शरद चाँदनी की छाँव तले

स्मृति आदित्य|
हमें फॉलो करें
ND
शहदीया रातों में
दूध धुली चाँदनी

फैलती है

तब

अक्सर पुकारता है
मेरा मन


कि आओ,
पास बैठों
पर कुछ बात करें।
शरद चाँदनी की छाँव तले
आओ कुछ देर साथ चलें।



और भी पढ़ें :