गोवा के मुख्यमंत्री सावंत सांखली से जीते, उत्पल पर्रिकर पणजी से हारे

Last Updated: गुरुवार, 10 मार्च 2022 (20:17 IST)
हमें फॉलो करें
पणजी। गोवा के मुख्यमंत्री गुरुवार को अपनी पारंपरिक सांखली विधानसभा सीट से चुनाव जीत गए। उन्होंने विश्वास जताया कि तटीय राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी। उन्होंने यह भी कहा कि महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) 40 सदस्यीय विधानसभा में बहुमत के आंकड़े पर पहुंचने के लिए भाजपा को समर्थन देने के लिए उसके संपर्क में है।
ALSO READ:

गोवा में MGP समर्थन से तीसरी बार सरकार बना सकती है भाजपा

मतगणना के ताजा रुझानों के अनुसार भाजपा 19 सीटों पर, कांग्रेस 11 पर जबकि एमजीपी और निर्दलीय 3-3 सीटों पर आगे चल रहे हैं। शुरुआती चरणों में पिछड़ने के बाद सावंत करीब 1,000 मतों से सांखली सीट पर फिर से जीत दर्ज करने में कामयाब रहे। उन्होंने कहा कि हम 20 से अधिक सीटें जीतेंगे। अगर संख्याबल की आवश्यकता पड़ी तो निर्दलीय तथा एमजीपी हैं, जो हमारे संपर्क में हैं।
सावंत ने यह भी कहा कि जीत का अंतर कम होना निश्चित तौर पर पर चिंता की बात है और वे इसका आत्मनिरीक्षण करेंगे। सावंत ने 2017 के विधानसभा चुनावों में 2,000 से अधिक मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी, वहीं गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के बेटे एवं निर्दलीय उम्मीदवार उत्पल पर्रिकर पणजी विधानसभा सीट पर भाजपा के आतानासियो मोन्सेरात से हार गए हैं।
एक निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अंतिम चरण की मतगणना में मोन्सेरात 674 मतों से जीत गए। पर्रिकर ने कहा कि मैंने कड़ी टक्कर दी। भाजपा ने पर्रिकर को टिकट देने से इंकार कर दिया था जिसके बाद वे निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़े। मोन्सेरात ने कहा कि राजधानी पणजी में भाजपा कैडर ने पार्टी में उत्पल पर्रिकर को स्वीकार नहीं किया।



और भी पढ़ें :