पंजाब किंग्स ने रोमांचक मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को 11 रनों से दी मात

Last Updated: मंगलवार, 26 अप्रैल 2022 (00:31 IST)
हमें फॉलो करें
मुम्बई:सलामी बल्लेबाज की नाबाद 88 रन की विस्फोटक पारी की बदौलत पंजाब किंग्स ने चेन्नई सुपर किंग्स को आईपीएल मुकाबले में सोमवार को 11 रन से पराजित कर अपनी चौथी जीत हासिल की।
पंजाब ने 20 ओवर में चार विकेट पर 187 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और चेन्नई के संघर्ष को छह विकेट पर 176 रन पर थाम लिया। चेन्नई को आखिरी ओवर में 27 रन की जरूरत थी।

महेंद्र सिंह धोनी ने ऋषि धवन की पहली गेंद पर छक्का जरूर मारा लेकिन वह अपना करिश्नमा नहीं दोहरा सके और एक आसान कैच उछालकर आउट हो गए। धोनी का आउट होना था कि चेन्नई की उम्मीदें भी समाप्त हो गयीं।पंजाब की आठ मैचों में यह चौथी जीत है जबकि चेन्नई की इतने ही मैचों में छठी हार है।

शिखर ने अपने 200 वें आईपीएल मुकाबले का जश्न आईपीएल में 6000 रन पूरे करने के साथ साथ टी 20 क्रिकेट में 9000 रन भी पूरे कर मनाया। शिखर ने पारी की शुरुआत की और अंत में नाबाद पवेलियन लौटे। शिखर ने 59 गेंदों पर नाबाद 88 रन की पारी में नौ चौके और दो छक्के लगाए।

भानुका राजपक्षा ने 32 गेंदों पर 42 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। लियाम लिविंग्स्टन ने मात्र सात गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की मदद से 19 रन बनाये। कप्तान ने 21 गेंदों में 18 रन बनाये।आईपीएल में यह पहली बार है जब पंजाब ने अपनी पारी में पांच से कम विकेट गंवाए हैं। शिखर और भानुका राजपक्षा ने दूसरे विकेट के लिए 90 रन की साझेदारी की।

लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की शुरुआत अच्छी नहीं रही। रोबिन उथप्पा एक रन बनाकर संदीप शर्मा की गेंद पर ऋषि धवन के हाथों लपके गए। मिचेल सैंटनर नौ रन बनाकर तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह की गेंद पर बोल्ड हो गए। शिवम दुबे आठ रन बनाकर ऋषि धवन की गेंद पर बोल्ड हुए। चेन्नई का तीसरा विकेट 40 के स्कोर पर गिरा। लेकिन ऋतुराज गायकवाड़ और अम्बाती रायुडू ने चौथे विकेट के लिए 49 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की।

पंजाब के कप्तान मयंक अग्रवाल ने इस साझेदारी को तोड़ने के लिए कैगिसो रबादा को लेकर आये। गायकवाड ने रबादा पर चौका मारा लेकिन अगली गेंद पर मयंक के हाथों लपके गए। गायकवाड ने 27 गेंदों में चार चौकों की मदद से 30 रन बनाये। एक छोर पर जमकर खेल रहे रायुडू ने संदीप सिंह के पारी के 16वें ओवर में लगातार तीन छक्के और एक चौका मारकर 23 रन बटोरे। चेन्नई को आखिरी चार ओवर में 47 रन चाहिए थे।

अर्शदीप ने पारी का 17वां ओवर सटीक डाला। अब चेन्नई को तीन ओवर में 41 रन चाहिए थे। रबादा ने 18वें ओवर में रायुडू के स्टंप्स बिखेर दिए। अम्बाती रायुडू ने 39 गेंदों में सात चौकों और छह छक्कों की मदद से 78 रन की विस्फोटक पारी खेली। रायुडू के आउट होने के बाद महेंद्र सिंह धोनी का मैदान पर आगमन हुआ।

चेन्नई को आखिरी दो ओवर में 35 रन चाहिए थे। अब चेन्नई को आखिरी ओवर में 27 रन चाहिए थे। धोनी नेआखिरी ओवर की पहली गेंद पर छक्का मारा। दूसरी गेंद वाइड रही। अगली गेंद डॉट रही। लेकिन इसकी अगली गेंद पर धोनी कैच उछाल गए। कप्तान रवींद्र जडेजा ने पांचवीं गेंद पर छक्का मारा लेकिन तब तक बाजी हाथ से निकल चुकी थी। धोनी ने 12 रन बनाये जबकि जडेजा 21 रन पर नाबाद रहे। पंजाब की तरफ से रबादा और ऋषि धवन ने दो-दो विकेट लिए।


एक बार के लिए लगा कि चेन्नई ने पंजाब के बल्लेबाज़ों पर नियंत्रण पा लिया है लेकिन फिर धवन और राजपक्षा ने वार किया, इसके बाद लगा कि चेन्नई के बल्लेबाज़ विफल हो रहे हैं तो रायडू ने शानदार पारी खेल कर, अपनी टीम को लक्ष्य के क़रीब पहुंचा दिया। हालांकि अंत में पंजाब के गेंदबाजों ने वापसी की और मैच पंजाब की झोली में जा गिरा।(वार्ता)



और भी पढ़ें :