जॉनसन एंड जॉनसन ने मांगी इजाजत, बन सकती है भारत में कोरोना की पहली सिंगल डोज वैक्सीन

पुनः संशोधित शुक्रवार, 6 अगस्त 2021 (15:36 IST)
हमें फॉलो करें
मुख्य बिंदु
  • ने मांगी आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी
  • भारत में सिंगल डोज वाली पहली बन सकती है
  • भारत में इससे पहले 3 वैक्सीनों को इजाजत मिल चुकी है
  • तीनों ही डबल डोज वाली वैक्सीन
नई दिल्ली। अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson&Johnson) ने भारत में कोरोनावायरस के खिलाफ सिंगल डोज वाली वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी मांगी है। यह भारत में सिंगल डोज वाली पहली कोरोना वैक्सीन बन सकती है।


अगर जॉनसन एंड जॉनसन की इस वैक्सीन को सरकार की मंजूरी मिल जाती है तो यह भारत में कोरोना की चौथी वैक्सीन होगी। भारत में फिलहाल कोवैक्सिन, कोविशील्ड और रूसी वैक्सीन स्पूतनिक-वी की मदद से बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। कोवैक्सीन, कोविशील्ड और स्पूतनिक-वी, ये तीनों डबल डोज वाली वैक्सीन है।
कंपनी ने इससे पहले सोमवार को कहा था कि वह भारत में अपनी एकल खुराक वाली कोविड-19 वैक्सीन लाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस संबंध में भारत सरकार के साथ चल रही चर्चा को लेकर आशान्वित है।

कंपनी के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन प्राइवेट लिमिटेड ने 5 अगस्त को भारत सरकार के पास अपनी एकल खुराक वाली कोविड-19 वैक्सीन के ईयूए के लिए आवेदन किया था।



और भी पढ़ें :