शमशेरा, आलिया और ऋषि के बारे में रणबीर कपूर का Exclusive Interview

पुनः संशोधित गुरुवार, 21 जुलाई 2022 (16:24 IST)
हमें फॉलो करें
जब शमशेरा मुझे ऑफर की गई तो विश्वास ही नहीं हुआ कि ऐसी कोई फिल्म भी हो सकती है और मुझे ऑफर की जा सकती है। मैं खुश हो गया। इसके पहले जब भी मुझे कोई फिल्म ऑफर की जाती थी तो उसमें जो रोल मिलता था, वह आज के ज़माने के लड़के या फिर एक लड़का जिसकी जिंदगी में तब्दीलियां आ रही है और वह किसी मोड़ पर बैठा हुआ है, कुछ ऐसे कैरेक्टर्स आते थे, लेकिन शमशेरा का यह रोल बहुत अलग था। जब मैं फिल्म के बारे में नरेशन ले रहा था तो तय हुआ था कि मैं बल्ली का किरदार निभा लूंगा और शमशेरा का कैरेक्टर कोई और निभाएगा। उस समय तक तय नहीं किया गया था कि यह रोल कौन करेगा। ऐसे में मेरे अंदर का स्वार्थी अभिनेता जाग पड़ा और मैंने कह दिया कि क्यों न यह दोनों रोल मैं ही करूं। वैसे भी बाप-बेटे का रोल था। इसके लिए मुझे मेहनत करनी पड़ी। मैंने और करण ने इतने लुक टेस्ट किए, इतने अलग-अलग परिधानों और अलग-अलग स्टाइल किए कि यह सब थका देने वाला होता था।- यह कहना है का जो 'शमशेरा' मूवी में डबल रोल में हैं।


आप पहली बार पीरियड फिल्म कर रहे हैं और वह भी डबल रोल के साथ, क्या कहेंगे।
बहुत ही अच्छी बात है और मैं खुश हूं। इस बात को लेकर मैंने पहले भी कहा कि इस तरीके की फिल्में कभी मुझे ऑफर की नहीं जाती थी। रोमांटिक फिल्में ही ऑफर होती थी। 'शमशेरा' करने में मुझे अच्छी खासी मेहनत लगी, लेकिन मजा भी बहुत आया। मैंने जितना सोचा था उससे कई गुना अच्छी यह फिल्म बनी है। 4 साल बाद मेरी कोई फिल्म आ रही है, इस बारे में भी कहना चाहूंगा। मैं 'शमशेरा' और 'ब्रह्मास्त्र' दोनों साथ शूट कर रहा था। दोनों बड़े बजट, बड़ी सोच और भव्य फिल्में है। मैंने साल के 365 दिन काम किया। फिर कोरोना के रूप में महामारी आ गई। लॉकडाउन लग गया। इस दौरान मैंने अपने पिता को भी खोया। शायद इन सब कारणों से 4 साल बाद मेरी मूवी रिलीज हो रही है। तसल्ली इस बात कि है कि यह बढ़िया बनी है और अब मुझे लोगों की प्रतिक्रिया का इंतजार है।


संजू का किरदार अपने निभाया और अब आपके सामने 'शमशेरा' में खुद थे। कैसा रहा यह अनुभव?
बहुत ही कमाल का रहा। मुझे संजय दत्त बचपन से पसंद हैं। मेरे अलमारियों के अंदर संजय दत्त के पोस्टर लगे रहते थे। बचपन से लेकर अब तक कई बार उनसे मिला और प्रभावित भी हुआ। इस फिल्तम में उनके साथ काम कर अच्छा लगा। वैसे भी ऐसा कौन होगा जो संजय दत्त को पसंद नहीं करेगा। सेट पर जितने भी लोग थे, जैसे ही मालूम पड़ता था कि संजय दत्त सेट पर आ गए तो लोग उनसे मिलते थे। गप्पे लड़ाया करते थे। वह भी उतने ही प्यार से हर बात का जवाब दिया करते थे। वह अपने एक्टर्स की सुरक्षा का बहुत ज्यादा ध्यान रखते हैं। मैं कोई स्टंट करता था तो वह स्टंट डायरेक्टर से पूछते थे कि कोई चोट लगने की संभावना तो नहीं है? सारी सावधानियां बरती गई हैं?क्या जरूरी है कि यह वाला स्टंट रणबीर ही करे? कोई स्टंट मैन कर ले तो चलेगा क्या? और यह सब मेरे लिए ही नहीं बल्कि सबके लिए होता था। मैं लकी हूं कि मुझे संजय दत्त जैसे शख्स के साथ काम करने का मौका मिला।

