दूसरे टी-20 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लचर बल्लेबाजी पर बिफरी भारतीय कप्तान, कहा जिम्मेदारी से तो खेलो

पुनः संशोधित रविवार, 10 अक्टूबर 2021 (10:28 IST)
गोल्ड कोस्ट:भारतीय महिला टी20 अंतरराष्ट्रीय टीम की कप्तान चाहती हैं कि उनकी खिलाड़ी और अधिक जिम्मेदारी से खेलें क्योंकि टीम सीमित ओवर के प्रारूपों में दबदबा बनाने की कोशिश में जुटी है।

हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा, ‘‘हमने 20 रन कम बनाये। विकेट बल्लेबाजी के लिये इतना आसान नहीं था। अगर हमारे पास 20 और रन होते तो नतीजा हमारे पक्ष में हो सकता था। यह अच्छा मैच था। हमने उन्हें आसानी से रन नहीं दिये। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम अंत तक कोशिश करते रहे लेकिन चाहूंगी कि टीम और अधिक जिम्मेदारी से खेले। ’’ने अगर 26 गेंद में 37 रन की पारी नहीं खेली होती तो भारतीय टीम का स्कोर 118 रन तक नहीं पहुंचा होता।

हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘पूजा में प्रतिभा है और जब भी हमें जरूरत होती है वह हमें रन और विकेट दिलाती है। हम उससे यही उम्मीद करते हैं। हम जानते हैं कि ऑस्ट्रेलियाकी टीम अच्छी है। आपको हमेशा उनके खिलाफ अच्छी रणनीति के साथ खेलने की जरूरत होती है। ’’

ऑस्ट्रेलिया के लिये तहलिया मैकग्रा ने नाबाद 42 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिलायी।ऑस्ट्रेलियाई कप्तान मेग लैनिंग ने कहा, ‘‘हमने बेहतर गेंदबाजी की। मुझे लगता है कि यह इस श्रृंखला में गेंदबाजी में हमारा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। तहलिया मैकग्रा ने शानदार प्रदर्शन करके जीत में मदद की। पिच पर गेंद अच्छी तरह स्विंग हो रही थी। लेकिन इससे गेंदबाजों की भूमिका अहम हो जाती है और मैच रोमांचक हो जाता है। ’’

‘प्लेयर आफ द मैच’ मैकग्रा ने दबाव में संयम बनाये रखा, उन्होंने कहा कि परिस्थितियां थोड़ी पेचीदा थीं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह अच्छा अहसास है। गेंदबाजों ने पहले हमारे लिये चीजें आसान कीं। गेंद थोड़ी रूक कर आ रही थी, खेलने में मुश्किल हो रही थी लेकिन अंत में हम जीत गये। ’’

भारतीय महिला टीम दूसरे टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया से चार विकेट से हारी

ऑलराउंडर ताहलिया मैकग्राथ की 42 रनों की नाबाद पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया महिला क्रिकेट टीम ने यहां शनिवार को दूसरे टी-20 मुकाबले में भारतीय महिला टीम को चार विकेट से हरा दिया। इसी के साथ ऑस्ट्रेलिया ने तीन मैचों की इस सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली।

भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में नौ विकेट पर 118 रन ही बना पाई। जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 19.1 ओवर में छह विकेट विकेट पर 119 रन बना कर मैच जीत लिया। इस जीत में ताहलिया मैकग्राथ ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

ताहलिया ने 42 रनों की शानदार नाबाद पारी के दम पर टीम को जीत दिलाई। उन्होंने छह चौकों के सहारे 33 गेंदों पर 42 रन बनाए। जॉर्जिया वेयरहैम ने अंत में उनका साथ दिया और दो चौकों की बदौलत सात गेंदों पर 10 रन बनाए। उनके अलावा सलामी बल्लेबाज बेथ मूनी ने चार चौकों की मदद से 36 गेंदों पर 34 और कप्तान मेग लैनिंग ने दो चौकों की मदद से 20 गेंदों पर 15 रन बनाए। ताहिलया को मैच विजयी पारी के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ चुना गया।

भारतीय गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की, लेकिन स्कोर को डिफेंड नहीं कर पाए। लेफ्ट आर्म स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड़ ने चार ओवर में 21 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट लिए। इसके अलावा कप्तान हरमनप्रीत कौर, दीप्ति शर्मा और शिखा पांडे ने एक-एक विकेट लिया। इससे पहले बल्लेबाजी में पूजा वस्त्राकर ने तीन चौकों और दो छक्कों के सहारे 26 गेंदों पर सर्वाधिक 37, जबकि हरमनप्रीत ने पांच चौकों की मदद से 20 गेंदों पर 28 रन बनाए।

ऑस्ट्रेलिया की तरफ से तायला व्लामिन्क और सोफी मोलिनक्स ने दो-दो, जबकि एशले गार्डनर, जॉर्जिया वेयरहैम और निकोला केरी ने एक-एक विकेट लिया। दाेनों टीमों के बीच यहां कल तीसरा और आखिरी टी-20 मैच खेला जाएगा। फिलहाल ऑस्ट्रेलिया के पास 1-0 की बढ़त। बीते गुरुवार को बारिश की वजह से पहला मैच बीच में ही रद्द कर दिया गया था।



और भी पढ़ें :