Healthy tips : ये 5 संकेत बताते हैं भोजन में है पोषक तत्वों की कमी

कई लोगों का ऐसा मानना होता है कि वह पेट भरकर खाना खाते हैं फिर भी बीमारियों से वह गिरे रहते हैं। लेकिन कमी होती है अच्‍छी डाइट में। जी हां, खाना तो सभी खाते हैं लेकिन शरीर को ऊर्जा जरूरी पोषक तत्‍वों से मिलती है। इसके लिए भोजन में विटामिन, मिनरल्‍स, फाइबर मुख्‍य रूप से मौजूद होना चाहिए। तो आइए जानते हैं। शरीर में होने वाली 5 गतिविधियां बताती है आपके शरीर में किन चीजों की कमी है और कमी को पूरा करने के लिए किस चीज का सेवन करना चाहिए।


1.पेट साफ नहीं होना - पेट साफ नहीं होने से बहुत सारी छोटी - छोटी बीमारियां हो जाती है। भूख नहीं लगना, खट्टी डकार आना, गैस बनना, एसिडिटी होना, जी घबराना, घबराहट होना। मोशन ठीक होने से आपका दिन भी अच्‍छा गुजरता है। पेट को साफ रखने के लिए सबसे अधिक जरूरी है पानी अधिक से अधिक पिएं, रेशे वाली सब्जियों का सेवन करें, रेशे वाले फलों का सेवन करें। अनार, दही, केले का सेवन करें।

2.त्‍वचा पर चमक नहीं होना - त्‍वचा पर चमक नहीं होने पर चेहरा रूखा नजर आता है। हर कोई ग्‍लोइंग स्किन की ख्‍वाहिश रखता है। भरपूर आहार लेने के बाद भी चेहरा फीका नजर आएं तो भोजन में पोषक तत्‍वों की कमी है। जरूरी पोषण आपको शरीर तक नहीं पहुंच रहा है। चेहरे पर त्‍वचा कम होने का मतलब आपके शरीर में पोटेशियम, विटामिन के और ई की कमी हेाती है। इसके लिए रोज नारियल पानी पिएं। साथ ही रोज एक टमाटर जरूर अपनी डाइट में शामिल करें। टमाटर में एंटीऑक्‍सीडेंट मौजूद होता है, जो त्‍वचा के लिए फायदेमंद होता है।

3.बालों का झड़ना - बाल झड़ना आम बात हो चुकी है। इसे कंट्रोल भी किया जा सकता है। शरीर को पेटभर भोजन तो मिलता है लेकिन वह आपकी सेहत के लिए कितना अच्‍छा है, जरूरी पोषण आपको मिल रहा है या नहीं यह भी निर्भर करता है। हर दिन हद से ज्‍यादा बाल झड़ते हैं तो आपका सिर कमजोर हो चुका है। इसके लिए प्रॉपर डाइट की जरूरत होती है। अपनी डाइट में डेयरी आइटम, पालक, शिमला मिर्च जरूर शामिल करें।

4. नींद नहीं आना - अक्‍सर भरपेट भोजन नहीं करने पर रात में नींद खुल जाती है। इसके बाद रात को भूख लगती है। बता दें कि नींद पूरी नहीं होने पर मानसिक स्थिति खराब हो जाती है। कई बार इंसान डिप्रेशन की स्थिति में चला जाता है। नींद पूरी नहीं होने पर अपनी डाइट में चेरी, बादाम, हर्बल चाय जरूर शामिल करें। वहीं रात को सोने से पूर्व एक गिलास दूध जरूर पिएं। इससे बेहतर नींद आएगी।

5. कम उम्र में जोड़ों में दर्द - करीब 50 साल की उम्र के बाद इंसान की सेहत में फर्क नजर आने लगता है। लेकिन मौजूद स्थिति में 30 साल से कम उम्र के नौजवानों में भी जोड़ों के दर्द की समस्‍या सामने आने लगी है। ऐसे में शरीर में विटामिन सी, डी और कैल्शियम की कमी से यह सब होता है। इसलिए डाइट में विटामिन सी, डी और कैल्शियम युक्‍त चीजों का सेवन जरूर करें। साथ हड्डियों के रोग से छुटकारा पाने के लिए सुबह की धूप जरूर लें।




और भी पढ़ें :