दुनिया में कहां-कहां फैला है ‘लुलु मॉल’ का बिजनेस, क्‍या है इसके मालिक यूसुफ अली की कामयाबी की कहानी और ‘इंडियन कनेक्‍शन’

lulu mall
लुलु मॉल इन दिनों चर्चा में है। यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने लखनऊ में इस मॉल का शुभारंभ किया था। लेकिन हाल ही में मॉल में नमाज पढ़ने के बाद विवाद हो गया। लेकिन लुलु मॉल और इसके मालिक यूसुफ अली के बनने की कहानी भी दिलचस्‍प है। भारत में कई शहरों में अपने शॉपिंग सेंटर खोलने की तैयारी में यह कंपनी दुनिया के कई देशों में भी सिरमोर बनी हुई है।

आइए जानते हैं आखिर क्‍या है Lulu Mall और इस ग्रुप के मालिक यूसुफ अली का भारतीय कनेक्‍शन और क्‍या है उनकी कामयाबी की कहानी।

लुलु अरबी भाषा का शब्‍द है और लुलु का मतलब होता है मोती

22 देशों में बिजनेस, इतने कर्मचारी
दुनिया के कई देशों में लुनु मॉल स्‍थापित है। बता दें कि लुलु ग्रुप का सबसे ज्‍यादा कारोबार खाड़ी देशों और संयुक्त अरब अमीरात में है। इस ग्रुप का मध्य पूर्व, एशिया, अमेरिका एवं यूरोप सहित करीब 22 देशों में अपना बिजनेस है। रिपोर्ट के मुताबिक लुलु ग्रुप में करीब 57 हजार कर्मचारी काम करते हैं।

यूसुफ अली जो लुलु ग्रुप के मालिक हैं वे मूल रूप से भारतीय ही हैं और केरल के मुस्‍लिम हैं। यूसुफ अली केरल के त्रिशूर जिले में स्थित नाट्टिका नामक जगह के रहने वाले हैं। 15 नवंबर 1955 को जन्‍में यूसुफ की उम्र 67 साल है। परिवार की बात करें तो एमए यूसुफ अली की 3 बेटियां हैं। इस समय उनका पूरा परिवार अबू धाबी में ही रहता है।

जानकारी के मुताबिक यूसुफ अली 1973 में अबू धाबी चले गए थे। दुनिया के टॉप बिजनेसमैन में उनका नाम शुमार है। वे चैरिटी के लिए भी जाने जाते हैं। गुजरात में आए भूकंप से लेकर सुनामी और केरल में आई बाढ़ तक उन्होंने कई बार बड़ी राशि दान में देकर लोगों की मदद की।

कितना है टर्न-ओवर?
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक उनके ग्रुप का सालाना टर्न-ओवर करीब 8 अरब डालर है और उन्होंने करीब 57 हजार लोगों को रोजगार दिया है। 2021 में, यूसुफ अली को आबू धाबी के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्हें यह पुरस्कार आबू धाबी के क्राउन प्रिंस हिज हाइनेस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने दिया था। यूसुफ अली को पद्मश्री और प्रवासी भारतीय सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

हादसे में बाल बाल बचे यूसुफ
यूसुफ अली फोर्ब्स इंडिया की सूची में 2021 में पांच अरब डालर की संपत्ति के साथ 38वें स्थान पर थे। लुलु ग्रुप करीब 42 देशों में कारोबार करता है। साल 2021 में लुलु ग्रुप के प्रमुख एमए यूसुफ अली और उनकी पत्नी को ले जा रहा एक हेलीकाप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। ये हादसा केरल में हुआ था। हालांकि, इस हादसे में यूसुफ अली और उनकी पत्नी बाल-बाल बच गए थे।

देश में कहां- कहां है लुलु माल?
भारत में लुलु कंपनी के पांच मॉल्‍स हैं। लखनऊ में पांचवां माल खुला है। जिसमें नमाज को लेकर हाल ही में विवाद हुआ था। इससे पहले कोच्चि, बेगलुरू, त्रिशुर और तिरुवनंतपुरम में भी लुलु के सुपर मार्केट हैं। कोच्चि का माल भारत में लुलु ग्रुप का सबसे बड़ा माल है। वाराणसी में लुलु माल का निर्माण चल रहा है। अहमदाबाद, चेन्नई, हैदराबाद व दिल्ली में भी कंपनी के मॉल्‍स शुरू करने की योजना है।

लुलु के मालिक यूसुफ अली के बारे में कुछ तथ्‍य
  • यूसुफ अली को पहली कामयाबी 1990 के दशक में खाड़ी युद्ध के दौरान मिली। उस समय कई लोग युद्ध की वजह से देश छोड़कर जा रहे थे, लेकिन अली ने उस समय भी अबू धाबी में एक बड़ा हाइपरमार्केट खोलने का फैसला किया था।
  • वे तब भी चर्चा में आए जब उन्‍होंने 1 करोड़ की ब्लड मनी देकर एक भारतीय की जान बचाई थी।
  • 1973 में यूसुफ UAE की राजधानी अबू धाबी चले गए थे।
  • अबू धाबी पहुंचने के लिए उन्होंने पानी के जहाज से 14 दिनों की यात्रा की थी
  • 1995 में उन्होंने पहला लुलु सुपरमार्केट अबू धाबी में और पहला लुलु हाइपरमार्केट दुबई में खोला था
  • लुलु अरबी भाषा का शब्‍द है और लुलु का मतलब होता है मोती
  • यूसुफ अली 38वें सबसे अमीर भारतीय हैं
  • लुलु ग्रुप की भारत में 14 हजार करोड़ के निवेश की योजना है
  • अभी भारत में लखनऊ, कोच्चि, बेगलुरू, त्रिशुर और तिरुवनंतपुरम में लुलु मॉल हैं
  • यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने लखनऊ में लुलु मॉल का शुभारंभ किया था



और भी पढ़ें :