंग्लैंड में भारतीय टेस्ट टीम के साथ थे।

उल्लेखनीय है कि वर्तमान कोच रवि शास्त्री और उनके सपोर्ट स्टाफ का कार्यकाल टी-20 विश्व कप के बाद समाप्त हो जाएगा, लेकिन बीसीसीआई का मानना है कि नए कोच को ढूंढ़ने में उम्मीद से ज्यादा समय लग सकता है, इसलिए बोर्ड चाहता है कि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के प्रमुख राहुल द्रविड़ न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए टीम के प्रभारी हों, जो टी-20 विश्व कप के तीन बाद यानी 17 नवंबर से शुरू हो रही है।

समझा जाता है कि कुछ ऑस्ट्रेलियाई कोचों ने इस भूमिका में रुचि दिखाई है, लेकिन बीसीसीआई कहीं ओर रुख करने से पहले इस भूमिका के लिए किसी भारतीय कोच पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। कोच को ढूंढ़ने की प्रक्रिया के तहत बीसीसीआई ने द्रविड़ को फुल टाइम कोच बनाने की इच्छा जताई थी, लेकिन उन्होंने इसके लिए इंकार कर दिया था।

भारतीय बोर्ड ने बाद में कुछ और कोचों से संपर्क किया, लेकिन इस पर अभी तक सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिली है। बीसीसीआई ने आधिकारिक तौर पर कोच के लिए कोई विज्ञापन नहीं दिया है, लेकिन यह निश्चित है कि शास्त्री की जगह किसी उम्मीदवार की तलाश की जा रही है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने एक बयान में कहा, “ हम चाहते थे कि जिस उम्मीदवार को हम इस भूमिका के लिए सबसे उपयुक्त समझते हैं, वह पहले इसके लिए आवेदन करने के लिए सहमत हो। हम ऐसी स्थिति नहीं चाहते हैं, जहां हम आवेदन तो प्राप्त करें, लेकिन कोई आदर्श न दिखे। यह बोर्ड के साथ-साथ आवेदकों के लिए भी अनुचित होगा, इसलिए बेहतर है कि पहले एक उचित आवेदक की तलाश की जाए, तब तक द्रविड़ अंतरिम कोच हो सकते हैं। ”

उल्लेखनीय है कि बीसीसीआई ने रवि शास्त्री से न्यूजीलैंड सीरीज तक यह भूमिका निभाने का आग्रह करने की संभावना पर भी विचार किया था, लेकिन उसने अब अपना विचार बदल दिया है।

‘बायो-बबल’ की थकान के कारण न्यूजीलैंड टी20 श्रृंखला में ज्यादातर सीनियर को दिया जा सकता है आराम

हो सकता है कि भारत टी20 विश्व कप फाइनल के एक हफ्ते से भी कम समय बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू होने वाली टी20 श्रृंखला के दौरान अपने ज्यादातर सीनियर खिलाड़ियों को विश्राम दे।उम्मीद है कि घरेलू सरजमीं पर न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टी20 मैचों में एक युवा टीम मैदान पर उतरेगी जिसमें ज्यादातर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी होंगे। भारत को 17, 19 और 21 नवंबर को क्रमश: जयपुर, रांची और कोलकाता में तीन टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने हैं।

इसके बाद कानपुर (25 नवंबर से) और मुंबई (तीन दिसंबर से) में दो टेस्ट मैच खेले जायेंगे।शीर्ष भारतीय खिलाड़ी जैसे कप्तान विराट कोहली, उप कप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह जून में साउथम्पटन में विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के शुरू होने के बाद से ही ‘बायो-बबल’ में रह रहे हैं।

इसमें से इंग्लैंड में जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण काफी कम बंदिशों वाला था, जिससे मैनचेस्टर में पांचवां टेस्ट भारतीय खेमे में कोविड-19 मामले आने के कारण रद्द कर दिया गया था।

चयन समिति में इन घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले सूत्र ने पीटीआई से गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘ज्यादातर भारतीय खिलाड़ी, सीनियर खिलाड़ी पिछले चार महीनों में लगातार तीन ‘बायो-बबल’ में रहे हैं। संभावना है कि टी20 विश्व कप के बाद आप चाहोगे कि वे विश्राम लेकर दिसंबर के अंत में शुरू होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले तरोताजा हो जायें। ’’

यह पहले से ही तय है कि कोहली, बुमराह और मोहम्मद शमी जैसे खिलाड़ियों को विश्राम दिया जायेगा।यहां तक कि रोहित भी इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के बाद से लगातार खेल रहे हैं, उन्हें भी विश्राम की जरूरत होगी लेकिन कोहली के टी20 कप्तानी पद से हटने के बाद यह देखना होगा कि कार्यभार प्रबंधन इस स्थिति से कैसे निपटता है।

ऐसी स्थिति में संक्षिप्त दौरे के लिये रूतुराज गायकवाड़, हर्षल पटेल, आवेश खान और वेंकटेश अय्यर को आजमाया जा सकता है।इस बात को लेकर अटकलों का दौर जारी है कि न्यूजीलैंड श्रृंखला के दौरान राहुल द्रविड़ अंतरिम कोच होंगे। निर्वतमान रवि शास्त्री का कार्यकाल इस महीने टी20 विश्व कप के साथ ही खत्म हो रहा है।

हालांकि राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी प्रमुख द्रविड़ को अगले साल होने वाले अंडर-19 विश्व कप के लिये खाका भी तैयार करना होगाबीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) को भरोसा है कि वे समय पर नया कोच नियुक्त कर देंगे।

इससे पहले उन्हें मदन लाल को क्रिकेट सलाहकार समिति से हटाना होगा क्योंकि वह 70 से ज्यादा उम्र के हैं और लोढा समिति की सिफारिशों के अनुसार उम्र संबंधित पांबदियां अनिवार्य हैं।



और भी पढ़ें :