0

सप्तमी पर कैसे करें मां सरस्वती का आह्वान जानिए 10 काम की बातें

शनिवार,अक्टूबर 1, 2022
0
1
शारदीय नवरात्रि के बाद दशमी को दशहरे का पर्व मनाया जाता है। इस दिन रावण का दहन होता है। दशहरा अश्‍विन माह की दशमी को मनाते हैं। इस दिन श्रीराम ने रावण का वध कर दिया था। रावण को महान पं‍डित मना गया है, क्योंकि वह वेद शास्त्र का ज्ञाता था। आओ जानते ...
1
2
Shardiya Navratri 2022: शारदीय नवरात्रि के सातवें दिन करें मां कालरात्रि की पूजा की जाती है। इस दिन माता काली का विशेष पूजन तथा मंत्रों का जाप करने से माता प्रसन्न होकर सर्वत्र विजय दिलाती हैं। यहां पढ़ें पूजन की विधि और विशेष मंत्र-Maa kalratri ...
2
3
शारदीय नवरात्रि की शुरुआत 26 सितंबर 2022 को हुई थी। नवरात्रि के नौ दिनों में अष्टमी का दिन सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। आश्‍विन माह के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि को महाष्टमी कहते हैं। इस दिन अधिकतर घरों में व्रत का पारण होता है। यदि आप सुख, शांति, ...
3
4
Navratri 7th day : नवरात्रि का सातवां दिन देवी मां कालरात्रि के नाम है। इस दिन देवी कालरात्रि की उपासना करने से ब्रह्मांड की सारी सिद्धियों के दरवाजे खुलते हैं। इतना ही नहीं दैत्य, राक्षस, दानव, भूत, प्रेत आदि मात्र उनके नाम स्मरण करने से ही भाग ...
4
4
5
मां दुर्गा की सातवीं विभूति हैं मां कालरात्रि है। नवरात्रि की सप्तमी तिथि को इनकी पूजा और आराधना की जाती है। कालरात्रि की उपासना करने से ब्रह्मांड की सारी सिद्धियों के दरवाजे खुलने लगते हैं और तमाम असुरी शक्तियां उनके नाम के उच्चारण से ही भयभीत होकर ...
5
6
Maa Kalratri Devi Ki Aarti : नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि- 'कालरात्रि जय जय महाकाली' यह आरती करने से माता प्रसन्न होती हैं। यहां पढ़ें महाकाली की आरती- Navratri 2022 7th Day Maa Kalratri Worship Aarti
6
7
देवी दुर्गा का अवतरण मां पार्वती, माता लक्ष्‍मी और देवी सरस्वती के अंश से हुआ है। ऐसे में इन तीनों ही देवियों की नवरात्रि में पूजा की जानी चाहिए। तुलसी का पौधा देवी लक्ष्‍मी का स्वरूप है। धन, सुख और समृद्धि से जुड़ी कामनाओं की पूर्ति के लिए नवरात्रि ...
7
8
Sandhi puja time 2022 : नवरात्रि की अष्टमी को महाष्टमी या दुर्गाष्टमी कहते हैं जो कि बहुत ही महत्वपूर्ण होती है। इस दिन माता के 8वें रूप महागौरी की पूजा और आराधना की जाती है। महा अष्टमी के दिन संधि पूजा का बहुत ज्यादा महत्व है। क्या होती है ये संधि ...
8
8
9
Shardiya Navratri 2022: शारदीय नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा की जाती है। मां दुर्गा की छठवीं शक्ति की साधना गोधूली काल में करने का अधिक महत्व है। यह माता कुंवारी कन्याओं की विवाह बाधा दूर कर‍ती हैं। आइए जानते हैं पूजन विधि और ...
9
10
Navratri hawan mantra : कई घरों में नवरात्रि पर सप्तमी, अष्टमी या नवमी की पूजा होती है। पूजा के बाद हवन भी किया जाता है। हवन तो विधिवत रूप से पंडितजी ही करवाते हैं, लेकिन यदि आप खुद ही सरल विधि से घर में हवन करना चाहते हैं तो यहां प्रस्तुत है सरल ...
