ICMR के सीरो सर्वे में चौंकाने वाला खुलासा, 60 प्रतिशत बच्चे हुए थे कोरोना से संक्रमित, पता ही नहीं चला

Last Updated: मंगलवार, 12 अक्टूबर 2021 (16:44 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। विशेषज्ञ अक्टूबर तक तीसरी लहर की आशंका जता रहे थे लेकिन ताजा हालात को देखते हुए फिलहाल इसके आने की संभावना कम ही है। हालांकि विशेषज्ञ त्योहारी सीजन में सावधानी बरतने की सलाह दे रहे हैं। इसी बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) का एक चौंकाने वाला खुलासा सामने आया है।
ALSO READ:

केरल में क्यों बढ़ रहा है कोरोना का संक्रमण, सरकार के सीरो सर्वे में सामने आएगा कारण

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने कोरोना संक्रमण को लेकर खुलासा किया है। के सीरो सर्वे में सामने आया है कि कोरोना के कारण देश के करीब 60 प्रतिशत बच्चे इस महामारी से संक्रमित हो चुके थे। हालांकि राहत की बात यह थी कि बच्चों में मृत्यु दर काफी कम थी। विशेषज्ञों का कहना है कि बच्चों की इम्युनिटी पॉवर मजबूत होने की वजह से वायरस ज्यादा उन्हें प्रभावित नहीं कर सका। अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो इस महामारी में भी बच्चों में मृत्यु दर काफी कम थी। बच्चों में मृत्यु दर 10 लाख में 2 ही है, जो बहुत कम है। अगले कुछ दिनों में बच्चों के लिए वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी जिससे इस दर को और भी कम किया जा सकेगा।
गुजरात में 3 बच्चे कोरोनावायरस से संक्रमित : गुजरात के जूनागढ़ जिले में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के 3 छात्र कोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए जिसके बाद 1 सप्ताह के लिए स्कूल बंद कर दिया गया। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। जूनागढ़ जिला पंचायत शिक्षा समिति की ओर से जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि कक्षा 6 और 7 के बच्चों में सोमवार को संक्रमण की पुष्टि हुई और उन्हें उनके घरों में पृथकवास में रखा गया है।
इसके बाद जिले के केशोद तालुका के मेसवान गांव के प्राथमिक स्कूल के लगभग 300 अन्य बच्चों की भी जांच शुरू की गई है। विज्ञप्ति में कहा गया कि 3 बच्चों के संक्रमित पाए जाने के बाद स्कूल का संचालन करने वाली समिति ने राज्य शिक्षा विभाग के स्थानीय अधिकारियों को सूचित किया कि 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक शैक्षणिक संस्थान बंद रहेगा। स्कूल में कक्षा 1 से 7 तक की पढ़ाई होती है। समिति ने संक्रमित बच्चों के संपर्क में आने वाले अन्य बच्चों के माता-पिता से भी जांच करवाने का आग्रह किया है। इस बीच ग्राम सरपंच रमेश लडाणी ने कहा कि संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए मेसवान में चल रहे नवरात्र के उत्सव को सोमवार से बंद कर दिया गया है। गुजरात में कोरोनावायरस संक्रमण के मामलों में कमी के मद्देनजर राज्य सरकार ने 2 सितंबर से कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल खोलने की अनुमति दी थी।



और भी पढ़ें :