नोबेल से पहले लुइज ग्‍लुक को मिल चुका है ‘पुलित्‍जर सम्‍मान’

Last Updated: शुक्रवार, 9 अक्टूबर 2020 (15:52 IST)
हमें फॉलो करें
अमेरि‍की लेखक लुइज ग्‍लुक को 2020 का नोबेल साहित्‍य सम्‍मान दिया गया है। यह पुरस्‍कार उन्‍हें उनके काव्‍य संग्रह एवेर्नो के लिए दिया गया है। आइए जानते हैं लुइज ग्‍लुक के बारे में।
लुइज ग्लुक 1943 में न्यूयॉर्क में पैदा हुईं थी। वे मसाचुसेट्स में रहती हैं। फ्रीलॉन्‍सिंग करने के अलावा वे येल और

न्यू हैवेन यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी की प्रोफेसर भी रही हैं। नोबेल उनके लिए पहला सम्‍मान नहीं है, इसके पहले उन्हें पुलित्जर अवार्ड भी मिल चुका है।

नोबेल सम्‍मान दरअसल अक्‍सर विवादों में रहा है। इसे लेकर हर बार कोई न कोई विवाद उठता ही रहा है। 11 लाख डॉलर के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए उम्मीद की जा रही है कि इस बार चुने गए विजेता के नाम पर कोई विवाद नहीं होगा। इस बार इस सम्‍मान की दौड़ में केन्या के न्गुगी वा थिंगो, कनाडा की कवि ए कार्सन और जापान के नॉवेलिस्‍ट हारुकी मुराकामी का नाम लिया जा रहा था। अंत में यह पुरस्कार अमेरिकी साहित्यकार लुइज ग्‍लुक को दिया गया।

भारत में किसे मिला था?
साल 1913 में रवींद्रनाथ टैगोर को गीतांजली के लिए साहित्य का नोबेल पुरस्कार दिया गया था। यह सम्‍मान हासिल करने वाले वे न सिर्फ पहले भारतीय हैं बल्कि पहले गैरयूरोपीय साहित्यकार भी थे। 1901 से लेकर अब तक कुल 112 नोबेल पुरस्कार दिए जा चुके हैं। इस बीच 7 साल ऐसे रहे जब ये पुरस्कार नहीं दिए गए। कुल मिलाकर अब तक दुनिया में 116 नोबेल साहित्य पुरस्कार विजेता हैं।



और भी पढ़ें :