10
11
दशहरे पर जब लोग रावण दहन करके आते हैं तो वे एक-दूसरे को शमी के पत्ते देते हैं। इसे सोना पत्ति भी कहते हैं। उन पत्तों को स्वर्ण मुद्राओं के प्रतीक के रूप में एक दूसरे को देते हैं। इस दिन शमी के पेड़ की पूजा भी होती है। आखिर शमी के पत्ते क्यों ...
11
12
नवरात्रि के छठे दिन मां कात्यायनी की साधना गोधूली काल में धूप, दीप, गुग्गुल करने से जीवन की हर बाधा दूर होती हैं। इस दिन 'जय जय अंबे जय कात्यायनी' यह आरती करने से माता प्रसन्न होती हैं। यहां पढ़ें आरती-katyayani devi ki aarti
12
13
Vijayadashami 2022 : 5 अक्टूबर 2022 बुधवार को दशहरे का पर्व मनाया जाएगा। आश्‍विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी को दशहरा का पर्व मनाया जाता है, जिसे विजयादशमी भी कहते हैं। इस दिन दीपावली की खरीददारी भी की जाती है, शस्त्र पूजन भी करते हैं और शमी के वृक्ष ...
13
14
lalita panchami 2022 : इन दिनों शारदीय नवरात्रि पर्व जारी है और प्रतिवर्ष नवरात्रि के पांचवें दिन यानी आश्विन शुक्‍ल पंचमी को ललिता पंचमी पर्व मनाया जाता है। इस वर्ष ललिता पंचमी व्रत शुक्रवार, 30 सितंबर 2022 को मनाया जा रहा है। ललिता देवी को ...
14
15
Maa Katyayani : नवरात्रि का छठा दिन देवी कात्यायनी के नाम हैं। इनकी उपासना से भक्तों को अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है। यह देवी अमोघ फलदायिनी हैं। नवरात्रि के दिनों में इनकी उपासना करने से माता की कृपा प्राप्त होती है। आइए ...
15
16
Durga ashtami kab ki hai 2022: शारदीय नवरात्रि की अष्टमी तिथि इस बार 3 अक्टूबर 2022 सोमवार के हैं। इस दिन कई घरों में व्रत का पारण होता है। इसके पूर्व पूजा और हवन किया जाता है। यदि आपके घर में हवन होता है या आप कहीं पर हवन करना चाहते हैं तो जानिए कि ...
16
17
Vijayadashami 2022: 5 अक्टूबर 2022 बुधवार को दशहरे का पर्व मनाया जाएगा। आश्‍विन माह के शुक्ल पक्ष की दशमी को दशहरा का पर्व मनाया जाता है, जिसे विजयादशमी भी कहते हैं। इस दिन दीपावली की खरीददारी भी की जाती है, शस्त्र पूजन भी करते हैं और शमी के वृक्ष ...
17
18
महा अष्टमी पर माता को खास तरह के भोग अर्पित करके उनकी पूजा आरती करें और हो सके तो हवन करें। माता प्रसन्न होकर आपकी मनोकामना पूर्ण करेंगी। यहां माता दुर्गा को अर्पित किए जाने वाले 5 मुख्‍य भोग के नाम। नवरात्रि के मौके पर उन्हें यह भोग लगाने से हर तरह ...
18
19
Lalita Panchami 2022 Date: हिन्दू पंचांग के अनुसार 30 सिंतबर 2022 के ललिता पंचमी व्रत रखा जाएगा। यह व्रत गुजरात और महाराष्ट्र में विशेष तौर पर रखा जाता है। ललिता देवी को दस महाविद्याओं में से एक माना जाता है, जिन्हें राज राजेश्वरी और त्रिपुर सुंदरी ...
19