Career in Hindi: अगर आपकी ‘हिन्‍दी’ अच्‍छी है तो रोजगार की ये 6 बड़ी संभावनाएं हैं



हिन्‍दी भाषा लगातार लो‍कप्र‍िय होती जा रही है। सोशल मीडि‍या से लेकर तमाम प्‍लेटफॉर्म पर हिन्‍दी का बोलबाला है। इसके साथ ही हिन्‍दी में रोजगार या करियर बनाने के विकल्‍पों में भी लगातार इजाफा होता जा रहा है।

आइए जानते हैं हिन्‍दी में कहां हैं रोजगार के अवसर।


हिन्‍दी दुनिया की दूसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। एक रिपोर्ट के मुताबि‍क इस समय दुनियाभर में हिन्‍दी बोलने वालों की संख्या 55 करोड़ से ज्‍यादा है, वहीं हिन्‍दी समझ सकने वाले लोगों की संख्या करीब 1 अरब से भी ज्यादा है।

प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, इंटरनेट, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंच और संस्थाओं में हिन्‍दी के इस्‍तेमाल में इजाफा हुआ है।

फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब और व्हाट्सएप जैसे प्‍लेटफॉर्म पर अब हिन्‍दी का ही दबदबा है। गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज कंपनियों ने भी हिन्‍दी में बहुत बड़े पैमाने पर काम करना शुरू कर दिया है। ऐसे में करि‍यर की भी बहुत संभावना है।
हिन्‍दी राजभाषा अधिकारी
केंद्रीय संस्थानों और कार्यालयों में राजभाषा अधिकारी की नियुक्ति की जाती है जो अपने यहां हर प्रकार से हिन्‍दी के प्रयोग को बढ़ावा देते हैं और हिन्‍दी में कामकाज को सुगम बनाते हैं। यदि आप हिन्‍दी विषय में स्नातक हैं और एक विषय के रूप में अंग्रेजी भी पढ़ी है तो राजभाषा अधिकारी के रूप में करियर बनाया जा सकता है।
हिन्‍दी अध्यापन
हिन्‍दी का अध्ययन करने वालों के बीच अध्यापन एक पारंपरिक करियर विकल्प के रूप में लोकप्र‍िय है। उच्च शिक्षण संस्थानों से लेकर प्राथमिक स्तर तक शिक्षण के अवसर योग्यतानुसार उपलब्ध रहते हैं और इसे सदाबहार करियर माना जाता है। समय-समय पर आयोजित होने वाली ‘राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा’ (NET) में शामिल हो सकते हैं। इसमें अधिकतम अंक प्राप्त करने वालों को ‘जूनियर रिसर्च फेलोशिप’ (JRF) मिल सकती है। जिसके माध्यम से शोधकार्य (PHD) करने वाले छात्रों को हर महीने 30,000/- छात्रवृत्ति दी जाती है। यह परीक्षा पास करने वालों को महाविद्यालयों में सहायक प्रोफेसर और प्रोफेसर के रूप में नियुक्ति के अवसर मिल सकते हैं।
हिन्‍दी पत्रकारिता
हिन्‍दी पढ़ने वाले छात्रों के बीच पत्रकारिता रोजगार का एक आकर्षक विकल्प है, जहां मेहनती और प्रतिभावान युवाओं के लिए बहुत संभावनाएं हैं। इस दौर में हिन्‍दी अखबार और न्‍यूज चैनल की संख्‍या भी काफी है। समाचार चैनलों और अखबारों के अलावा भी हिन्‍दी के अनेक चैनल और पत्र-पत्रिकाएं हैं जहां हिन्‍दी भाषी प्रति‍योगियों के लिए दरवाजे खुले हैं।
हिन्‍दी अनुवादक/दुभाषिया
ट्रांसलेशन यानि अनुवाद का क्षेत्र बहुत बड़ा है। दुनियाभर में जैसे-जैसे हिन्दी का प्रयोग बढ़ रहा है वैसे-वैसे अनुवादकों और द्विभाषाविदों की मांग बढ़ती जा रही है। कई देशी-विदेशी मीडिया संस्थान, राजनैतिक संस्थाएं, पर्यटन से जुड़े संस्थान और बड़े-बड़े होटलों में अनुवादकों और दुभाषियों की अच्छी खासी मांग है।
रेडियो जॉकी और समाचार वाचक
रेडि‍यो प्रस्‍तोता अमीन सयानी की आवाज किसने नहीं सुनी। नवेद की आवाज से कौन नावाकि‍फ है। इन्‍होंने हिन्‍दी में रेडि‍यो जॉकी का कॅरियर बनाया। ऐसी बहुत सी प्रतिभाएं हैं जो इस क्षेत्र में नाम और दाम कमा रही हैं। यदि आप भी भाषा पर अच्छी पकड़ रखते हैं, आवाज़ अच्छी है तो यह एक करियर ऑप्‍शन है। इसके साथ ही समाचार वाचक भी एक विकल्‍प है। बस आपको अपनी सधी हुई प्रभावशाली आवाज़ में समाचार पढ़ने होते हैं और देश-विदेश की घटनाओं की जानकारी देनी होती है।
हिन्‍दी में क्रि‍एटि‍व राइटिंग
रचनात्मक लेखन जिसे आज के युवाओं की भाषा में क्रि‍एटि‍व राइटिंग कह सकते हैं। इस क्षेत्र में ‘स्वतंत्र लेखन’ और नियमित लेखन किया जा सकता है। फ़िल्म, टीवी, रेडियो, वेबसाइट, पोर्टल आदि क्षेत्रों से जुड़कर हिन्दी में लोकप्रिय लेखन किया जा सकता है और बाहर रहकर भी सेवाएं दी जा सकती हैं। हालांकि दोनों में कोई ज्‍यादा अंतर नहीं है। दोनों ही रूप में आप काम एक ही कर सकते हैं। ब्लॉग लेखन भी एक ऑप्‍शन है।




और भी पढ़ें :