पहली जीत को तरस रही मुंबई इंडियन्स के सामने राजस्थान रॉयल्स की चुनौती

प्लेऑफ के नजदीक खड़ी और लगातार शानदार प्रदर्शन कर रही की टीम को आईपीएल के डीवाई पाटिल स्टेडियम में शनिवार को शाम 7.30 बजे होने वाले 44वें मैच में मुंबई इंडियंस के पलटवार से सतर्क रहना होगा।

मुम्बई की टीम लगातार आठ मैच हारकर प्लेऑफ की होड़ से बाहर हो चुकी है लेकिन अपने शेष मैचों में वह अन्य टीमों का काम खराब कर सकती है। मुम्बई के पास अब गंवाने के लिए कुछ नहीं है। वह सत्र की अपनी पहली जीत हासिल करने के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगाएगी।

हेड टू हेड रिकॉर्ड


भले ही अभी के हालात में राजस्थान का पलड़ा भारी नजर आता है लेकिन हेड टू हेड रिकॉर्ड पर नजर डालें तो मुंबई का पलड़ा भारी है। कुल 28 मैचों में से 14 में मुंबई ने बाजी मारी है और 13 में राजस्थान को जीत मिली है। सिर्फ 1 मैच बेनतीजा गया है।

राजस्थान के पास हैं औरेंज और पर्पल कैप होल्डर

राजस्थान ने कितना बेहतरीन खेल दिखाया है इसका अंदाजा इस ही बात से लगाया जा सकता है कि औरेंज और पर्पल कैप दोनों ही राजस्थान के पास है।

जॉस बटलर ने तो अपना तीसरा शतक आईपीएल 2022 में लगा दिया। ऐसे टूूर्नामेंट में जहां बल्लेबाज अपने फॉर्म के लिए जूझ रहे हो आईपीएल के पहले 35 मैचों में 3 शतक लगाना एक खास बात है। अपने 8 मैचों की 8 पारियों में जॉस बटलर 71 की शानदार औसत और 159 की बेहतरीन स्ट्राइक रेट से 499 रन बनाए हैं।

वहीं पर्पल कैप की बात करें तो यह कमाल की हैट्रिक ले चुके युजवेंद्र चहल के पास है। युजवेंद्र चहल अब तक इस सत्र में वह 8 मैचों में 32 ओवर डालकर 227 रन देकर 18 विकेट ले चुके हैं।
कोलकाता के खिलाफ किया गया उनका प्रदर्शन सर्वश्रेष्ठ है जिसमें उन्होंने 40 रन देकर 5 विकेट लिए थे।

कुछ खिलाड़ियों पर है राजस्थान की अति निर्भरता


राजस्थान इन दोनों ही खिलाड़ियों पर अति निर्भर दिखता है। बाकी खिलाड़ी लय से जूझ रहे है, जिसमें सबसे पहले नाम आता है कप्तान संजू सैमसन का। इसके अलावा देवदत्त पड्डीकल, शिमरन हिटमायर, गेंदबाजी में प्रसिद्ध कृष्णा और ट्रैंट बोल्ट। यह खिलाड़ी कभी अच्छा खेलते हैं कभी बुरा।

मुंबई के मध्यक्रम में कुछ बल्लेबाजों ने जगाया विश्वास

मुंबई ने जैसा खेल दिखाया है उसमें कोई खास बात या ताकत ढूंढना बहुत की मुश्किल है। लेकिन फिर भी मध्यक्रम के कुछ बल्लेबाज जैसे सूर्यकुमार यादव, तिलक वर्मा और डेवाल्ड ब्रेविस में से कोई एक अच्छी पारी खेलता ही है। बस किस्मत अभी मुंबई के पक्ष में नहीं दिख रही।

मुंबई की गेंदबाजी का बुरा हाल

वैसे तो मुंबई की सलामी बल्लेबाजी ने नाक कटाई है लेकिन गेंदबाजी मुंबई की सबसे बड़ी कमजोर कड़ी साबित हुई है। जसप्रीत बुमराह के अलावा सभी गेंदबाज महंगे साबित हुए है। फिर चाहे वह डेनियल सेम्स हो मुरुगन अश्विन या फिर जयदेव उनादकट। इस कारण टीम ने 1 बाएं हाथ का स्पिनर और एक तेज गेंदबाज दल में शामिल किया है।

