मंकी गेट, पब में झगड़ा, फैन को जड़ा थप्पड़, विवादों से चोली दामन का साथ रहा एंड्र्यू साइमंड्स का

पुनः संशोधित रविवार, 15 मई 2022 (17:57 IST)
हमें फॉलो करें
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर का नाम सुनते ही सबसे पहले जहन में के साथ हुआ विवाद याद आता है। इस बात में कोई संदेह नहीं है साइमंड्स ने अपने करियर में जितने रिकॉर्ड नहीं बनाए, उससे अधिक उनका नाम विवादों से जुड़ा रहा।

अगले महीने यानि की 9 जून 2022 को वह अपना 47वां जन्मदिन मनाते लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था और यह कंगारू हरफनमौला खिलाड़ी एक कार दुर्घटना के कारण इस दुनिया से विदा हो गया। क्रिकेट के बैड बॉय कहे जाने वाले साइमंड्स के उन विवादों पर एक नजर डालते हैं, जिन्हें आज भी क्रिकेट जगत नहीं भुला सका है।

विवाद आज भी फैंस को है याद

2007-2008 का ऑस्ट्रेलिया दौरा भारत को एंड्रयू साइमंड्स और हरभजन सिंह के बीच हुए विवाद ने हमेशा-हमेशा के लिए क्रिकेट गलियारों में चर्चा का विषय बना दिया। सिडनी टेस्ट में एंड्रयू साइमंड्रस ने 2008 ने भज्जी पर आरोप लगाया कि उन्होंने उनपर नस्लीय टिप्पणी की। उनका आरोप था कि भज्जी ने उन्हें मैदान पर कहासुनी के दौरान मंकी कहा। भारतीय स्पिनर ने इससे साफ इनकार किया।

मामला बढ़ा तो हरभजन को बैन कर दिया गया। लेकिन जज के सामने सुनवाई के दौरान उन्होंने अपनी सफाई में बताया कि उन्होंने मंकी नहीं बल्कि मैनू की कहा था। इस पंजाबी शब्द के चलते गलतफहमी हुई। भज्जी के बैन के चलते भारतीय टीम में आक्रोश देखने को मिला था,अनिल कुंबले की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने बचे हुए 2 मैच खेलने से इनकार कर दिया था। मगर खिलाड़ियों को समझाने-बुझाने के बाद वह मैच खेलने के लिए तैयार हुए। हालांकि बाद में हरभजन को क्लीन चिट मिल गई और दौरा पूरा हुआ।
मगर ये तो मानो साइमंड्स के करियर में विवादों की शुरुआत मात्र थी। फिर जो सिलसिला शुरु हुआ, उनके करियर के अंतिम मोड़ तक चला। एक बार टीम मीटिंग में शामिल होने के बजाए वे मछली पकड़ने चले गए। ये सुनकर आज हैरानी होती है, मगर ये हकीकत है और उनको इसकेलिए फटकार भी लगाई गई थी।

पब में भी किया झगड़ा
फिर एक पब में उनका झगड़ा हो गया। 2009 में शराब पीकर विवाद में पड़ गए थे, जिसके चलते उन्हें वर्ल्ड टी20 के दौरान उन्हें घर भेज दिया गया था। इसी तरह क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के तत्कालीन सीईओ मैल्कम स्पीड से कॉन्ट्रेक्ट मीटिंग के लिए मिलने के लिए वे नंगे पैर और काऊबॉय हैट पहनकर पहुंच गए थे। वे शराब पीकर कई विवादों में पड़े। बाद में सामने आया था कि उन्हें शराब पीने की बीमारी हो गई थी।
एशेज मैच से पहले चले गए रग्बी खेलने
ऐसा ही एक विवाद एशेज की तैयारी के दौरान हुआ था। दरअसल, जब सारी ऑस्ट्रेलियाई टीम एशेज सीरीज की तैयारी कर रही थी, तो साइमंड्स रग्बी खेलने चले गए। जब वह वापस आए और रिकी पोंटिंग ने उनसे सवाल-जवाब किए, तो वह पोंटिंग से ही उलझ गए और उनका कहना था कि एशेज की तैयारी से ज्यादा उनके लिए रग्बी का मैच जरुरी था।

प्रशंसक पर किया था वार

ब्रिसबेन में उनके साथ झड़प में शामिल व्यक्ति ने दावा किया था कि ऑस्ट्रेलिया के इस विवादास्पद ऑलराउंडर ने उकसावे के बिना उन्हें कोहनी मारी थी।

रॉबर्ट के रूप में पहचाने गए इस 22 वर्षीय शख्स ने कहा था कि जब इस ऑलराउंडर ने अपना आपा खोया और उन्हें कोहनी मारी थी, तब वह सिर्फ उनकी फोटो खींचने का प्रयास कर रहे थे।

उसने 'द संडे टेलीग्राफ' से कहा मैं साइमंड्स के पास गया था। हालाँकि मैंने इजाजत नहीं माँगी, लेकिन उनके कंधे पर हाथ रखा आक्रामकता के साथ नहीं और फोन से उनकी फोटो खींच ली थी



और भी पढ़ें :