भारतीय क्रिकेट टीम अंडर 19 वर्ल्ड कप में मुसीबत में, कैसे खेल पाएगी अगले मैचेस? कड़े नियम आ सकते हैं आड़े

Last Updated: शुक्रवार, 21 जनवरी 2022 (15:05 IST)
हमें फॉलो करें
अंडर 19 विश्व कप के दूसरे मैच के बस कुछ घंटे पहले भारतीय टीम प्रबंधन ने पाया कि उनके दल के 17 में से छह खिलाड़ी या तो कोरोना पॉज़िटिव हैं या तो उनमें कोविड 19 के लक्षण हैं। इसलिए उस मैच के लिए सिर्फ़ 11 खिलाड़ी ही उपलब्ध थे और वे ही मैदान पर उतरे। भारत ने आयरलैंड के ख़िलाफ़ वह मैच आसानी से 174 रन से जीत लिया, लेकिन इसके आगे क्या?


भारतीय कप्तान यश धुल, उपकप्तान शेख़ रशीद, बल्लेबाज़ सिद्धार्थ यादव और विकेटकीपर आराध्य यादव कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं, जबकि हरफ़नमौला मानव पारख और तेज़ गेंदबाज़ वासु वत्स में इसके लक्षण दिखाई दिए हैं।


युगांडा के ख़िलाफ़ मैच कितना प्रभावित होगा?
दक्षिण अफ़्रीका और आयरलैंड को हराकर भारत पहले से ही क्वार्टर फ़ाइनल में पहुंच चुका है। उनका अंतिम ग्रुप मैच शनिवार को युगांडा के ख़िलाफ़ है। कोरोना पॉज़िटिव खिलाड़ियों के लिए अनिवार्य क्वारन्टीन समय 10 दिन है, इसलिए बहुत संभव है कि भारतीय टीम बिना किसी बदलाव के ही इस मैच में उतरे। हालांकि उनके पास कोई भी सब्स्टीट्यूट फ़ील्डर उपलब्ध नहीं होगा।

क्वार्टर फ़ाइनल का क्या होगा?
अगर भारत युगांडा के ख़िलाफ़ मैच भी जीत जाता है तो संभवतः उनका क्वार्टर फ़ाइनल मुक़ाबला 29 जनवरी को बांग्लादेश के ख़िलाफ़ होगा। लेकिन यह मुक़ाबला एंटिगा द्वीप पर होगा, जहां पर केवल कोविड निगेटिव लोगों को ही जाने की अनुमति है। ये छह खिलाड़ी 10 दिन के क्वारन्टीन पीरियड के बाद निगेटिव हो भी जाते हैं तो भी वह महत्वपूर्ण अभ्यास सत्रों में शामिल नहीं हो पाएंगे। वहीं इस किशोर उम्र में उनके लिए तुरंत बीमारी से आकर खेलना भी मुश्किल हो सकता है।

अगर भारतीय दल में और पॉज़िटिव मामले आते हैं तो:
आईसीसी के नियमानुसार जब तक टीम के पास 11 खिलाड़ी उपलब्ध होंगे तब तक मैच को स्थगित नहीं किया जा सकता है। हालांकि 11 खिलाड़ी उपलब्ध नहीं होने की स्थिति में टूर्नामेंट की तकनीक कमेटी मैच को स्थगित कर भविष्य के लिए टाल सकती है या फिर उसे त्रिनिदाद में ही करा सकती है, जहां पर भारतीय टीम ग्रुप मुक़ाबला खेल रही है।

क्या बीसीसीआई ऐसी परिस्थिति के लिए तैयार थी?
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इस टूर्नामेंट के लिए पांच रिज़र्व खिलाड़ियों ऋषित रेड्डी, उदय सहरन, अंश गोसाई, अमित राज उपाध्याय और पीएम सिंह राठौड़ की घोषणा की थी, लेकिन क्रिकइंफ़ो को मिली जानकारी के मुताबिक़ ये सभी वेस्टइंडीज़ नहीं गए हैं। ज़रूरत पड़ने पर ये वेस्टइंडीज़ जा सकते हैं। हालांकि वहां पर उन्हें अनिवार्य क्वारन्टीन पूरा करना होगा तभी वह भारतीय दल में शामिल किए जा सकते हैं। वहीं इंग्लैंड जैसी टीमें अपने साथ दो रिज़र्व खिलाड़ियों को भी ले गई हैं, ताकि ज़रूरत पड़ने पर उन्हें दल में तुरंत शामिल किया जा सके।(वार्ता)



और भी पढ़ें :