भारत ने दूसरे दर्जे की टीम भेजकर हमारा अपमान किया: अर्जुन रणातुंगा

पुनः संशोधित शुक्रवार, 2 जुलाई 2021 (16:51 IST)

श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और अपने समय के महान खिलाड़ी अर्जुन रणातुंगा भारतीय टीम को लेकर एक ऐसा बयान दिया है, जो क्रिकेट के गलियारों में लगातार चर्चा का विषय बना हुआ है। दरअसल, पूर्व विश्व विजयी कप्तान का ऐसा कहना है कि भारत ने अपने दूसरे दर्जे की टीम को श्रीलंका दौरे पर भेजकर उनका अपमान किया है।


जानकारी के लिए बता दें कि, मौजूदा समय में टीम इंडिया इंग्लैंड के दौरे पर है जहां टीम के अधिकांश सीनियर खिलाड़ी कप्तान विराट कोहली सहित मौजूद है और इसी के चलते श्रीलंका दौरे पर युवा खिलाड़ियों से सजी टीम को भेजा गया है, जिसकी अगुवाई करते नजर आएंगे।


धवन के अलावा सीनियर खिलाड़ियों में उपकप्तान भुवनेश्वर कुमार और ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के ही नाम शामिल है, जबकि पांच खिलाड़ियों को पहली बार राष्ट्रीय टीम में चुना गया है। इन खिलाड़ियों में रितुराज गायकवाड़, देवदत्त पडिक्कल, नितीश राणा, कृष्णप्पा गौथम और चेतन सकारिया के नाम शामिल है।

अर्जुन रणातुंगा ने श्रीलंका बोर्ड को निशाने पर लेते हुए कहा कि उन्हें इस तरह से भारत के साथ यह सीरीज नहीं खेलनी चाहिए थी। अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से बात करते हुए पूर्व श्रीलंकाई कप्तान ने कहा, "भारत के दूसरे दर्जे की टीम का यहां आना हमारे क्रिकेट का अपमान है। मैं इसके लिए वर्तमान एडमिनिस्ट्रेशन को जिम्मेदार ठहराता हूं। टेलीविजन मार्केटिंग की वजह से उन्होंने ये सीरीज खेलने का फैसला किया। भारत ने अपनी बेस्ट इंग्लैंड भेज दी और कमजोर टीम यहां पर खेलने के लिए भेज दिया। इसके लिए मैं अपने बोर्ड को जिम्मेदार मानता हूं।"

इतने ही नहीं हाल में ही इंग्लैंड के दौरे पर बायो बबल का उल्लंघन करने वाले कुसल मेंडिस, निरोषण डिकवेना और धनुष्का गुणातिलके को भी रणातुंगा ने अपने निशाने पर लिया कहा कि अगर वह श्रीलंका के कप्तान होते इन खिलाड़ियों को अब तक 2-3 बार थप्पड़ जड़ चुके होते।



और भी पढ़ें :