2 साल तक RCB के मुख्य कोच रहेंगे संजय बांगर, फ्रैंचाइजी ने वीडियो शेयर करके की घोषणा

Last Updated: मंगलवार, 9 नवंबर 2021 (15:23 IST)
हमें फॉलो करें
बेंगलुरू: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टीम (आरसीबी) ने मंगलवार को अपने बल्लेबाजी सलाहकार संजय बांगड़ को अगले दो साल के लिये मुख्य कोच नियुक्त किया। बांगड़ को फरवरी में टीम के बल्लेबाजी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था। वह माइक हेसन की जगह मुख्य कोच की जिम्मेदारी संभालेंगे।

आरसीबी के चेयरमैन प्रथमेश मिश्रा ने इस बारे में कहा, “आरसीबी फ्रेंचाइजी टीम के अंदर से प्रतिभाओं को समर्थन देने और उन्हें संवारने के अपने उद्देश्य के लिए प्रतिबद्ध है और संजय बांगर की नियुक्ति इस प्रतिबद्धता का प्रतिबिंब है। संजय बांगर बल्लेबाजी सलाहकार के रूप में हमारे सपोर्ट स्टाफ का हिस्सा रहे हैं और भारतीय क्रिकेट टीम के साथ बहुत समय तक काम करने के बाद वह एक खिलाड़ी और बल्लेबाजी कोच दोनों के रूप में टीम में अनुभव का खजाना लेकर आएंगे। कठोर और मजबूत चयन प्रक्रिया के बाद संजय को मुख्य कोच के रूप में चुना गया है। हमें विश्वास है कि वह अपने अनुभव का इस्तेमाल करने और टीम की क्षमता को ज्यादा से ज्यादा बढ़ाने में सक्षम होंगे। मैं संजय को इस नियुक्ति पर बधाई देता हूं और इस नए अध्याय की शुरुआत के लिए उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। ”

हेसन क्रिकेट संचालन निदेशक की अपनी वर्तमान भूमिका में टीम के साथ बने रहेंगे। आस्ट्रेलिया के साइमन कैटिच के व्यक्तिगत कारणों से पद छोड़ने के बाद यूएई में के दूसरे चरण के लिये हेसन को मुख्य कोच की अतिरिक्त भूमिका सौंपी गयी थी।

आरसीबी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से पोस्ट किए गए वीडियो में हेसन ने कहा, ‘‘आज हमने संजय बांगड़ को अगले दो साल के लिये आरसीबी का मुख्य कोच नियुक्त किया। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘संजय एक बेहद सम्मानित कोच हैं। उन्हें मुख्य रूप से बल्लेबाजी कोच के रूप में जाना जाता है लेकिन उनके पास निश्चित रूप से इससे कहीं अधिक विशेषज्ञता है।’’बांगड़ को कोचिंग का अपार अनुभव है। वह 2014 से 2019 पांच साल तक भारत की सीनियर टीम के बल्लेबाजी कोच रहे थे।

बांगर ने इस पर कहा, “ मुख्य कोच के रूप में इतनी बड़ी फ्रेंचाइजी की सेवा करना एक सम्मान और शानदार अवसर है। मैंने टीम में कुछ असाधारण और प्रतिभाशाली सदस्यों के साथ काम किया है और इस टीम को अगले स्तर तक ले जाने के लिए और इंतजार नहीं कर सकता। आईपीएल मेगा नीलामी और उसके बाद के सीजन में कई सारे काम करने की जरूरत है, लेकिन मुझे यकीन है कि प्रबंधन और सपोर्ट स्टाफ के निरंतर समर्थन के साथ हम चीजों को सही तरीके से बांट सकते हैं और दुनिया भर में अपने प्रशंसकों को खुश कर सकते हैं। ”

उल्लेखनीय है कि भारत के लिए 12 टेस्ट और 15 वनडे मैच खेलने वाले बांगर ने कई टीमों के साथ कोचिंग भूमिकाएं निभाई हैं। आईपीएल 2010 में वह कोच्चि टस्कर्स फ्रेंचाइजी के बल्लेबाजी कोच थे। 2014 आईपीएल सीजन से पहले उन्हें किंग्स इलेवन पंजाब का सहायक कोच बनाया गया। इसके बाद उसी सीजन के दौरान उन्होंने डैरेन लेहमैन से मुख्य कोच के रूप में पदभार संभाला और टीम को आईपीएल का उपविजेता बनाया। इसी वर्ष उन्हें आरसीबी का बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया गया। उन्होंने जून 2016 में जिम्बाब्वे दौरे पर गई भारतीय टीम के मुख्य कोच होने के साथ-साथ विभिन्न कोचिंग क्षमताओं बल्लेबाजी कोच और सहायक कोच के रूप में भी भारतीय टीम की सेवा की है।

गौरतलब है कि विराट कोहली ने अभी अबी रॉयल चैलेंजर्स की कप्तानी छोड़ी है। पहली चुनौती तो बांगर के सामने यह होगी कि किस को टीम का अगला कप्तान घोषित किया जाए।


इसके अलावा टीम का प्रदर्शन आईपीएल में खासा अच्छा नहीं रहा है। टीम सिर्फ 2 बार आईपीएल फाइनल में पहुंची लेकिन खिताब जीतने में अब तक नाकाम रही है।



और भी पढ़ें :