0

एकादशी भोग : जायकेदार घीया हलवा, पढ़ें एकदम आसान विधि

बुधवार,अगस्त 18, 2021
0
1
आप भी श्रावण मास में पूरे माह व्रत रख रहे है और फलाहार बनाने जा रहे हैं तो रिमझिम मौसम में ट्राय करें ये यमी-यमी डिशेज। पढ़ें 5 रेसिपी आइडियाज-
1
2
साबूदाने की खिचड़ी बनाने से 3-4 घंटे पूर्व साबूदाने को भिगो कर रख दें। आलू को छीलकर टुकड़े कर लें। एक कड़ाही में घी गरम करके उसमें जीरा,
2
3
साबूदाने को रात में गला दें। सुबह दही डालकर मिक्सर में पीसें। राजगिरे का आटा भी इसमें मिलाए। नमक डालकर डोसे का घोल तैयार करें।
3
4
सबसे पहले कच्चे केले को उबाल लें। ठंडे होने पर छिलके उतार कर हाथ से मैश कर लें। अब एक थाली में सिंघाड़ा अथवा राजगिरा आटा लेकर छान लें।
4
4
5
साबूदाने को चार घंटे पहले भिगो लें। मूंगफली को भी अलग से भिगोकर दरदरा पीस लें। उबले आलू को साबूदाने व मूंगफली के साथ अच्छी तरह मिला लें व सारे मसाले को भी मिला लें।
5
6
आलू का चटपटा फलाहारी नमकीन बनाने के लिए सबसे पहले आलुओं को छीलकर मोटा-मोटा कद्दूकस कर (किस) लें।
6
7
नवरात्रि में पेड़े केभोग से माता रानी प्रसन्न होंगी। कैसे बनाएं घर पर- सबसे पहले दूध में मेवे की कतरन मिलाकर मिक्सी में महीन पेस्ट तैयार करें।
7
8
सर्वप्रथम भीगे हुए साबूदाने को मिक्सर में थोड़े-से पिस लें और आलू को छीलकर हाथ से मसल लें। फिर आलू में पिसे हुए साबूदाने मिलाकर नमक, बारीक कटी हरी मिर्च
8
8
9
सबसे पहले साबूदाने को 2-3 बार धोकर पानी में थोड़ी देर रखें, फिर पानी निथारकर 1-2 घंटे के लिए भिगो कर रख दें।
9
10
सबसे पहले मखाने को घी में भून लें। अब सूखे नारियल के गोले के पतले-पतले लंबे टुकड़े काटकर गरी तैयार करके इन्हें भी हल्का-सा भून लें।
10
11
दही फेंट कर राजगीरा व सिंघाड़ा आटा मिला दें। मोरधन को पीसकर सभी चीजें मिलाकर मिश्रण तैयार करें। इसमें एक चम्मच सोड़ा एवं नमक डालकर
11
12
पहले पनीर के 1-1 इंच के टुकड़े कर लें व हल्का-सा नमक व काली मिर्च बुरका कर रख दें। तेल तथा पनीर छोड़कर सभी सामग्री ठीक से मिला लें व गोले बना लें
12
13
2 कटोरी राजगिरे का आटा, 1/2 कटोरी सिंघाड़े का आटा, 1/2 कटोरी मूंगफली दाने, 1 चम्मच सौंफ दरदरी पिसी हुई, 4-5 हरी मिर्च का पेस्ट, 1 चम्मच लाल मिर्च, नमक (सेंधा) स्वादानुसार,
13
14
राजगिरे के लड्‍डू काफी फायदेमंद साबित हो सकते है। इसको बनाने की विधि एकदम आसान है, बस 4 टिप्स और खस्ता राजगिरे के लड्‍डू तैयार...
14
15
सबसे पहले केले को गोल आकार में काट लें। एक कड़ाही में घी गरम करके केले
15
16
आलू को उबाल कर छील लें। अब आलू को मसल कर उसमें भीगा हुआ साबूदाना, मोरधन और राजगिरे का आटा, नमक, पिसी अदरक
16
17
खीर बनाने से एक-दो घंटे पूर्व साबूदाने को धोकर भीगो दें। अब एक बर्तन में दूध को गरम कर अच्छा उबलने दें। तत्पश्चात एक अलग कटोरी में एक छोटा चम्मच गरम दूध लेकर केसर गला दें।
17
18
नवरात्रि का पर्व हो और व्रत-उपवास की बात न हो, क्या भला ऐसा हो सकता है। नवरात्रि पर्व में भक्तजन उपवास करते हैं, ऐसे समय में व्रत के दौरान अपने खान-पान यानी उपवास के दिनों
18
19
लौकी और खोया का जायकेदार हलवा बनाने के लिए सबसे पहले एक कड़ाही में घी डालकर किसी हुई लौकी को हल्का भूनकर अलग रख लें। अब कड़ाही में थोड़ा-सा पानी डालें, फिर चीनी डालें।
19