0

श्रीकृष्ण के 108 नाम : सौभाग्य, ऐश्वर्य, यश, कीर्ति, पराक्रम मिलेगा,आज करें जाप

सोमवार,अगस्त 30, 2021
0
1
30 अगस्त का दिन सोमवार है। अष्टमी तिथि 29 August की रात 10:10 बजे प्रवेश कर जायेगी जो सोमवार रात 12:24 तक रहेगी। रात में 12: 24 तक अष्टमी है। इसके बाद नवमी तिथि प्रवेश कर जायेगी। इस दौरान चंद्रमा वृष राशि में मौजूद रहेगा।
1
2
30 अगस्त 2021 को सबके प्रिय सलोने कान्हा का जन्मदिन है...देश विदेश में यह दिन धूमधाम से मनाया जाता है....हमने सिर्फ आपके लिए श्री कृष्ण से संबंधित दुर्लभ और खास जानकारी इन तीन लिंक्स में समेटी है.... पूजा से पहले अवश्य क्लिक कीजिए....
2
3
जन्माष्टमी पर रात में 12 बजे श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप का जन्म कराएं ठीक ऐसे जैसे घर में बच्चे का जन्म हो रहा हो...
3
4
गोपी मनोहर, श्याम, गोविंद, मुरारी, मुरलीधर, कान्हा, श्रीकृष्णा, गोपाल, घनश्याम, बाल मुकुन्द... जाने कितने सुहाने नामों से पुकारे जाने वाले यह खूबसूरत देव दिलों के बेहद करीब लगते हैं। इनकी पूजा का ढंग भी उनकी तरह ही निराला है। आइए जानें कैसे करें ...
4
4
5
इस वर्ष सोमवार, 30 अगस्त 2021 जन्माष्टमी मनाई जा रही है। यहां आपके लिए श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर पूजन सामग्री की यह सूची विशेष रूप से तैयार की गई है। कान्हा की विधिवत पूजन से पूर्व आप भी जुटाएं यह समस्त सामग्री...। पढ़ें संपूर्ण सामग्री की सूची-
5
6
श्रीकृष्ण जन्माष्‍टमी का पावन पर्व हैं। इस दिन उनके नामों को पढ़ने से जीवन में शुभता आती है। श्रीकृष्ण के एक हजार नामों द्वारा पूर्व प्रज्ज्वलित अग्निकुंड में आहुति प्रदान करवाने के लिए आचार्य तिल, चंदन का चूरा, शकर, शाकल्य, कमलगट्टा, मखाना, जौ, इन ...
6
7
प्रतिवर्ष भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इस साल 30 अगस्त को जन्माष्टमी का पावन पर्व मनाया जाएगा। आओ जानते हैं कि इस बार दुर्लभ योग बन रहे हैं।
7
8
भारत के गुजरात राज्य के पश्चिमी सिरे पर समुद्र के किनारे स्थित 4 धामों में से 1 धाम और 7 पवित्र पुरियों में से एक पुरी है द्वारिका। यहां पर श्रीकृष्ण का एक प्राचीन मंदिर है और समुद्र में डूबी हुई द्वारिका नगरी। यह भगवान श्रीकृष्ण की नगरी है, जहां ...
8
8
9
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार 30 अगस्त, दिन सोमवार को है। जानिए जन्माष्टमी के शुभ संयोग, शुभ मुहूर्त और व्रत पारण का समय-
9
10
श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी का महोत्सव हिन्दू कैलेंडर के अनुसार हर वर्ष भाद्रपद की कृष्ण अष्टमी को मनाया जाता हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 30 अगस्त 2021 सोमवार को श्री कृष्ण का 5248वां जन्मोत्सव मनाया जाएगा।
10
11
प्रेम और दाम्पत्य जीवन के लिए राधा कृष्ण की, संतान के लिए बाल कृष्ण की और सभी मनोकामनाओं के लिए बंशी वाले कृष्ण की स्थापना करें। इस दिन शंख और शालिग्राम की स्थापना भी कर सकते हैं।
11
12
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार भाद्रपद की अष्‍टमी को कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन भगवान कृष्‍ण का जन्म हुआ था। इस बार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 30 अगस्त को जन्मोत्सव मनाया जाएगा। आओ जानते हैं कि राशि के अनुसार किस तरह करें ...
12
13
30 अगस्त 2021, सोमवार को श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी त्योहार मनाया जाएगा। हर वर्ष भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी पर्व मनाया जाता हैं। यहां पढ़ें समग्र सामग्री, एक ही स्थान पर...
13
14
भादो कृष्ण अष्टमी इस वर्ष सोमवार, 30 अगस्त 2021 को आ रही है। इस दिन रोहिणी नक्षत्र है। वृषभ का चंद्र है। सोमवार का दिन है। अर्द्धरात्रि में अष्टमी का होना शुभ है
14
15
भाद्रपद कृष्ण अष्टमी की घनघोर अंधेरी आधी रात को रोहिणी नक्षत्र में मथुरा के कारागार में वसुदेव की पत्नी देवकी के गर्भ से भगवान श्रीकृष्ण ने जन्म लिया था। इसीलिए इस दिन को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कहते हैं
15
16
श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी का महोत्सव हिन्दू कैलेंडर के अनुसार हर वर्ष भाद्रपद की कृष्ण अष्टमी को मनाया जाता हैं। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार कब मनाया जाएगा, क्योंकि कुछ लोग 29 और बहुत से लोग 30 अगस्त को कृष्‍ण जन्माष्टमी मनाने की बात कर रहे हैं। ऐसे में ...
