Lal Kitab : कुंडली में बुध कहीं पर भी हो, ये 7 कार्य भूलकर भी ना करें

budh
के अनुसार का दिन माता दुर्गा का दिन माना जाता है। बुधवार का ग्रह है बुध और इस ग्रह के दूषित होने से नौकरी, व्यापार, बुद्धि सहित शरीर के कई अंगों पर यह असर पड़ता है। आओ संक्षिप्त में जानते हैं कि लाल किताब अनुसार बुध ग्रह कुंडली में कहीं पर भी स्थित है ये 7 कार्य भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

1. बुध छठे या अष्टम में है तो बेटी और बहनों से खराब संबंध नहीं रखना चाहिए।
2. सूर्य-बुध की युति ग्यारहवें भाव में हो तो अपने घर में कोई किराएदार न रखें।
3. बुध चौथे भाव में हो तो घर में तोता नहीं पालें।
4. बुध-शुक्र की युति हो तो गादी पर न सोएं।
5. बुध बलवान होने पर- कलम का दान न करें।
6. बहन, बुआ, बेटी, साली और ननिहाल पक्ष से संबंध खराब है तो बर्बादी।
7. वाणी खराब, झूठ बोलते या गप्प लड़ाते हैं तो व्यापार और नौकरी में नुकसान।



और भी पढ़ें :