शरीर में विटामिन बी-12 की अधिक कमी होने पर नजर आते हैं ये 3 गंभीर लक्षण

Last Updated: मंगलवार, 9 नवंबर 2021 (16:32 IST)
हमें फॉलो करें

शरीर को ताजा और स्‍वस्‍थ रखने के लिए अलग-अलग तरह के विटामिन, मिनरल्‍स, प्रोटीन, कार्ब्‍स, फाइबर की जरूर होती है। इन जरूरी पोषक तत्‍वों की कमी होने पर शरीर पर प्रभाव

पड़ने लगता है। की कमी होने पर बीमारी धीरे-धीरे सामने आती है। गौरतलब है कि विटामिन बी-12 शाकाहारी भोजन में बहुत कम मात्रा में पाया जाता है। जानकारी
के मुताबिक विश्‍व की 15 फीसदी आबादी विटामिन बी-12 की कमी से जूझ रही है। इसकी कमी होने पर थकान, कमजोरी, डाइजेस्टिव सिस्‍टम, चिड़चिड़ापन जैसी समस्‍याएं उभरकरआती है। बी-12 की कमी होने पर कुछ लक्षण मामूली नजर आते हैं तो कुछ गंभीर रूप से दिखने लगते हैं। जो भविष्‍य में जीवन के लिए संघर्षमय बन सकते हैं। तो आइए जानते हैं
विटामिन बी-12 की कमी होने पर किस प्रकार के गंभीर लक्षण नजर आते हैं -

1. सांस लेने में तकलीफ होना - अगर आप सांस की समस्‍या से जूझ रहे हैं तो विटामिन बी-12 की जांच कराएं। समस्‍या अधिक होने पर ह्दयगति पर भी प्रभाव पड़ता है। शरीर में
जरूरी चीज की कमी होने पर दिल को अधिक मेहनत करना पड़ती है। जब शरीर के अंगों को पर्याप्‍त मात्रा में आॅक्‍सीजन नहीं मिलती है तो दिल तेज गति से काम करता है और
सांस की परेशानी से जूझना पड़ता है। कई बार सांस नहीं ले पाते हैं तो मुंह से भी सांस लेने लगते हैं।

2. जीभ की रंगत बदल जाना - विटामिन बी-12 की कमी होने पर
उसके रंग में बदलाव नजर आने लगता है। जीभ लाल रंग की और घाव नजर आते हैं। घाव होना,
जलन होना,
भोजन का स्‍वाद नहीं आना, मुंह कड़वा होना आदि लक्षण दिखाई देते हैं।

3. भूलने की बीमारी होना - अक्‍सर लोग हर थोड़ी-थोड़ी बात पर कहते हैं मैं भूल गया/गई। छोटी-छोटी बातों को याद रखने में परेशानी होने लगती है। कई बार लोग बार-बार अपनेडिवाइस या आई डी के पासवर्ड भूल जाते हैं। पढ़ने -लिखने में अधिक फोकस करना पढ़ता है। अगर इस तरह की ओर भी छोटी-छोटी बातें लंबे समय से याद नहीं कर पा रहे हैं तो यह
एक गंभीर समस्‍या हो सकती है। अगर आपको लगता है बहुत जल्‍दी-जल्‍दी चीजें भूल रहे हैं तो डॉक्‍टर से जरूर संपर्क करें।

विटामिन बी-12 के पूर्ति कैसे करें -

विटामिन बी-12 मांसाहारी में अधिक पाया जाता है। अगर आप शाकाहारी है तो अपने दिनचर्या में ओट‍मील, दही, ब्रोकली, टोफू, सोयाबीन का सेवन जरूर करें। साथ ही स्‍पेशलिस्‍ट कीसलाह लें ताकि इसकी कमी को पूरा किया जा सकें।



और भी पढ़ें :