Navratri Health Tips : जानिए क्या होता है कुट्टू का आटा, होते हैं 5 फायदे


नवरात्रि में व्रत के दौरान अधिकतर लोग कुट्टू के आटे का सेवन करते हैं लेकिन बहुत से लोग इससे अनजान है। हां, राजगरे या सिंघाड़े के आटे का सेवन सभी लोग करते हैं। कुट्टू किसी प्रकार का अनाज नहीं बल्कि फल है, जिससे यह तैयार किया जाता है। हालांकि कुट्टू के आटे की तासीर गर्म होती है इसलिए ठंड में इसका अधिक सेवन किया जाता है। यह पोषण से भरपूर होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट से शरीर को ऊर्जा मिलती है। इसमें प्रोटीन, मैग्नीशियम, जिंक, कैल्शियम, विटामिन बी, आयरन, कॉपर होता है। इसलिए इसका सेवन करने से बार - बार भूख नहीं लगती है। आइए जानते हैं इसका सेवन करने से क्या लाभ होता है -

- फाइबर की मात्रा अधिक होने से वजन कम करने में मदद करता है। क्योंकि इसका सेवन करने से पेट लंबे वक्त तक भरा रहता है।

- इसमें मौजूद जरूरी तत्व से ब्लड शुगर लेवल सीमित होता है। साथ ही टाइप -2 डायबिटीज को भी कंट्रोल करने में मदद करता है।

- इसका सेवन करने से आंतों की सफाई होती है। जिससे पाचन में सुधार होता है। अक्सर व्रत के दौरान लोगों को पाचन संबंधी समस्या होने लगती है। लेकिन इसका सेवन करने से आराम मिलता है।

- कुट्टू का आटा स्किन एलर्जी और इन्फेक्शन से बचाता है।

- कुट्टू के आटे में मौजूद मैग्नीज से हड्डियों के दर्द मंे आराम मिलता है। इसका सेवन करने से ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या नहीं होती है। ठंड  में   इसका सेवन करने से महिलाओं को जोड़ोें के दर्द मंे आराम मिलता है।

 



और भी पढ़ें :