भारत ने निभाया पड़ोसी धर्म, संकट में फंसे श्रीलंका को भेजा 40 हजार टन पेट्रोल

Last Updated: सोमवार, 23 मई 2022 (22:06 IST)
हमें फॉलो करें
कोलंबो। ने ऋण सुविधा के तहत 40,000 टन डीजल की आपूर्ति के कुछ दिनों बाद श्रीलंका को लगभग 40,000 टन पेट्रोल भेजा है। भारत का उद्देश्य अपने सबसे खराब से जूझ रहे कर्ज में डूबे इस द्वीपीय राष्ट्र (श्रीलंका) में ईंधन की भारी कमी को कम करने में मदद करना है।
ALSO READ:

पेट्रोल, डीजल पर घटा उत्पाद शुल्क, वित्त मंत्री सीतारमण ने बताया- क्यों नहीं होगा राज्यों के हिस्से पर असर?

भारत ने पड़ोसी देश को ईंधन आयात करने में मदद करने के लिए पिछले महीने 50 करोड़ डॉलर की अतिरिक्त ऋण सुविधा दी थी। श्रीलंका हाल के दिनों में अपने विदेशी मुद्रा भंडार में तेजी से गिरावट के बाद आयात के लिए भुगतान संकट से जूझ रहा है।


ने यहां एक ट्वीट में कहा कि प्रतिबद्धता पूरी हुई!! भारतीय सहायता के तहत लगभग 40,000 टन पेट्रोल आज (सोमवार को) कोलंबो पहुंचा। भारत ने शनिवार को ऋण सुविधा के तहत श्रीलंका को 40,000 टन डीजल प्रदान किया था।
श्रीलंका सरकार ने पेट्रोल-डीजल की किल्लत को देखते हुए अपने गैर-जरूरी कर्मचारियों को घर पर रहने को कहा है। सांसदों ने संसद के अध्यक्ष से उन्हें होटलों में रहने की जगह देने को कहा है, क्योंकि वे परिवहन ईंधन के अभाव में अपने घर से संसद नहीं पहुंच पा रहे हैं।



और भी पढ़ें :