IPL-10 : फिंच का अर्धशतक, लायंस ने किया बेंगलुरु का शिकार

Last Updated: शुक्रवार, 28 अप्रैल 2017 (00:22 IST)
बेंगलुरु। के मुकाबले में आज ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 37 गेंद शेष रहते 7 विकेट से करारी शिकस्त दी। गुजरात ने पहले कसी हुई गेंदबाजी से आरसीबी को 134 रनों पर समेट दिया और फिर 13.5 ओवर में 3 विकेट खोकर 135 रन बना डाले। गुजरात के लिए आरोन फिंच ने 34 गेंदों पर 72 रनों की धुआंधार पारी खेली, जिसमें 5 चौके और 6 छक्के शामिल थे। इसके बाद कप्तान सुरेश रैना ने नाबाद 34 रन ठोंककर टीम को आसान जीत दिला दी।
आईपीएल के इस संस्करण में विराट कोहली की अगुवाई वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम 9 मैचों में से 6 मैच हारने के बाद 5 अंकों के साथ सातवें स्थान पर खिसक गई है जबकि दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम 6 मैचों में 4 अंक अर्जित करने के साथ आठवें पायदान पर है। कोलताता नाइटराइडर्स 8 मैचों में 12 अंक (नेट रन रेट +1153) के साथ शीर्ष स्थान पर है जबकि मुंबई इंडियंस 8 मैचों में 12 अंक (नेट रन +0514) दूसरे स्थान पर चल रही है।

135 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुजरात की टीम की जीत को फिंच की 72 रनों की विस्फोटक पारी ने आसान बना डाला। फिंच को ऑलराउंडर पवन नेगी ने डीविलियर्स के हाथों कैच कराया। फिंच का लीग के 10वें संस्करण में यह पहला अर्धशतक था। फिंच ने कप्तान सुरेश रैना (नाबाद 34) के साथ तीसरे विकेट के लिए आठ ओवरो में 92 रन की मैच विजयी साझेदारी की। रैना ने 30 गेंदों में 34 रन की अपनी नाबाद पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया।





बेंगलुरु से मिले 135 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी गुजरात की शुरुआत ठीक नहीं रही और उसने 23 रन के अंदर अपने ओपनरों इशान किशन (16) और आईपीएल में अपना 100वां मैच खेल रहे ब्रैंडन मैकुलम (3) का विकेट गंवा दिया।






किशन ने 11 गेंदो में 16 रन की अपनी पारी में चार चौके लगाए। उन्हें लेग स्पिनर सैमुअल बद्री ने पगबाधा किया। इसके बाद मैकुलम भी कुछ खास नहीं कर सके और छह गेंदों में तीन रन बनाकर बद्री की गेंद पर डीविलियर्स को कैच दे बैठे। ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने चार गेंदों में नाबाद दो रन बनाए। बेंगलुरु की तरफ से बद्री ने तीन ओवर में 29 रन देकर दो विकेट लिए। नेगी ने दो ओवर में 24 रन पर एक विकेट हासिल किया।





इससे पहले दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों से सजी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की टीम एक और फ्लॉप प्रदर्शन करते हुए 134 रन पर ढेर हो गई। यह पहली बार है, जब बेंगलुरु की टीम लगातार दूसरे मैच में ऑलआउट हुई है।






'मैन आफ द मैच' तेज गेंदबाज एंड्रयू टाई (12 रन पर तीन विकेट) की अगुवाई में गुजरात के गेंदबाजों ने जबर्दस्त प्रदर्शन करते हुए बेंगलुरु के बल्लेबाजों को खुलकर खेलने का कोई मौका नहीं दिया। यह तो भला हो केदार जाधव (31), पवन नेगी (32) और 10वें नंबर के बल्लेबात अनिकेत चौधरी (नाबाद 15) का, जिनकी बदौलत बेंगलुरु ने अपना कुछ सम्मान बचा लिया। वरना एक समय बेंगलुरु के पांच विकेट मात्र 60 रन पर गिर चुके थे।










कप्तान विराट कोहली 13 गेंदों में एक छक्के के सहारे 10 रन, क्रिस गेल 11 गेंदों में एक चौकी की मदद से आठ रन और एबी डीविलयर्स 11 गेंदों में मात्र पांच रन ही बना सके। दुनिया के तीन सबसे विस्फोटक बल्लेबाज कुल 35 गेंदों में मात्र 23 रन ही बना सके।











केदार जाधव ने 18 गेंदों पर 31 रन में चार चौके और एक छक्का लगाया जबकि ऑलराउंडर पवन नेगी ने 19 गेंदों पर 32 रन में तीन चौके और दो छक्के मारे। अनिकेत चौधरी ने 12 गेंदों पर नाबाद 15 रन में एक चौका लगाया। बेंगलुरु की पारी आखिरी गेंद पर सिमट गई। जाधव और नेगी ने छठे विकेट के लिए 40 रन की साझेदारी की।









बेंगलुरु ने हालांकि अच्छी शुरुआत करते हुए 3.5 ओवर में 22 रन जोड़े लेकिन फिर इसी स्कोर पर उसने विराट, गेल और हैड के विकेट गंवा दिए। बेंगलुरु का एक झटके में स्कोर तीन विकेट पर 22 रन हो गया, जिसके बाद टीम वापसी नहीं कर पाई।





इस टूर्नामेंट में हैट्रिक हासिल कर चुके एंड्रयू टाई ने एक और घातक प्रदर्शन करते हुए चार ओवर में मात्र 12 रन देकर गेल, ट्रेविस हैड (0) और मनदीप सिंह (8) के विकेट झटके। टाई ने पांचवें ओवर की पहली दो गेंदों पर गेल और हैड को पैवेलियन भेजा।




लेफ्टआर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने डीविलयर्स को सीधे थ्रो से रन आउट करने के अलावा 28 रन देकर जाधव और सैमुअल बद्री (3) के विकेट लिए। तेज गेंदबाज बासिल थम्पी ने विराट का कीमती विकेट झटका। अंकित सोनी ने पवन नेगी और जेम्स फाकनर ने श्रीनाथ अरविंद को आउट किया।



और भी पढ़ें :