इंदौर में तीसरी लहर, संक्रमितों में 77 प्रतिशत ले चुके हैं वैक्सीन की दोनों डोज, 21-40 उम्र के लोगों पर अधिक खतरा...

पुनः संशोधित सोमवार, 3 जनवरी 2022 (12:35 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर। मध्यप्रदेश की औद्योगिक राजधानी में कोरोनावायरस का कहर बढ़ता जा रहा है। रविवार को जिले में 110 मामले सामने आए, जो 206 दिनों के बाद सबसे बड़ा आंकड़ा है। डराने वाली बात यह कि 5 दिन में एक्टिव मरीजों की संख्या 5 गुना हो गई है। संक्रमण दर भी 1.58 प्रतिशत हो गई है। पिछले संक्रमितों के रिसर्च के कई चौंकाने वाली बातें सामने आई हैं।


दिसंबर 2021 में सामने आए कुल 439 संक्रमितों में 77 प्रतिशत से लोगों को कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके। जिले में दिसंबर 2021 में सामने आए कुल 439 संक्रमित में 20 प्रतिशत यानी 88 (48 पुरुष और 40 महिला) संक्रमित ऐसे भी हैं जिन्हें कोरोना वैक्सीन का एक भी डोज नहीं लगा है जबकि ढाई प्रतिशत यानी 11 संक्रमित (5 पुरुष और 6 महिला) ऐसे भी पाए गए जिन्हें संक्रमित होने के समय वैक्सीन एक डोज लगा हुआ था।
इसी महीने यहां उपचार के दौरान जिन दो बुजुर्ग संक्रमितों की मृत्यु दर्ज की गई है उन्हें भी वैक्सीन के दोनों डोज लगे हुए थे। आधिकारिक आंकड़े बताते है कि दिसंबर 2021 में हुए संक्रमित में सर्वाधिक वे नागरिक शामिल है जिनकी उम्र 21 से 40 वर्ष आयु वर्ग की है।


कुल 439 संक्रमितों में 21-40 आयु वर्ग की हिस्सेदारी 46 प्रतिशत से ज्यादा यानी 202 (119 पुरुष और 83 महिला) रही। आयु वर्ग के लिहाज से 41-60 वर्ष के 24.60 प्रतिशत यानी कुल 108 (63 पुरुष और 45 महिला) लोग संक्रमित हुए है। इसी तरह 61-80 आयु वर्ग के 57 नागरिक संक्रमित हुए है। 11-20 उम्र के 53 तथा शून्य से 10 वर्ष उम्र के 19 संक्रमित बालक-बालिकाएं संक्रमित हुए हैं। (इनपुट वार्ता)



और भी पढ़ें :