WHO ने Corona के नए वैरिएंट को 'बेहद तेजी से फैलने वाला' करार दिया

पुनः संशोधित शनिवार, 27 नवंबर 2021 (01:04 IST)
हमें फॉलो करें
ब्रसेल्स। (WHO) की एक सलाहकार समिति ने दक्षिण अफ्रीका में पहली बार सामने आए कोरोनावायरस (Coronavirus) के नए प्रकार को 'बेहद तेजी से फैलने वाला चिंताजनक प्रकार' करार दिया है और ग्रीक वर्णमाला के तहत इसे 'ओमीक्रॉन' नाम दिया है।
संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा शुक्रवार को की गई यह घोषणा पिछले कुछ महीनो में वायरस के नए प्रकार के वर्गीकरण में पहली बार की गई है। इसी वर्ग में कोरोनावायरस के डेल्टा प्रकार को भी रखा गया था जिसका प्रसार दुनियाभर में हुआ था।

खबर ईयू द अफ्रीका यात्रा प्रतिबंध यूरोपीय संघ के सदस्य देश, कोरोनावायरस का नया प्रकार सामने आने के चलते दक्षिण अफ्रीकी देशों से यात्रा पर प्रतिबंध लगाने को राजी हुए।

अफ्रीका में सामने आए कोरोना के नए स्वरूप को लेकर दुनियाभर में आशंकाएं :

दक्षिण अफ्रीका में कोरोनावायरस के नए स्वरूप के सामने आने के बाद शुक्रवार को दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में इसे लेकर सुगबुगाहट रही, बाजारों में गिरावट देखी गई और वैज्ञानिकों ने सटीक खतरों का अंदाजा लगाने के लिए आपातकालीन बैठकें कीं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित चिकित्सा विशेषज्ञों ने दक्षिणी अफ्रीका में सामने आए स्वरूप को बेहतर ढंग से समझने से पहले किसी भी अति प्रतिक्रिया के खिलाफ चेतावनी दी। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद ने सांसदों से कहा, शुरुआती संकेत बताते हैं कि यह स्वरूप डेल्टा संस्करण की तुलना में अधिक खतरनाक हो सकता है और वर्तमान टीके इसके खिलाफ कम प्रभावी हो सकते हैं। उन्होंने कहा, हमें जल्द से जल्द संभव कदम उठाने की दिशा में आगे बढ़ना चाहिए।

यूरोपीय संघ में शामिल देशों में मामलों में भारी वृद्धि के बीच, जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पैन ने कहा, यह एक नया स्वरूप कई समस्याएं पैदा करेगा। यूरोपीय संघ आयोग की अध्यक्ष उर्सुला वॉन डेर लेएन ने कहा, उड़ानों को तब तक स्थगित किया जाना चाहिए जब तक कि हमें इस नए स्वरूप से उत्पन्न खतरे के बारे में स्पष्ट समझ न हो, और इस क्षेत्र से लौटने वाले यात्रियों को सख्त पृथकवास नियमों का पालन करना चाहिए।

बेल्जियम इस स्वरूप के मामले की घोषणा करने वाला यूरोपीय संघ का पहला देश बन गया। इसमें एक शख्स शामिल है जो विदेश से आया था। स्वास्थ्य मंत्री फ्रैंक वैंडेनब्रुक ने कहा, यह एक संदिग्ध स्वरूप है। हम नहीं जानते कि क्या यह बहुत खतरनाक स्वरूप है।

इसराइल के स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि मलावी से लौटे एक यात्री में कोरोनावायरस के नए स्वरूप से का मामला सामने आया है। यह नए स्वरूप (कोरोनावायरस में बदलाव के बाद उसका नया स्वरूप) से संक्रमण का देश में पहला मामला है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में शुक्रवार को बताया कि यात्री और दो अन्य संदिग्ध संक्रमितों को पृथक-वास में रखा गया है।(भाषा)



और भी पढ़ें :