ओमिक्रॉन पर मध्यप्रदेश में अलर्ट, बॉर्डर वाले जिलों में चौकसी, 24 घंटे में कोरोना के 17 नए केस

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित सोमवार, 6 दिसंबर 2021 (12:46 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। मध्यप्रदेश में कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य की सीमा से सटे महाराष्ट्र, राजस्थान और गुजरात में नए वैरिएंट की दस्तक के बाद प्रदेश में सीमावर्ती जिलों को अलर्ट करने के साथ वहां सतर्कता बरती जा रही है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि नए वैरिएंट को लेकर सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है। पड़ोसी राज्यों में ओमिक्रॉन के केस मिलने के बाद इन राज्यों से लगी सीमा पर चौकसी बढ़ाई जा रही है। उन्होंने जनता से सावधानी बरतने की अपील की।

कोरोना का बढ़ता ग्राफ- ओमिक्रॉन के खतरे के बीच मध्यप्रदेश में कोरोना के केस लगातार बढ़ते जा रहे है।
प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 17 नए केस मिले है। जिनमें इंदौर ‌से 6 केस और राजधानी भोपाल के 8 केस है। वहीं दूसरी ओर प्रदेश में कोरोना के कुल एक्टिव केसों की संख्या 138 तक पहुंच गई है।

आज CM शिवराज की बड़ी बैठक- भोपाल और इंदौर में लगातार कोरोना के बढ़ते केसों ने सरकार की चिंता बढ़ा दी है। आज शाम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नए हालात को लेकर कोरोना समीक्षा बैठक में अधिकारियों के साथ मंथन करेंगे। इससे पहले कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि भोपाल और इंदौर में बढ़ते पॉजिटिव केस आने वाले संकट की आहट है।
पिछले दिनों भोपाल, इंदौर और जबलपुर में लगातार पॉजिटिव केस आ रहे है और अगर नवंबर माह में पिछले 15 दिनों के आंकड़ों को देखे तो पॉजिटिव केसों की संख्या में बढ़ोत्तरी हुई है। चिंता की बात यह है कि भोपाल और इंदौर कोरोना पॉजिटिव केस अलग-अलग स्थानों पर मिले है।


दूसरी ओर देश में एक ही दिन में ओमिक्रॉन के 18 नए केस मिले हैं। इनमें राजस्थान में सबसे ज्यादा 9 मरीज हैं। यहां एक परिवार के 4 सदस्य दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे। उनके संपर्क में आए 5 और लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। इसके अलावा महाराष्ट्र में 8 लोगों में नया वैरिएंट मिला है। दिल्ली में भी एक मरीज इससे संक्रमित मिला। अब देश के 5 राज्यों में इस वैरिएंट के 22 केस हो गए हैं।



और भी पढ़ें :