16
17
हर वर्ष भाद्रपद की कृष्ण अष्टमी को श्रीकृष्‍ण जन्माष्टमी पर्व मनाया जाता हैं। इस बार 30 अगस्त 2021, सोमवार को यह त्योहार मनाया जाएगा। हम सभी भगवान श्रीकृष्ण को मनमोहन, केशव, श्याम, गोपाल, कान्हा, श्रीकृष्णा, घनश्याम, बाल मुकुंद,
17
18
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार भाद्रपद में कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्‍ण जन्मोत्सव मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 30 अगस्त 2020 सोमवार को उनका 5248वां जन्मोत्सव मनाया जाएगा। आओ जानते हैं उनके जन्म के समय घटी 10 महत्वपूर्ण घटनाएं ...
18
19
हिन्दू कैलेंडर के अनुसार भाद्रपद में कृष्ण पक्ष की अष्टमी को श्रीकृष्‍ण जन्मोत्सव मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 30 अगस्त 2020 सोमवार को उनका 5248वां जन्मोत्सव मनाया जाएगा। आओ जानते हैं उनके बचपन की 11 रोचक कहानियां।
19
20
भगवान श्री कृष्ण ने अपनी औपचारिक शिक्षा उज्जैन के संदीपनी आश्रम में मात्र कुछ महीनों में पूरी कर ली थी। जहां उन्होंने 16 विद्या और 64 कलाओं को सीखा था। भगवान श्रीकृष्‍ण प्रेम में जितने पारंगत थे उतने ही युद्ध में भी पारंगत था। उन्होंने अपने जीवन में ...
20
21
इस साल जन्माष्टमी पर राशि के हिसाब से लगाएं भगवान श्रीकृष्ण को भोग-जन्माष्टमी पर राशि के अनुसार कौन सा प्रसाद चढ़ाएं....
21
22
ब्रज मंडल में श्रीकृष्ण जन्म उत्सव की शुरुआत श्रावण माह से ही प्रारंभ हो जाती है। कान्हा का जन्म भाद्रपद के कृष्‍ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। इस बार कृष्ण जन्माष्टमी का 5248वां पर्व 30 अगस्त दिन सोमवार रात्रि को मनाया जाएगा। आओ जानते हैं कि ...
22
23
हर साल भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र में भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाता है। इस साल 30 अगस्त को जन्माष्टमी का पावन पर्व मनाया जाएगा। आओ जानते हैं कि इस विशेष दिन आर्थिक तंगी दूर करने और कर्ज से मुक्त होने के ...
23
24
भगवान श्रीकृष्‍ण का सभी अवतारों में सर्वोच्च स्थान है। संपूर्ण भारत में उन्हीं के सबसे अधिक और प्रसिद्ध मंदिर है। दुनियाभर में उन्हीं पर शोध हो रहे हैं और दुनियाभर के लोग उन्हीं को सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। वे देश, धर्म और संप्रदाय से उपर उठकर ...
24
25
आरती कुंजबिहारी की श्री गिरिधर कृष्ण मुरारी की। गले में बैजन्तीमाला बजावैं मुरलि मधुर बाला॥
25
26
जन्माष्टमी पर बाल-गोपाल को क्यों लगाया जाता है छपन्न भोग। इसके पीछे कुछ रोचक और मान्यताएं हैं। धार्मिक शास्त्रों के अनुसार भगवान श्री कृष्ण को छप्पन प्रकार के व्यंजन परोसे जाते हैं जिसे 56 भोग कहा जाता है।
26
27
कहते हैं कि भगवान कृष्ण की 16,108 पत्नियां थीं। क्या यह सही है? इस संबंध में कई कथाएं प्रचलित हैं और लोगों में इसको लेकर जिज्ञासा भी है। आइए, जानते हैं कि कृष्ण की 16,108 पत्नियां होने के पीछे राज क्या है।
27
28
यह तो सभी जानते हैं कि भगवान श्रीकृष्‍ण का जन्म मथुरा में कंस के कारागार में हुआ। गोकुल और वृंदावन में उनका बचपन बिता और फिर किशोरावस्था में वे मुथरा में रहकर कंस वध के बाद जरासंध से युद्ध करते रहे। बाद में उन्होंने प्रभाष क्षेत्र में समुद्र के ...
28
29
ब्रज मंडल में श्रीकृष्ण जन्म उत्सव की शुरुआत श्रावण माह से ही प्रारंभ हो जाती है। कान्हा का जन्म भाद्रपद के कृष्‍ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। इस बार कृष्ण जन्माष्टमी का 5248वां पर्व 30 अगस्त दिन सोमवार रात्रि को मनाया जाएगा। श्रीकृष्ण का ...
29
30
अध्यात्म जगत में 14 विद्याएं और 64 कलाएं होती हैं जिसमें श्रीकृण पारंगत हैं। विद्या दो प्रकार की होती है परा और अपरा विद्या। इसी तरह कलाएं भी दो प्रकार की होती है। पहली सांसारिक कलाएं और दूसरी आध्यात्मिक कलाएं। भगवान श्रीकृष्‍ण सांसारिक और ...
30
31
श्री कृष्ण का जन्मोत्सव भाद्रपद की कृष्‍ण अष्टमी को मनाया जाता है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार 30 अगस्त दिन सोमवार को देर रात 01 बजकर 59 मिनट पर यह पर्व मनाया जाएगा। इस बार श्रीकृष्ण का 5248वां जन्मोत्सव मनाया जाएगा। राम, महावीर और बुध एक रंगी ...
31
32
30 अगस्त, सोमवार को भगवान श्री कृष्ण का जन्माष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। यह पर्व धार्मिक दृष्टि से बहुत ही खास माना गया है। दुनियाभर में श्री कृष्ण के भक्तों की संख्या अनगिनत हैं।
32