0

दीपावली के 5 दिन के शुभ मुहूर्त एक साथ नोट कर लीजिए

गुरुवार,अक्टूबर 6, 2022
0
1
Dhanteras Diwali : एक ऐसा आसान सा उपाय जिसे यदि धनतेरस से आरंभ किया जाए तो सफलता के दरवाजे खुलते चले जाते हैं। जो व्यक्ति जीवन में उन्नति, सफलता, धन-संपदा और प्रतिष्ठा चाहता हैं और प्रतिभा संपन्न होने के बावजूद यदि आप वह मुकाम हासिल नहीं कर पा रहे ...
1
2
Deepawali 2022 : दीपावली का पर्व प्राचीन काल से मनाया जाता रहा हैं। यह पर्व सतयुग, त्रेतायुग, द्वापर युग में भी मनाया गया तथा आज भी उतने ही उमंग और उल्हासपूर्वक यह त्योहार मनाया जाता है। यहां पढ़ें दीपावली की पौराणिक कथाएं और महत्व के बारे में-
2
3
Diwali par surya grahan kab hai: प्रतिवर्ष कार्तिक माह की अमावस्या को दीपावली का पर्व मनाया जाता है, परंतु इस बार अमावस्या पर सूर्य ग्रहण रहेगा। 25 अक्टूबर 2022 को अमावस्या रहेगी। ग्रहण काल में कोई भी त्योहार या मांगलिक कार्य नहीं करते हैं। ऐसे में ...
3
4
24 अक्टूबर 2022 सोमवार को दिवाली का पर्व मनाया जाएगा। इस दिन पूरे घर में दीप प्रज्वलित करने की परंपरा हैं। हर राज्य में दीपक जलाने की अलग अलग परंपराएं हैं। हालांकि दीप जलाने की संख्‍या कितनी होना चाहिए और कहां कहां यह दीप रखना चाहिए? आओ जानते हैं ...
4
4
5
Diwali Festival 2022 : दीपावली के त्योहार का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। इसे कई नामों से जाना जाता है। आइए यहां जानते हैं इस खास त्योहार का प्राचीन नाम क्या है, इसकी शुरुआत कब से हुई थी, यहां जानिए पौराणिक जानकारी- What is the ancient name of ...
5
6
7 Days Rangoli : रंगोली को अलग-अलग प्रदेशों में बनाने की शैली में बदलाव हो सकता है, लेकिन यह हमारी प्राचीन सांस्कृतिक परंपरा में सबसे खास मानी जाती है। रंगोली जहां घर की खूबसूरती को बढ़ाती हैं, वहीं इसका धार्मिक महत्व भी बहुत है। आइए यहां जानते हैं ...
6
7
हिंदू पंचांग के मुताबिक दीपावली का त्‍योहार कार्तिक माह की अमावस्‍या को मनाया जाता है, लेकिन इस बार अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण है। ग्रहण काल में कैसे कोई त्योहार मनाया जा सकता है? 25 अक्टूबर को अमावस्या रहेगी। सूर्य ग्रहण का समय- 25 अक्टूबर को शाम ...
7
8
Dhanteras kab hai 2022 : दीपावली के पांच दिन के उत्सव की शुरुआत धनतेरस से होती है। इस बार आश्‍विन माह की अमावस्या के दिन सूर्य ग्रहण होने के कारण दीपावली का पर्व 25 की बजाया 24 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस मान से धनतेरस की तिथि भी बदली है। आओ जानते ...
8
8
9
Deepawali 2022- दीपावली का पावन पर्व आने वाला है। और यदि आप भी घर की साफ-सफाई के दौरान अपने घर में रखी पीतल, चांदी, तांबा या कांसा की देवी-देवताओं की मूर्तियां अथवा हाथी, गाय, बछड़ा, घोड़ा या घर में रखे पुराने पीतल, चांदी या तांबे के बर्तन जो कि ...
9
10
माता लक्ष्मी या महालक्ष्मी की पूजा शुक्रवार, महालक्ष्मी व्रत, दीपावली और कार्तिक मास में की जाती है। यहां पर मां लक्ष्मी की पूजा के समय स्तुति पाठ, स्त्रोत्र, लक्ष्मी चालीसा का पाठ करने के बाद माता लक्ष्मी की आरती का वाचन किया जाता है। आओ पढ़ते हैं ...
10
11
भाई दूज तिलक का शुभ समय : 1 बजकर 10 मिनट 12 सेकंड से प्रारंभ होकर 03 बजकर 21 मिनट से 29 सेकंड तक रहेगा।
11
12
द्वितीया तिथि को भ्रातृ द्वितीया भाई-बहन का पर्व माना जाता है। उस दिन भाई बहन के यहां जाकर बहन के हाथ का भोजन करना श्रेयस्कर मानते हैं।
12
13
भाई दूज के दिन दोपहर के बाद ही भाई को तिलक व भोजन कराना चाहिए। इसके अलावा यम पूजन भी दोपहर के बाद किया जाना चाहिए।
13
14
जिस तिथि को यमुना ने यम को अपने घर भोजन कराया था, यदि उस तिथि को भाई अपनी बहन के हाथ का उत्तम भोजन ग्रहण करता है तो उसे उत्तम भोजन के साथ धन की प्राप्ति होती है। पद्म पुराण में कहा गया है कि कार्तिक शुक्लपक्ष की द्वितीया को पूर्वाह्न में यम की पूजा ...
14
15
भाई दूज का उपहार राशि अनुसार - आज के दिन अपनी बहन को उनकी राशि अनुसार भेंट दें, इससे आपसी रिश्तों में मिठास आएगी और दोनों के लिए यह शुभ होगा।
15
16
भाई दूज शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि, और भाई दूज की कथा- भाई दूज के दिन बहन अपने भाई को तिलक करती हैं। मान्याताओं के अनुसार भाई दूज के दिन सूर्य देव की पुत्री यमुना ने अपने भाई यमदेव को अपने घर भोजन के लिए बुलाया था। जिससे उससे दिन नरक के जीवों को ...
16
17
भाईदूज आज के दिन जो भाई अपनी बहन के यहां भोजन करता है उन भाई-बहनों को यम का भय नहीं होता।
17
18
भाई दूज समारोह 5 दिवसीय दिवाली त्योहार का हिस्सा हैं और दिवाली के दो दिन बाद आता है। यह हिंदू महीने कार्तिक में शुक्ल पक्ष के दूसरे दिन आता है।
18
19
Bhai Dooj 2021: भाई दूज या भैया दूज पर्व को भाई टीका, यम द्वितीया, भ्रातृ द्वितीया आदि नामों से मनाया जाता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार यह त्योहार कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की द्वितीया को मनाया जाता है। यह तिथि दीपावली के दूसरे दिन आती है। आओ जानते ...
19