जीत के बाद लॉर्ड शार्दुल के जन्मदिन का जश्न कुछ इस तरह मनाया चेन्नई टीम ने (वीडियो)

Last Updated: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 (16:27 IST)
कोलकाता और चेन्नई के बीच हुए मैच में अगर हार और जीत का अंतर था तो वह थे। वैंकटेश अय्यर और शुभमन गिल की जोड़ी जब क्रीज पर थी तो ऐसा लग रहा था कोलकाता यह मैच आसानी से जीत के ले जाएगी।

लेकिन पारी का ग्यारहवां ओवर चेन्नई के लिए निर्णायक साबित हुआ। पहले शार्दुल ठाकुर ने सबसे खतरनाक दिख रहे वैंकटेश अय्यर को पवैलियन रवाना किया।उनकी गेंद पर रविंद्र जड़ेजा ने शानदार कैच लिया। इसी ही ओवर में नीतिश राणा का विकेट उन्होंने लिया।
इसके बाद तो कोलकाता के विकटों का पतझड़ लग गया और टीम ने 34 रनों पर 8 विकेट गंवा दिए। चेन्नई की ओर से शार्दुल ठाकुर ने सर्वाधिक 3 विकेट लिए। दिलचस्प बात यह थी अगले ही दिन यानि 16 अक्टूबर को उनका जन्मदिन चेन्नई टीम ने मनाया।

जन्मदिन के ठीक एक दिन पहले उन्होंने शानदार गेंदबाजी की और इस कारण चेन्नई के खिलाड़ी उनसे ज्यादा खुश थे। यह खुशी उनके जन्मदिन के जश्न में भी दिखी।

चेन्नई के सभी खिलाड़ियों ने केक काटने की रस्म से पहले ही उनको कोल्ड्रिंक्स से नहला दिया। इसके बाद टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उनको केक खिलाया लेकिन जल्द ही साथी खिलाड़ियों ने केक उनके मुंह पर मल दिया।
शार्दुल ठाकुर का यह टूर्नामेंट काफी यादगार साबित हुआ। उन्होंने 16 मैचों में 21 विकेट लिए। सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की फहरिस्त में उन्होंने जसप्रीत बुमराह के बराबर प्रदर्शन किया। वह चौथे स्थान पर रहे क्योंकि बुमराह ने उनसे 2 मैच कम खेलकर 21 विकेट लिए।

हाल ही में हुआ था टी-20 विश्वकप में सिलेक्शन

संयुक्त अरब अमीरात और ओमान में 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले टी20 विश्व कप के लिये भारतीय टीम में इस बुधवार को अक्षर पटेल की जगह तेज गेंदबाज आल राउंडर शारदुल ठाकुर को शामिल किया गया था।

इस बदलाव का कारण हार्दिक पांड्या का गेंदबाजी ना कर पाना रहा। दो साल पहले पीठ में स्ट्रेस फ्रैक्चर का शिकार होने वाले हार्दिक ने सर्जरी से वापसी के बाद ज्यादा गेंदबाजी नहीं की है।

कभी मोटापे से जूझ रहे थे शार्दुल ठाकुर

मुंबई की सीनियर टीम में चयन होने से पहले शार्दूल ठाकुर मोटापे से जूझ रहे थे। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुल्कर ने उनको वजन कम करने की सलाह दी ताकि वह लंबे समय तक क्रिकेट खेल पाएं। शार्दुल ठाकुर ने फिटनेस पर ध्यान दिया और इस समस्या का हल निकाला। इसके बाद उनका चयन आईपीएल में हुआ और फिर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए दरवाजा खुला।



और भी पढ़ें :