दोनों ही कप्तानों के बिना बनाए IPL 2021 फाइनल की फैंटेसी टीम, इन खिलाड़ियों को जरुर करें शामिल

पुनः संशोधित शुक्रवार, 15 अक्टूबर 2021 (13:56 IST)
दुबई: की कप्तानी वाली आईपीएल में तीसरी बार और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली चौथी बार खिताब जीतने के इरादे से शुक्रवार को होने वाले फ़ाइनल में भिड़ेंगे।

चेन्नई का यह नौंवां फ़ाइनल है जबकि कोलकाता की टीम तीसरी बार फ़ाइनल खेलेगी। दोनों टीमों ने लीग चरण में टॉप पर रहने वाली दिल्ली कैपिटल्स को हराकर फ़ाइनल का टिकट हासिल किया है। चेन्नई ने पहले क्वालीफायर में दिल्ली को चार विकेट से हराया था जबकि कोलकाता ने कल दिल्ली को रोमांचक संघर्ष में तीन विकेट से पराजित किया। चेन्नई और कोलकाता का अब कल होने वाले फ़ाइनल में आमना सामना होगा।

दो बार के विजेता कोलकाता का यह तीसरा फ़ाइनल है और उसने अपने पिछले दोनों फ़ाइनल जीते हैं जबकि चेन्नई का यह नौंवां फ़ाइनल होगा और वह तीन बार विजेता रह चुका है।

कोलकाता के कप्तान मोर्गन और चेन्नई के कप्तान धोनी मैदान पर काफी कूल नजर आते हैं लेकिन प्रदर्शन के लिहाज से दोनों कप्तानों के बीच काफी फासला है। धोनी ने दिल्ली के खिलाफ पहले क्वालीफायर में मात्र छह गेंदों पर नाबाद 18 रन बनाकर अपनी टीम को असंभव लगने वाली जीत दिलाई थी जबकि मोर्गन दूसरे क्वालीफायर में लक्ष्य का पीछा करते हुए शून्य पर आउट हो गए थे लेकिन राहुल त्रिपाठी ने रविचंद्रन अश्विन के पारी के आखिरी ओवर की पांचवीं गेंद पर सीधे छक्का जड़कर कोलकाता को फ़ाइनल में पहुंचाया था।

चेन्नई की उम्मीदों का दारोमदार उसके अनुभवी खिलाड़ियों और युवा ओपनर रुतुराज गायकवाड पर निर्भर करेगा। अनुभव की बात की जाए तो कप्तान धोनी 40 पार कर चुके हैं जबकि ड्वेन ब्रावो 38 वर्ष, फाफ डू प्लेसिस 37 वर्ष, रोबिन उथप्पा 36 वर्ष, अंबाटी रायुडू 36 वर्ष, मोईन अली 34 वर्ष और रवींद्र जडेजा 32 वर्ष पार कर चुके हैं।

इन अनुभवी खिलाड़ियों को फाइनल में कोलकाता के पास मौजूद तीन विश्व स्तरीय स्पिनरों से निपटना होगा जिनमें वरुण चक्रवर्ती का इकोनॉमी रेट 6.40, सुनील नारायण का 6.44 और शाकिब अल हसन का 6.64 है। तीनों स्पिनरों ने अब तक काफी शानदार गेंदबाजी की है। हालांकि फ़ाइनल जैसे बड़े मुकाबले में तीनों कैसा प्रदर्शन करेंगे यह देखना खासा दिलचस्प होगा। चेन्नई का चौथी बार खिताब जीतना इस बात पर भी निर्भर करेगा कि उसके अनुभवी बल्लेबाज इन तीन स्पिनरों को फ़ाइनल में कैसे खेलते हैं।

कोलकाता की बल्लेबाजी उसके युवा ओपनरों वेंकटेश अय्यर और शुभमन गिल पर निर्भर करेगी जिन्होंने दूसरे क्वालीफायर में ओपनिंग साझेदारी में 96 रन जोड़े थे।

