महापंचायत में शक्ति प्रदर्शन के लिए पहुंचे किसान, चप्पे-चप्पे पर पुलिस मौजूद

हिमा अग्रवाल| Last Updated: रविवार, 5 सितम्बर 2021 (10:26 IST)
मुजफ्फरनगर। उत्तरप्रदेश के में आज ऐतिहासिक महापंचायत कुछ समय बाद होने जा रही है। इसमें शामिल होने के लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, केरल, पंजाब, राजस्थान और तमिलनाडु समेत अन्य प्रदेशों के किसान पहुंच गए हैं। यह महापंचायत दिल्ली के गाजीपुर बॉडर्र के बाद संयुक्त किसान मोर्चा कु पहल पर होने जा रही है। इस पंचायत में 40 किसान संगठन शामिल होंगे।

महापंचायत आयोजकों ने लगभग एक लाख किसानों के पहुंचने का दावा किया है। सुबह से ही मुजफ्फरनगर के राजकीय इंटर कालेज मैदान पर बड़ी संख्या में किसान दिखाई दे रहे हैं। देशभर से मीडिया के लोग भी महापंचायत स्थल पर पहुंच गए हैं।

मुजफ्फरनगर जाने वाले किसानों के लिए एन एच 58 सिवाय और सहारनपुर के टोल को फ्री कर दिया गया है। टोल फ्री होने से कंपनियों को लाखों रुपए की चपत लगेगी। वैसे तो टोल की एक लेन किसानों के लिए फ्री कई गई थी, लेकिन किसानों की संख्या और किसी भी तरह के हंगामे से बचने के लिए प्रशासन ने पूरा टोल फ्री करवा दिया गया है।
इस महापंचायत में 100 मेडिकल कैंप भी लगायें गए है। चिकित्सा सेवा देने के लिए किसान के प्रति संवेदनशील डाक्टरों को लगाया गया है, साथ ही लंगर की व्यवस्था की गई है, इस लंगर को तैयार करने के लिए 5000 किसान अपनी सेवाएं दे रहे है। पूरी-सब्जी, कचौरी-जलेबी और रोटी की व्यवस्था है। किसानों के प्रिय पेय मट्ठा भी किसानों के लिए उपलब्ध है। पानी के टैंकर जगह-जगह खड़े हुए हैं।

में बड़ी संख्या में किसान एकत्रित है, ऐसे में मुजफ्फरनगर से केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान और भाजपा के विधायक उमेश मलिक के घर की सुरक्षा बढ़ा दी गई है, कुछ समय पहले सिसौली में उमेश मलिक को लेकर किसानों में रोष उत्पन्न हुआ था, संजीव बालियान और उमेश मलिक का किसानों ने किसान विरोधी बताते हुए गांव में प्रवेश रोक दिया गया था।

भले ही किसानों की इस महापंचायत में राजनैतिक दलों के नेताओं को जगह न मिले, लेकिन उन्होंने खुलकर इस महापंचायत का समर्थन किया है।

समाजवादी पार्टी और रालोद के किसान कार्यकर्ता रैली में शामिल होंगे। वही राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने मुजफ्फरनगर में किसानों की महापंचायत पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की अनुमति प्रशासन से मांगी थी। लेकिन उन्हें अनुमति नही मिली है। मिली जानकारी के मुताबिक रालोद से जुड़े नेताओं का कहना है कि पुष्प वर्षा जरूर होगी, जयंत हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा करके आसमान से राष्ट्रीय ध्वज फहराते हुए दिल्ली वापस लौट जायेंगे।
महापंचायत के मंच पर हरियाणा के 18 किसान नेता, UP,UK,MP के 12-12 किसान नेता, पंजाब के 31 नेता मौजूद रहेंगे। इसके अतिरिक्त अन्य राज्य के.नेताओं को भी मंच पर स्थान मिलेगा। वही पुलिस-प्रशासन पूरी तरह अलर्ट है और चप्पे-चप्पे पर नजर बनायें हुए है। मुजफ्फरनगर और महापंचायत स्थल के आसपास 4000 पुलिसकर्मी, 10 कंपनी पैरामिलिट्री फोर्स तैनात की गई है।

वही मुख्यालय से 3 IPS, 11ASP, 16 DSP भेजे गए है।रेपिड एक्शन फोर्स और PAC की कई बटालियन भी मुजफ्फरनगर में तैनात की गई है। वही ट्रैफिक पुलिस के अतिरिक्त तैनाती भी की गई है, ताकि जाम की स्थिति पैदा न हो पायें।
मुजफ्फरनगर महापंचायत में कई खाप पंचायत शामिल होंगी, वही इसके प्रसारण के लिए 1000 एल ई डी लगायी गई है। यह पंचायत सुबह 11 बजे शुरू होगी। 5000 वालंटियर आयोजन स्थल की व्यवस्था संभालेंगे। महापंचायत का सोशल मीडिया पर लाइव प्रसारण भी रहेगा।



और भी पढ़ें :