इन खिलाड़ियों पर रहेंगी निगाहें

पहले दो मैचों को छोड़ दिया जाए तो ईशान किशन का फ्लॉप होना मुंबई इंडिन्स को खासा अखरा है। 8 मैचों में ईशान किशन ने 28.43 की मामूली औसत और स्ट्राइक रेट 108.15 से 199 रन बनाए हैं। दिल्ली के खिलाफ पहले मैच में बनाया गया उनका 49 गेंदो पर 81 रनों का स्कोर सर्वश्रेष्ठ है। इस मैच के बाद ईशान का ग्राफ लगातार गिर रहा है।

मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा के हाल तो और भी बुरे हैं। पहले मैच और पिछले मैच को छोड़ दिया जाए तो वह सस्ते में ही आउट हुए हैं। रोहित शर्मा बल्लेबाजी में इतने फ्लॉप साबित हुए हैं इसका अंदाजा इस ही बात से लगाया जा सकता है कि जयदेव उनादकट का 19.66 का बैटिंग औसत कप्तान से बेहतर है। रोहित शर्मा 8 मैचों में एक भी अर्धशतक लगाने में नाकामयाब हुए हैं। उन्होंने 126 की स्ट्राइक रेट से 153 रन बनाए हैं।

मुंबई इंडियंस के लिए अपना पहला सीज़न खेल रहे तिलक वर्मा ने मिडल ओवर में सबसे ज़्यादा रन बनाए हैं। उन्होंने 144.37 के स्ट्राइक रेट से 218 रन बनाए हैं। डीवाई पाटिल में वर्मा ने राजस्थान के ख़िलाफ़ 61 और चेन्नई सुपर किंग्स के ख़िलाफ़ नाबाद 51 रनों की पारी खेली थी।

राजस्थान के लिए एक बार फिर उसका तुरुप का पत्ता जोस बटलर रहेंगे। इंग्लैंड का यह बल्लेबाज़ इस सीज़न में बल्लेबाज़ी के हर आयाम में अव्वल साबित हुआ है। इस सीज़न में अब तक सबसे अधिक 499 रन बनाने के साथ-साथ व्यक्तिगत उच्चम स्कोर (116), सबसे ज़्यादा 50 से अधिक रन (5), सबसे अधिक 32 छक्के बटलर के ही नाम हैं। मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ खेली पिछली पांच पारियों में बटलर ने 100,41,70,89 और नाबाद 94 रन बनाए हैं।

राजस्थान के लेग स्पिनर युज़वेंद्र चहल इस समय पर्पल कैप होल्डर हैं। उन्होंने आठ मुक़ाबलों में 12.61 के औसत से 18 विकेट अपने नाम किए हैं। आईपीएल 2019 से लेकर अब तक मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ खेले कुल सात मुक़ाबलों में उन्होंने 8 की इकॉनमी से 14 विकेट झटके हैं।

वेस्टइंडीज़ का विस्फोटक बल्लेबाज़ शिमरॉन हेत्माएर इस सीज़न में अब तक लय में नज़र आया है। हेटमायर ने अब तक खेली कुल आठ पारियों में 56.75 के औसत और 171.96 के स्ट्राइक रेट से 227 रन बनाए हैं। वह इस सीज़न में डेथ ओवर्स के दौरान सबसे ज़्यादा 153 रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी हैं। यह रन उन्होंने 246.77 के स्ट्राइक रेट से बनाए हैं।

टीमें :

मुंबई इंडियन्स: रोहित शर्मा (कप्तान), अनमोलप्रीत सिंह, राहुल बुद्धि, रमनदीप सिंह, सूर्यकुमार यादव, तिलक वर्मा, टिम डेविड, अर्जुन तेंदुलकर, बासिल थम्पी, ऋतिक शौकीन, जसप्रीत बुमराह, जयदेव उनादकट, मयंक मार्कंडे, मुरुगन अश्विन, रिले मेरेडिथ, टाइमल मिल्स, अरशद खान, डेनियल सैम्स, डेवाल्ड ब्रेविस, फैबियन एलन, कीरोन पोलार्ड, संजय यादव, आर्यन जुयाल और इशान किशन।

राजस्थान रॉयल्स: यशस्वी जायसवाल, रियान पराग, शुभम गढ़वाल, ध्रुव जुरेल, कुलदीप यादव, कुलदीप सेन, तेजस बरोका, अनुनय सिंह, केसी करियप्पा, संजू सैमसन, जोस बटलर, रेसी वान डेर डुसेन, नाथन कूल्टर नाइल, जिमी नीशाम, डेरिल मिशेल, करुण नायर, ओबेद मैकॉय, नवदीप सैनी, रविचंद्रन अश्विन, ट्रेंट बोल्ट, शिमरोन हेटमायर, देवदत्त पडिक्कल, प्रसिद्ध कृष्णा और युजवेंद्र चहल।



और भी पढ़ें :