दोनों ही कप्तानों को शामिल ना करने की सलाह

आईपीएल का फ़ाइनल दोनों कप्तानों की टक्कर का भी मुकाबला होगा। मोर्गन भी धोनी की तरह मैदान पर ज्यादा कुछ व्यक्त नहीं करते हैं। धोनी को आईपीएल फ़ाइनल खेलने की जैसे आदत पड़ चुकी है और वह इस बात को अच्छी तरह जानते हैं कि फ़ाइनल के दबाव में कैसे प्रदर्शन करना है। मोर्गन का बल्ला अब तक बिलकुल खामोश रहा है लेकिन इंग्लैंड का यह विश्व कप विजेता कप्तान अपने खिलाड़ियों से प्रदर्शन निकलवाना जानता है। दोनों की कप्तानी इस फ़ाइनल का फैसला करेगी।इस कारण फैंटेसी टीम में आज दोनों की ही जगह नहीं बनती है क्योंकि कप्तानी के कोई अंक नहीं मिलते हैं।

टीम कॉम्बिनेशन की बात की जाए तो आज 6-5 के कॉम्बिनेशन से ही टीम बनाना उचित रहेगा क्योंकि दोनों ही टीमें बहुत मजबूत है और दोनों में थोड़ा ही फासला है।

अब जान लेते हैं कि किस वर्ग में किस खिलाड़ी को लेने से आपको मिल सकता है फैंटेसी टीम में फायदा।

विकेटकीपर- विकेट कीपर में दो विकल्प हैं महेंद्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक और दोनों ही अपने बल्ले से प्रभावित करने में नाकाम रहे हैं। हालांकि धोनी ने जरुरत पड़ने पर 2 बाद चेन्नई को जिताया है लेकिन वह 18 रन से आगे नहीं जा पाए हैं। वहीं दिनेश कार्तिक भी कोई खास कमाल नहीं दिखा पाए हैं लेकिन वह धोनी से पहले बल्लेबाजी करने उतर सकते हैं इस कारण उन्हें टीम में शामिल करना चाहिए।

बल्लेबाज- शानदार फॉर्म में खेल रहे ऋतुराज गायकवाड टूर्नामेंट में 600 से ज्यादा रन बना चुके हैं जबकि अभी फ़ाइनल बाकी है। आज उनके पास औरेंज कैप पाने का बेहतरीन मौका है। इसके अलावा पिछले मैच में कमाल की बल्लेबाजी करने वाले रॉबिन उथप्पा को भी टीम में लिया जा सकता है। कोलकाता की ओर से पिछले मैच में वैंकटेश अय्यर ने शानदार अर्धशतक (55) बनाया था। उनके अलावा मध्यक्रम में राहुल त्रिपाठी को भी शामिल करना चाहिए जो 300 से ज्यादा रन बना चुके हैं।

ऑलराउंडर- चेन्नई और कोलकाता के इस मैच में ऑलराउंडर कैसा प्रदर्शन करते हैं यह मैच को प्रभावित कर सकता है। चेन्नई की ओर से रविंद्र जड़ेजा को शामिल करना चाहिए जिन्होंने गेंद और बल्ले से बेहतर प्रदर्शन किया है। ऐसा ही कुछ कोलकाता के सुनील नारायण के लिए कहा जा सकता है।

गेंदबाज- चेन्नई की ओर से जोश हेजलवुड को शामिल किया जाना चाहिए। वहीं शार्दुल ठाकुर न केवल गेंद बल्कि बल्ले से भी कमाल दिखा सकते हैं। कोलकाता की ओर से लॉकी फर्र्ग्यूसन और वरुण चक्रवर्ती को टीम में शामिल करना चाहिए।

फैंटेसी टीम- दिनेश कार्तिक, ऋतुराज गायकवाड, रॉबिन उथप्पा, वैंकटेश अय्यर, राहुल त्रिपाठी,
रविंद्र जड़ेजा, सुनील नारायण , जोश हेजलवुड, शार्दुल ठाकुर, लॉकी फर्र्ग्यूसन, वरुण चक्रवर्ती



और भी पढ़ें :