Navratri health Tips - डिहाइड्रेशन की समस्या से बचाएंगी ये 5 चीजें


9 दिन तक माता रानी की आराधना नवरात्रि उपवास करके करते हैं। इस दौरान भक्तजन अलग-अलग तरह से उपवास करते हैं। लेकिन कुछ लोग अपनी सेहत को नजअंदाज भी करते

हैं। जिससे सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसके बाद कई बार यह सवाल भी उठता है कि उपवास करने से सेहत बिगड़ जाती है। बल्कि उपवास करने से बॉडी के विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं। जो बॉडी को प्राकृतिक रूप से डिटॉक्स करने का दूसरा तरीका है। वहीं नवरात्रि में कुछ फल और लिक्विड है जिसका सेवन करने से आपको डिहाइड्रेशन की समस्या नहीं
होगी। अन्यथा तबीयत बिगड़ने लगती है। आइए जानते हैं -

1. केला - शरीर में पानी की मात्रा कम होने पर पोटेशियम लेवल कम हो जाता है। जिससे आपको कमजोरी लगना, पीले रंग की यूरिन होने लगती है और असहज महसूस होने लगताहै। ऐसे में दिन में दो बार केले का सेवन जरूर करें। इससे पोटेशियम की मात्रा बराबर होगी और कमजोरी महसूस नहीं होगी। हालांकि पानी की मात्रा आपको बढ़ाना ही होगी।

2.नारियल पानी - यदि आप सिर्फ एक वक्त ही फरियाल या भोजन करके उपवास कर रहे हैं तो एक नारियल पानी जरूर पीएं। इससे बॉडी में पानी की कमी पूरी होगी। कमजोरी
महसूस नहीं होगी। अन्यथा पानी की कमी से डिहाइड्रेशन भी हो सकता है।

3.ORS पीएं - नवरात्रि कर रहे हैं तो घर पर भी ओआरएस बना सकते हैं। इसके लिए आप चार कप पानी लें। इसमें आधा चम्मच (सेंधा) नमक और छह चम्मच चीनी मिलाएं।
व्रत के दौरान आप इसका सेवन कर सकते हैं। इससे कमजोरी भी नहीं लगेगी और पानी की कमी नहीं होगी।

4. अनार और मौसंबी - इन दोनों फलों का जूस सेहत के लिए बेहतर होगा। इससे आपके शरीर में पानी की कमी के साथ अन्य जरूरी पोषक तत्वों की भी पूर्ति होगी। इसलिए दिन में
एक बार अनार या मौसंबी के जूस का सेवन जरूर करें।

5. पानी - अगर आप एक वक्त फलाहार के बाद कुछ ग्रहण नहीं करते हैं तो आपको पानी भरपूर पीना है। साथ ही अन्‍य चीजों के अलावा पानी ही पानी की पूर्ति सही मात्रा में हो
सकती है। पानी का रिप्‍लेसमेंट बहुत सारे हैं लेकिन पानी आप नेचुरल तरीके से पीते हैं उसके लिए आपको किसी प्रकार से दवा या अन्‍य चीजों की जरूरत नहीं पड़ती है। इसलिए आप फल, जूस या हरी सब्जी जरूर खाएं लेकिन पानी भरपूर पीएं।



और भी पढ़ें :