आप लगातार लिखते जाइए, रिफाइन अपने आप होते जाएंगे- इंदिरा चंद्रशेखर

Indore Literature Festival 2021
सुरभि भटेवरा| Last Updated: शनिवार, 27 नवंबर 2021 (14:06 IST)
seconds day 202: 'इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल सीजन- 7 के दूसरे दिन "अच्छी कहानी छोटा खदान में से रत्न खोजने जैसा है।" वैज्ञानिक इंदिरा चंद्रशेखर ने इस विषय पर चर्चा की। इंदिरा चंद्रशेखर विज्ञान से लेखन के क्षेत्र में आई हैं। उनकी लघु कथाएँ दुनियाभर के एंथोलॉजी और साहित्यिक पत्रिकाओं में छपती हैं।
ALSO READ:

Indore literature festival 2021: इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल के दूसरे दिन की चित्रमय झलकियां

इंदिरा चंद्रशेखर ने सोनाली निरगुंदे से बातचीत करते हुए कहा, "साइंस में अलग-अलग तरह से फॉर्म होते हैं उसी प्रकार इंसानों में भी अलग-अलग व्यक्तित्व होता है जिससे हम एक्सप्लोर करते हैं।"
Indore Literature Festival 2021
*शार्ट स्टोरीज के अलग-अलग रूप क्या है?

- शॉर्ट स्टोरी में एक इंसान या किसी घटना का सारांश होता है। एक संपादक के रूप में कई सारी स्टोरी रिसीव करती हूं एक कहानी जो ईमानदारी से की जाती है और एक कहानी ताकत के साथ खुले मन से कही जाती है।

* युवाओं को किस तरह मार्गदर्शन करेंगे।
- अपने आपको फॉलो करते हुए पूरे ध्यान से लिखें। आज के वक्त में कई सारे माध्यम है, जहां आप अपना काम प्रजेंट कर सकते हैं। धीरे-धीरे आप लिखते जाइए आपका काम खुद-ब-खुद अच्छा होता जाएगा।

* अपने आने वाले प्रोजेक्ट के बारे में बताइए?

- अपने आने वाले प्रोजेक्ट में अभी कलेक्शन ऑफ शार्ट स्टोरीज पर काम कर रही है। साथी ही दूसरा प्रोजेक्ट है- नॉन फिक्शन। जिस पर काम कर रही हूं जो विज्ञान से जुड़ा हुआ है। हां यह मेरा पहला पर बड़ा नॉनफिक्शन प्रोजेक्ट है।



और भी पढ़ें :