उस्मान ख़्वाजा को एशेज टेस्ट में 2 शतक जड़ने का यह मिला इनाम

पुनः संशोधित गुरुवार, 13 जनवरी 2022 (18:22 IST)
हमें फॉलो करें
होबार्ट:शुक्रवार को में शुरू होने वाले पांचवें और अंतिम मैच के लिए सलामी बल्लेबाज़ को ऑस्ट्रेलियाई टीम से बाहर किया गया है। उनकी जगह उस्मान ख़्वाजा पारी की शुरुआत करेंगे जबकि मध्यक्रम में ट्रैविस हेड की वापसी होगी।

मेज़बान टीम के गेंदबाज़ी क्रम पर सवालिया निशान बने हुए हैं और कप्तान पैट कमिंस ने कहा है कि चोटिल स्कॉट बोलैंड को होबार्ट टेस्ट से पहले एक फ़िटनेस टेस्ट से गुज़रना होगा। टीम के एक प्रवक्ता ने पुष्टि की कि बोलैंड ने 'बिना किसी समस्या' के अभ्यास किया लेकिन उनके चयन पर अंतिम फ़ैसला शुक्रवार सुबह लिया जाएगा। अगर बोलैंड नहीं खेल पाते हैं तो जाय रिचर्डसन एकादश में आ सकते हैं।

ALSO READ:

वनडे विश्वकप 2019 में चोटिल होकर बाहर हुए उस्मान ख्वाजा ने 1 टेस्ट में 2 शतक बनाकर बनाए कुछ दिलचस्प रिकॉर्ड

ख़्वाजा ने सिडनी टेस्ट की दोनों पारियों में शतक जड़ने के बाद इस मैच में चयन के लिए अपनी दावेदारी पेश की थी। कोरोना संक्रमित होने के कारण पिछले टेस्ट से बाहर रहे हेड का टीम में वापस आना तय था और चयनकर्ताओं ने हैरिस को बाहर करने का कठिन निर्णय लिया।

कमिंस ने गुरुवार को कहा, "मुझे लगता है कि वह (हैरिस) जानते थे कि यह होने वाला है। हैरी के लिए संदेश यह है कि हमें लगता है वह अच्छी बल्लेबाज़ी कर रहे हैं और यह उनके लिए कठिन फ़ैसला है। ऐसा अक्सर नहीं होता है कि कोई खिलाड़ी टीम में आकर एक मैच में ही दो शतक लगाए। हालांकि मुझे लगता है कि वह प्रत्येक मैच के साथ बेहतर होते जा रहे हैं और मेलबोर्न टेस्ट जीतने में उन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह हमारी योजनाओं का हिस्सा है और हम उनपर निवेश करते रहेंगे।"

यह हैरिस के टेस्ट करियर में तीसरा मौक़ा है जब उन्हें टीम से बाहर किया गया है। चयनकर्ता उन्हें शीर्ष क्रम में लगातार अवसर देना चाहते थे और इसलिए उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के पिछले पांच टेस्ट मैचों में एकादश में जगह बनाई है। हालांकि अपनी 26 टेस्ट पारियों में उन्होंने केवल तीन बार 50 का आंकड़ा पार किया है।

इस बीच, बोलैंड को यह साबित करना होगा कि वह अपनी पसली की चोट से उबर चुके हैं। कमिंस ने बताया कि चयनकर्ता अंतिम अभ्यास सत्र के बाद ही उनकी फ़िटनेस की पुष्टि करेंगे। पहली पारी में अपनी पसली के बल नीचे गिरने के बाद बोलैंड को दर्द निवारक इंजेक्शन लेना पड़ा था। चोटिल होने के बावजूद उन्होंने ख़ूबसूरत गेंदबाज़ी करते हुए सात विकेट अपने नाम किए थे।

घरेलू प्रथम श्रेणी क्रिकेट में गुलाबी गेंद के साथ बोलैंड की औसत 22.64 की रही है लेकिन इस मैदान पर उनके आंकड़े प्रभावशाली नहीं है। होबार्ट में बोलैंड ने 64 के औसत से गेंदबाज़ी की हैं।(वार्ता)



और भी पढ़ें :