जी एंटरटेनमेंट व सोनी इंडिया ने की विलय की घोषणा, पुनीत गोयनका नई इकाई का नेतृत्व करेंगे

Last Updated: बुधवार, 22 सितम्बर 2021 (11:11 IST)
नई दिल्ली। प्रमुख मीडिया फर्म और सोनी पिक्चर्स ने बुधवार को कहा कि उन्हें के लिए सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है जिसके तहत दोनों कंपनियों के लाइनर नेटवर्क, डिजिटल संपत्ति, निर्माण परिचालन और कार्यक्रम लाइब्रेरी को साथ लाया जाएगा।
ALSO READ:

अमेरिकी यात्रा पर जाने से पहले क्या बोले पीएम मोदी...

सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (एसपीएनआई) ने एक बयान में कहा कि उसकी मूल कंपनी सोनी पिक्चर्स एंटरटेनमेंट आगे और निवेश करेगी ताकि एसपीएनआई के पास लगभग 1.575 अरब अमेरिकी डॉलर का नकद अधिशेष हो। जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेस लिमिटेड (जील) के अनुसार जील और एसपीएनआई के मौजूदा अनुमानित इक्विटी मूल्यों के आधार पर जील के पक्ष में सांकेतिक विलय अनुपात 61.25 प्रतिशत है।


जील ने आगे कहा कि हालांकि एसपीएनआई में वृद्धि पूंजी के प्रस्तावित निवेश के बाद नई इकाई में जील की हिस्सेदारी 47.07 प्रतिशत और शेष 52.93 प्रतिशत हिस्सेदारी एसपीएनआई के पास रहने की उम्मीद है। बयान में यह भी कहा गया कि जी एंटरटेनमेंट के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पुनीत गोयनका विलय के बाद बनी इकाई का नेतृत्व करते रहेंगे। हालांकि, गोयनका कंपनी के दो सबसे बड़े शेयरधारकों- इनवेस्को और ओएफआई ग्लोबल चाइना फंड एलएलसी द्वारा पद छोड़ने के दबाव का सामना कर रहे हैं।


दोनों कंपनियों के टीवी कारोबार, डिजिटल एसेट्स, प्रोडक्शन ऑपरेशंस और प्रोग्राम लाइब्रेरी को भी विलय किया जाएगा, वहीं जील और एसपीएनआई के बीच एक्सक्लूसिव नॉन-बाइंडिंग टर्म शीट का करार हुआ है। 47.07% हिस्सा जील शेयरधारकों के पास होगा और शेष 52.93% विलय वाली इकाई एसपीएनआई शेयरधारकों के पास होगी।
बोर्ड ने कहा है कि विलय से शेयरहोल्डर और हिस्सेदारों के हितों का कोई नुकसान नहीं होगा। सोनी पिक्चर्स एंटरटेनमेंट विलय के बाद 1.575 अरब डॉलर का निवेश करेगी। विलय के बाद सोनी एंटरटेनमेंट मेजॉरिटी शेयरहोल्डर होगी। मौजूदा स्थिति में जील के शेयरहोल्डर्स का हिस्सा 61.25% होगा। 1.575 अरब डॉलर के निवेश के बाद हिस्सेदारी में बदलाव आएगा। इस निवेश के बाद जील के निवेशकों का हिस्सा करीब 47.07% होगा। सोनी पिक्चर्स के शेयरहोल्डर्स का हिस्सा 52.93% रहने का अनुमान है।(भाषा)



और भी पढ़ें :