आपके पिताजी फिल्म इंडस्ट्री के सदाबहार नौजवान माने जाते रहे। उनकी कोई फिल्म आप करना चाहेंगे।
मैं पापा का बहुत बड़ा फैन हूं। उनकी सारी फिल्में मैंने देखी है। मुझे बचपन से उनकी फिल्म 'जमाने को दिखाना है' बहुत पसंद है। फिल्म बहुत अच्छी थी, लेकिन चली नहीं। उसका गाना 'होगा तुमसे प्यारा कौन' अच्छा लगता है। वो फिल्म करना चाहूंगा। साथ में 'कर्ज', 'चांदनी', 'प्रेम रोग' भी मुझे बहुत अच्छी लगती हैं। ऐसा कोई दिन नहीं बीतता था जब मैं और मेरी बहन लंच या डिनर के समय पापा की फिल्म नहीं देखते थे। मैं तो अपनी मम्मी की फिल्में भी देख लिया करता था, लेकिन थोड़ा शरमाता था क्योंकि मैं जब अपनी मां को किसी और हीरो के साथ देखता तो गुस्सा आता था। पापा-मम्मी की साथ की गई फिल्में, 'रफूचक्कर' और 'खेल खेल में' भी मुझे पसंद हैं।


बहुत ही जल्द पिता भी बनने वाले हैं। कैसा महसूस कर रहे हैं?
बहुत सारे भाव एक साथ आते हैं। डर लगता है, उत्सुक भी होता हूं, इतनी ज्यादा खुशी भी होती है कि बयां नहीं कर सकता। मैं और आलिया बहुत खुश हैं। लंबे समय से आलिया हॉलीवुड फिल्म के लिए शूट कर रही थी तो हम नहीं मिल पा रहे थे। अब वो आ गई है। बातचीत कर तय करेंगे कि क्या करना है। बहुत सारी चीजें एक साथ दिमाग में आती हैं। अगर कोई मुझसे पूछता है कि पिता बनने वाली बात पर कुछ कहो तो मैं क्या कहूं? मुझे कुछ मालूम ही नहीं है कैसा होने वाला है? मैं कुछ जानता ही नहीं हूं। यह तो वही बात हो गई कि मैं आपको बता रहा हूं कि पानी कैसा होता है और कैसे उसमें बचा जाता है और कैसे इसमें तैरा जाता है लेकिन आपने कभी पानी में आपने अपना पैर भी कभी नहीं डाला है। साथ ही मैं यह कहूंगा कि इस समय मेरे दिल में माता-पिता की बहुत ज्यादा इज्जत बढ़ गई है। उन्होंने हमें संस्कार दिए हैं, माहौल दिया है ताकि हम अच्छे इंसान बनें, उसके लिए हमेशा उनका शुक्रिया अदा करता रहूंगा।

आलिया के बारे में क्या कहेंगे?
आलिया और मेरी शादी तो पिछले 5 साल से चल रही है। हम लोगों ने 5 साल पहले शादी कर ली थी। आलिया के बारे में इतना कहूंगा कि वह एक बहुत ही बेहतरीन और सुंदर शख्सियत वाली लड़की है। सालों से काम कर रही है, टैलेंट कूट-कूट कर भरा है। लोग कहते हैं कि आलिया का सुनहरा दौर चल रहा है और ऐसे में वह मां बनने वाली है। मुझे कभी नहीं लगा कि आलिया इस तरीके से सोचती भी होगी। उसने पहले भी अच्छा काम किया है और आज भी अच्छा काम कर रही है। काम की बात है तो कभी मैं छुट्टी लूंगा कभी वो छुट्टी लेगी और बच्चे का हम ध्यान रखेंगे। वैसे भी बच्चा तो भगवान की सौगात है। उनका आशीर्वाद है। हम दोनों बेसब्री से बच्चे का इंतजार कर रहे हैं।



और भी पढ़ें :